छत्तीसगढ़ प्रदेश

बृजमोहन के बयान से मचा बवाल,कन्हैया ने कहा रोहंगिया मुसलमान बस रहे थे तो रोका क्यो नहीं अगर जानकारी है तो प्रशासन को बताए
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

बृजमोहन के बयान से मचा बवाल,कन्हैया ने कहा रोहंगिया मुसलमान बस रहे थे तो रोका क्यो नहीं अगर जानकारी है तो प्रशासन को बताए

फ रोहिंग्या मुसलमानों के संबंध में बृजमोहन पूरी जानकारी से प्रशासन को अवगत कराएं -- कन्हैया आधार कार्ड ,राशन कार्ड ,बनने की जानकारी के बावजूद बृजमोहन ने शासन को अवगत क्यों नहीं कराया ? जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ भी हो कार्रवाई रायपुर । प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री कन्हैया अग्रवाल ने वरिष्ठ विधायक श्री बृजमोहन अग्रवाल द्वारा रायपुर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में ढाई हजार रोहिंग्या मुसलमानों को बसाए जाने के कथन को गंभीर बताते हुए कहा कि यदि रोहिंग्या को बसाये जाने की जानकारी बृजमोहन जी को थी तो उन्होंने रोका क्यों नहीं ? सब कुछ जानते हुए रोहिंग्या को बसने देने के लिए विधायक जी ही जिम्मेदार हैं । श्री अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश के गृह मंत्री का दायित्व संभाल चुके बृजमोहन अग्रवाल को मामले की गंभीरता का सर्वाधिक ज्ञान है, उसके बावजूद उनकी जानकारी में सब कुछ होता रहा और वे आंख बंद कर बैठे र...
बीज एवं कृषि  विभाग ने सोयाबीन मिल्क सप्लाई में किया भारी भ्रष्टाचार नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

बीज एवं कृषि विभाग ने सोयाबीन मिल्क सप्लाई में किया भारी भ्रष्टाचार नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक

सोयाबीन मिल्क सप्लाई में भारी भ्रष्टाचार: कौशिक रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने विधानसभा परिसर में पत्रकारों से चर्चा पर कहा कि बीज एवं कृषि विकास निगम द्वारा सोयबीन मिल्क बड़ी व अन्य उत्पादों के लिए जो अनुबंध किया गया है वह केवल मात्र भ्रष्टाचार के लिए किया गया है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में बिलासपुर में सोयाबड़ी की आपूर्ति की गई थी वहीं 2019-20 को दुर्ग में सोया मिल्क गुणवत्ताहीन भेजा गया था जिसे बाद में पुनः बदलकर आपूर्ति की गई। इससे स्पष्ट होता है कि प्रदेश सरकार की मंशा साफ नही है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से आपूर्ति और पुनः आपूर्ति का जो खेल चल रहा है इसके पीछे सरकार की मंशा क्या है इससे कई सवाल जन्म देता है। *भुगतान लंबित होने से किसानों में रोष: कौशिक* रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने विधानसभा परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते कहा कि बिल्हा क्षेत्र के मनियारी बैराज योज...
चंदूलाल चंद्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय मामले में नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने अनेक बिंदुओं पर आपत्ति जाहिर करते हुए सरकार के निर्णय को कटघरे में खड़ा किया
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

चंदूलाल चंद्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय मामले में नेता प्रतिपक्ष धरम लाल कौशिक ने अनेक बिंदुओं पर आपत्ति जाहिर करते हुए सरकार के निर्णय को कटघरे में खड़ा किया

 - चंदूलाल चंद्राकर स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय 1. 140 करोड़ रू. प्रतिवर्ष का वित्तीय भार विधेयक के खण्ड - 6, 8 एवं 11 में आयेगा। सरकार की स्थिति वैसी ही अत्यंत नाजुक है उसके उपर 76 हजार करोड़ से अधिक का कर्जा है जिसके ब्याज को पटाने में 5 हजार करोड़ रू. प्रतिवर्ष बजट का प्रावधान जाता है और हर छोटी बड़ी परियोजना के लिए राशि नही होने के कारण कर्जा लेना पड़ता है क्योकि सरकार राजस्व वृद्धि का कोई प्रयास नही कर रही है। शराब बंदी के पश्चात लगभग 7 हजार करोड़ का राजस्व और कम हो जायेगा जिसकी पूर्ति किया जाना भी कठिन है। ऐसी स्थिति में प्रतिवर्ष 140 करोड़ रू. का भार तर्क संगत नही है। 2. आपने खण्ड - 8 के उप खण्ड 2 में उल्लेख किया है कि वास्तविक राशि का मूल्यांकन किये जाने के बाद जो राशि संस्था को दी जावेगी वह वास्तविक मूल्यांकित राशि के दो गुणा होगी, ये घोर आपत्तिजनक है तथा सरकार का पैसा किसी व्यक...
कोरबा चार साल का फसल मुआवजा नही मिलने पर  माकपा-किसान सभा ने किया सीएमडी का पुतला दहन
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

कोरबा चार साल का फसल मुआवजा नही मिलने पर माकपा-किसान सभा ने किया सीएमडी का पुतला दहन

https://youtu.be/lzEHJrxkFRA   कोरबा। बलगी कोयला खदान की डि-पिल्लरिंग और भू-धसान के कारण खेती-किसानी की बर्बादी का पिछले चार सालों का मुआवजा न मिलने के विरोध में आज मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और छत्तीसगढ़ किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार मूसलाधार बारिश के बीच एसईसीएल के सुराकछार गेट के सामने सीएमडी का पुतला दहन किया। उल्लेखनीय है कि कोयला खनन का दंश यहां के रहवासियों को विस्थापन के रूप में ही नहीं झेलना पड़ता है, बल्कि खेती-किसानी और गांव-घरों की बर्बादी के रूप में भी वे इसकी मार झेल रहे हैं। सुराकछार बस्ती की कृषि भूमि में डि-पिल्लरिंग के कारण दरारें इतनी गहरी हो चुकी है कि अब इस जमीन में किसान कोई भी कृषि कार्य नहीं कर पा रहे हैं। इसके एवज में एसईसीएल ने यहां के किसानों को नौ सालों तक मुआवजा दिया था, लेकिन पिछले चार सालों से उसने इस मुआवजे का भु...
अब भूमिहीन खेती मजदूरों को छह हजार रूपए मिलेंगे सालाना प्रदेश सरकार के फैसले को संसदीय सचिव चंद्रकार ने बताया सराहनीय
खास खबर, देश-विदेश, महासमुंद

अब भूमिहीन खेती मजदूरों को छह हजार रूपए मिलेंगे सालाना प्रदेश सरकार के फैसले को संसदीय सचिव चंद्रकार ने बताया सराहनीय

महासमुंद। संसदीय सचिव व विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने प्रदेश के भूमिहीन खेती मजदूरों को छह हजार रूपए सालाना देने के प्रदेश सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि यह सराहनीय फैसला है। संसदीय सचिव व विधायक श्री चंद्राकर ने कहा कि छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार ग्रामीण इलाकों में निवास कर रहे भूमिहीन किसानों के लिए बड़ी व महती योजना शुरू कर रही है। इसके तहत भूमिहीन खेती मजदूरों के खाते में सालाना राशि डाली जाएगी। इस योजना से प्रदेश के करीब 12 लाख भूमिहीन किसानों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि अनुदान मांग पर चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सदन में भूमिहीन खेतिहर मजदूर न्याय योजना शुरू करने की घोषणा की है। इसके तहत प्रति परिवार छह हजार रूपए सालाना दिए जाएंगे। इसके लिए प्रदेश सरकार ने दो सौ करोड़ का प्रावधान रखा है। प्रदेश सरकार के इस फैसले को स्वागतयोग्य बताते हुए कहा कि इससे भूमिहीन ...
बारिश में भीगते हुए दिवंगत सदस्यों को याद करते हुए परिजनों ने लगाया पौधा,सिर झुका नमन कर दी “हरितांजली”
रायपुर

बारिश में भीगते हुए दिवंगत सदस्यों को याद करते हुए परिजनों ने लगाया पौधा,सिर झुका नमन कर दी “हरितांजली”

विधायक विकास उपाध्याय के नेतृत्व में रायपुर पश्चिम के कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता कोरोनाकाल में दिवंगत हुए दिव्य आत्माओं को पौधा लगाकर दे रहे श्रद्धांजलि पत्नी द्वारा अपने पति को,छोटे बच्चों द्वारा अपने पिता को,भाई द्वारा अपनी बहन की स्मृति में पौधा लगाकर किया जा रहा नमन,विधायक महोदय शोक संतृप्त परिजनों के साथ 2 मिनट मौन रखकर शांति की कर रहे हैं प्रार्थना रायपुर (IMNB). "हरितांजली" कार्यक्रम के तहत रायपुर पश्चिम विधानसभा के डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम वार्ड में आज कोरोनाकाल में दिवंगत हुए दिव्य आत्माओं की स्मृति में पौधारोपण किया गया। संसदीय सचिव एवं क्षेत्रीय विधायक के नेतृत्व में रायपुर पश्चिम के कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा अब तक सैंकड़ो पौधे लगाकर दिवंगतों को श्रद्धांजलि दी जा चुकी हैं। इसी कड़ी में आज आगे बढ़ते हुए बारिश में भीगते हुए पत्नी द्वारा अपने पति को,छोटे बच्चों द्वार...
विधायक एवं संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने आज अपने विधानसभा में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का किये उद्घाटन
रायपुर

विधायक एवं संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने आज अपने विधानसभा में शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का किये उद्घाटन

विधायक विकास उपाध्याय ने स्कूल का उद्घाटन कर तत्काल स्कूल में जरूरतमंद बच्चे का कराया प्रवेश बच्चे के प्रवेश से माँ-दादी के चेहरे पर दिखी खुशी अब क्षेत्र के विद्यार्थियों को यही मिलेगी उच्च शिक्षा-विकास उपाध्याय रायपुर (IMNB). विधायक एवं संसदीय सचिव विकास उपाध्याय अपने क्षेत्र के लिए विकास कार्य के लिए हमेशा तत्पर रहते है।ये लगातार जनता के हित मे कार्य करते रहते है विकास उपाध्याय ने अपने इस कार्यकाल में बहुत से विकास कार्य किये और लगातार कर भी रहे है।आज इसी विकास कार्य मे उच्च शिक्षा के क्षेत्र में वार्ड नं.18 बाल गंगाधर तिलक नगर वार्ड में शासकीय उ.मा.विद्यालय का किया गया उद्घाटन।विकास उपाध्याय ने कहा कि शिक्षा सबका अधिकार है और कोई शिक्षा से विमुख न हो इस क्षेत्र में उच्च सरकारी स्कूल नही थे जिससे विद्यार्थियों को नवमी से बारहवीं के लिए अपने क्षेत्र से दूर जाना पड़ता था या दूर के कारण कई...
नक्सली शहीद सप्ताह के प्रथम दिन थाना किरन्दुल में 1 लाख इनामी सहित कुल 11 माओवादी ने किया आत्मसमर्पण
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, दंतेवाड़ा

नक्सली शहीद सप्ताह के प्रथम दिन थाना किरन्दुल में 1 लाख इनामी सहित कुल 11 माओवादी ने किया आत्मसमर्पण

संजीव दास- ब्यूरो चीफ दंतेवाड़ा जिले में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत बुधवार को माओवादियों के मलांगिर एरिया कमेटी अंतर्गत नक्सल संगठन में कार्यरत सक्रिय 11 माओवादियों ने माओवादी संगठन के खोखली विचारधारा से तंग आकर लोन वर्राटू ( घर वापस आइए) अभियान तथा छत्तीसगढ़ शासन के पुनर्वास योजना से प्रभावित होकर समाज के मुख्य धारा से जुड़कर विकास में सहयोग करने की इच्छा व्यक्त कर एस पी डॉ. अभिषेक पल्लव पुलिस अधीक्षक दन्तेवाड़ा के समक्ष थाना किरन्दुल में आत्मसमर्पण किया। विगत 11 महिने से जिला दन्तेवाड़ा के विभिन्न ग्रामों के नक्सली संगठन में सक्रिय सदस्यों की घर वापसी के लिए थाना व कैम्पों एवं ग्राम पंचायतो में संबंधित क्षेत्र के सक्रिय माओवादियों के नाम चस्पा कर माओवादी संगठन के खोखली विचारधारा को छोड़कर समाज की मुख्य धारा में शामिल होने हेतु लोन वर्राटू अभियान चलाया जा रहा है।नक्सली...
दैनिक भास्कर : मसला सेठ का नहीं, प्रेस का है *
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

दैनिक भास्कर : मसला सेठ का नहीं, प्रेस का है *

  *(आलेख : बादल सरोज)* आखिरकार पिछले पखवाड़े देश के प्रमुख हिंदी अखबार दैनिक भास्कर पर मोदी-शाह के इनकम टैक्स और सीबीडीटी के छापे पड़ ही गए। पिछले कुछ महीनों से इस तरह की आशंका जताई जा रही थी। आम तौर से सत्तासमर्थक और खासतौर से भाजपा हमदर्द माने जाने वाले इस अख़बार ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर के अपने कवरेज से अपने पाठकों को ही नहीं, मीडिया की देखरेख करने वाले सभी को चौंका दिया था। इसकी खबरें हिंदी ही नहीं, अंगरेजी के भी बाकी अखबारों से अलग थीं। महामारी से हुई मौतों को छुपाने की सरकारी कोशिशों का भांडा फोड़ते हुए इसने तथ्यों और आंकड़ों, छवियों और गवाहियों के साथ असली संख्या उजागर की थीं। इस तरह के कवरेज की शुरुआत सबसे पहले इस संस्थान के गुजराती संस्करण "दिव्य भास्कर" ने गुजरात की मौतों की तुलनात्मक खबरों से की। बाद में इसके बाकी के संस्करणों ने भी इसी तरह की खबरें खोज छापना ...
अधिवक्ता के द्वारा आयोग में दुर्व्यवहार और महिला की संपत्ति हड़पने के मामले में वकालत का लाइसेंस निलंबित करने की अनुशंसा पहली बार हुई ऐसी कारवाई
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

अधिवक्ता के द्वारा आयोग में दुर्व्यवहार और महिला की संपत्ति हड़पने के मामले में वकालत का लाइसेंस निलंबित करने की अनुशंसा पहली बार हुई ऐसी कारवाई

  https://youtu.be/dQATbUPUhr8   *शराब पीकर आयोग में उपस्थित होने वाले अनावेदकों को पुलिस को किया सुपुर्द* *बुजुर्ग माता पिता को घर से निकालकर घरेलू हिंसा करने वालो के खिलाफ एफआईआर की अनुशंसा आयोग द्वारा की गई* *आयोग की सुनवाई में शामिल हुए नवनियुक्त सदस्यगण* रायपुर, 28जुलाई 2021/छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग ने शास्त्री चौक रायपुर स्थित आयोग कार्यालय में महिलाओ से संबंधित प्रकरणों पर आज जन सुनवाई आयोग के अध्यक्ष डॉ किरणमयी नायक ने नव नियुक्त सदस्यगण श्रीमती नीता विश्कर्मा, श्रीमती अर्चना उपाध्याय, सुश्री शशिकांता राठौर के साथ की। आज की सुनवाई में एक प्रकरण में अनावेदक अधिवक्ता के द्वारा बिना पढ़े लिखे आयोग के समक्ष आदेश पत्रक हस्ताक्षर करना और आवेदिका के ऊपर छेड़छाड़ बुरी नियत रखता है, अनावेदक व्यवसायिक कदाचरण का दोषी प्रतीत होता है। इसकी सुनवाई के बाद अध्यक्ष ने अनाव...