कोरबा

एसईसीएल के गेवरा महाप्रबंधक ने किया गंगानगर का दौरा, बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के दिये निर्देश
कोरबा, छत्तीसगढ़ प्रदेश

एसईसीएल के गेवरा महाप्रबंधक ने किया गंगानगर का दौरा, बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के दिये निर्देश

कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और छत्तीसगढ़ किसान सभा द्वारा घाटमुड़ा से विस्थापित और गंगागनगर में पुनर्वासित परिवारों की लंबित समस्याओं को लेकर गेवरा एसईसीएल कार्यालय के घेराव के बाद अपने वादे के अनुरूप महाप्रबंधक एस के मोहंती कल गंगानगर पहुंचे, गांव का भ्रमण किया, जन समस्याओं से रू-ब-रू हुए और तत्काल समाधान योग्य समस्याओं को हल करने के निर्देश दिए हैं। उनके साथ कोरबा के महापौर राजकिशोर प्रसाद भी थे। उल्लेखनीय है कि एसईसीएल की गेवरा परियोजना के लिए वर्ष 1980-81 में घाटमुड़ा के 75 परिवारों को विस्थापित किया गया था तथा 25 एकड़ के प्लॉट में गंगानगर ग्राम में उन्हें बसाया गया था। लेकिन पुनर्वास के 40 सालों बाद भी यह गांव बुनियादी मानवीय सुविधाओं स्कूल, अस्पताल, बिजली, पानी, गौठान, मनोरंजन गृह, श्मशान घाट, पार्क आदि से वंचित हैं, जिसे उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी एसईसीएल प्रबंधन की थी। ...
कोरबा माकपा ने की घाटमुडा विस्थापितों की मांगों पर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

कोरबा माकपा ने की घाटमुडा विस्थापितों की मांगों पर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा

कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने गंगानगर ग्राम में बसाए गए घाटमुड़ा के विस्थापित परिवारों की मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की है। आज इस आशय का ज्ञापन माकपा जिला सचिव प्रशांत झा के साथ किसान सभा नेता जवाहर सिंह कंवर, रामायण कंवर, दीपक साहू, संजय यादव आदि ने एसईसीएल के गेवरा क्षेत्र के महाप्रबंधक को 20 नवम्बर को गेवरा मुख्यालय के घेराव की चेतावनी के साथ सौंपा है। ज्ञापन में मांग की गई है कि अधिग्रहण के बाद लंबित रोजगार प्रकरणों का तत्काल निराकरण किया जाये, विस्थापित परिवारों को गंगानगर की कब्जा भूमि पर अधिकार पत्र और भूविस्थापित होने का प्रमाण पत्र दिए जाएं, अवैध कब्जा बताकर की गई तोड़-फोड़ का मुआवजा देने, पुनर्वास ग्राम गंगानगर में स्कूल-अस्पताल, बिजली-पानी, गौठान, मनोरंजन गृह, श्मशान घाट जैसी बुनियादी मानवीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए और उन्हें विभागीय अस्पतालों में मुफ्त इल...
रैनपुर : किसान सभा द्वारा 7 घण्टे तक पंचायत घेराव के बाद सरपंच ने लिया वनाधिकार आवेदन, दी पावती
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

रैनपुर : किसान सभा द्वारा 7 घण्टे तक पंचायत घेराव के बाद सरपंच ने लिया वनाधिकार आवेदन, दी पावती

कोरबा। कोरबा जिले के पाली विकासखंड के रैनपुर ग्राम पंचायत का सुबह से शाम तक 7 घंटे घेराव करने के बाद सरपंच भजनसिंह टेकाम को आदिवासियों के वनाधिकार के आवेदनों को लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। इन आवेदनों पर उसे पावती भी देनी पड़ी है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार द्वारा वनाधिकार के दावों को तेजी से निपटाने और आदिवासियों को वन भूमि पर अधिकार दिए जाने का दावा तो किया जा रहा है, लेकिन पूरे प्रदेश से यही शिकायतें आ रही हैं कि आदिवासियों के आवेदनों को लिया ही नहीं जा रहा है। उल्टे उन्हें बेदखली का सामना करना पड़ रहा है। यही नजारा आज रैनपुर ग्राम पंचायत में देखने को मिला, जब सरपंच ने आवेदनों को लेने और पावती देने से इंकार कर दिया। इससे गुस्साए सैकड़ों आदिवासी ग्रामीणों ने छत्तीसगढ़ किसान सभा के बैनर पर पंचायत का ही घेराव कर दिया और पंचायत भवन में सरपंच को कैद कर लिया। अपनी मांगों पर अड़े आदिवासियों...
माकपा ने कहा : भाजपा को कोई समर्थन नहीं, कांग्रेस की नीतियों के खिलाफ सड़क पर लड़ाई
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

माकपा ने कहा : भाजपा को कोई समर्थन नहीं, कांग्रेस की नीतियों के खिलाफ सड़क पर लड़ाई

कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने कहा है कि भाजपा इस मुगालते में न रहे कि जन मुद्दों और समस्याओं पर निगम की कांग्रेस सरकार के खिलाफ संघर्ष करती हुई माकपा का भाजपा को कभी समर्थन मिलेगा। यह भाजपा की दिवालिया राजनीति का ही प्रतीक है कि वह यह हास्यास्पद दुष्प्रचार कर रही है कि उसके ज्ञापन को माकपा का मौखिक समर्थन है। इस ज्ञापन से उसके सत्ता में न आने के दर्द का तो पता चलता ही है, निजीकरण और आउटसोर्सिंग जैसे नीतिगत मुद्दों पर उसके दिखावे के विरोध का भी पता चलता है। भाजपा द्वारा कल जिलाधीश को दिए गए ज्ञापन के संबंध में माकपा जिला सचिव प्रशांत झा ने यह कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि इस ज्ञापन का माकपा से कोई संबंध नहीं है। माकपा नेता ने कहा कि इस निगम पर भाजपा ने 15 वर्षों तक राज किया है। बांकी मोंगरा क्षेत्र के पिछड़ेपन के लिए यह पार्टी भी प्रत्यक्ष रूप से जिम्मेदार है...
माकपा ने कहा : जन विरोधी और विकास विरोधी बजट, आउट सोर्सिंग और निजीकरण के प्रस्तावों को समर्थन नहीं, अब लड़ेंगे सड़क पर लड़ाई, जलाई गई बजट की प्रतियां
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

माकपा ने कहा : जन विरोधी और विकास विरोधी बजट, आउट सोर्सिंग और निजीकरण के प्रस्तावों को समर्थन नहीं, अब लड़ेंगे सड़क पर लड़ाई, जलाई गई बजट की प्रतियां

कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने कोरबा नगर निगम में कल पारित बजट को जन विरोधी और विकास विरोधी करार देते हुए आज बांकी मोंगरा में बजट की प्रतियां जलाई गई। बांकी मोंगरा क्षेत्र की उपेक्षा से नाराज सैकड़ों नागरिकों और व्यापारियों ने इस आंदोलन में हिस्सा लिया। माकपा ने कहा है कि विकास के नाम पर आउट सोर्सिंग और निजीकरण के किसी भी प्रस्ताव को माकपा का समर्थन न मिलने की घोषणा पार्टी ने पहले ही महापौर को दिए अपने ज्ञापन में कर दी थी और अब इसके खिलाफ पार्टी सड़क पर लड़ाई लड़ेगी। माकपा ने कड़े शब्दों में कहा है कि विपक्षी पार्षदों को सदन में घुसने से रोककर और सदन को गुमराह कर, बजट प्रस्तावों पर बिना किसी चर्चा के महापौर बजट पारित कराने की चालबाजी तो कर सकते हैं, लेकिन जनता का दिल नहीं जीत सकते। माकपा के जिला सचिव प्रशांत झा ने अपनी कड़ी प्रतिक्रिया में कहा है कि 850 करोड़ रुपयों के बजट में आम ...
कोरबा जनहित के मुद्दों पर माकपा के तेवर कड़े, महापौर को ज्ञापन सौंपकर कहा : बजट में आउट सोर्सिंग और निजीकरण के प्रस्तावों को समर्थन नहीं
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

कोरबा जनहित के मुद्दों पर माकपा के तेवर कड़े, महापौर को ज्ञापन सौंपकर कहा : बजट में आउट सोर्सिंग और निजीकरण के प्रस्तावों को समर्थन नहीं

कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने जनहित के मुद्दों पर अपने तेवर कड़े कर लिए हैं। जुलाई में कांग्रेस और माकपा नेताओं के बीच बनी सहमति की याद दिलाते हुए निगम के आगामी बजट में आम जनता को राहत देने वाले कदमों को उठाने की मांग करते हुए माकपा ने स्पष्ट कहा है कि निगम क्षेत्र में आउट सोर्सिंग और निजीकरण के प्रस्तावों का पार्टी समर्थन नहीं करेगी। पार्टी ने बांकी मोंगरा जोन के पिछड़ेपन को दूर करने के लिए भी बजट आबंटित करने की मांग की है। इस संबंध में एक ज्ञापन कल माकपा जिला सचिव प्रशांत झा के नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने कोरबा महापौर राजकिशोर प्रसाद को सौंपा है। ज्ञापन में कोरोना संकट से प्रभावित गरीब जनता और लघु व्यापारियों का संपत्ति कर सहित अन्य बकाया कर माफ करने के साथ ही कर्मचारियों के नियमित पदों को भरने और सफाई कर्मियों को दैनिक वेतनभोगियों के रूप में नियमित करने की भी म...
कोरबा गंगा नगर ,नोटिस से आक्रोशित रहवासियों ने निकली पदयात्रा,रोका तो किया चक्का जाम,नोटिस  जला जताया विरोध
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

कोरबा गंगा नगर ,नोटिस से आक्रोशित रहवासियों ने निकली पदयात्रा,रोका तो किया चक्का जाम,नोटिस जला जताया विरोध

कोरबा। अवैध कब्जा हटाने की नोटिस से आहत कोरबा निगम क्षेत्र के गंगानगर ग्राम के सैकड़ों ग्रामीणों ने भारी बारिश के बावजूद आज मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, छत्तीसगढ़ किसान सभा और जनवादी महिला समिति के नेतृत्व में पदयात्रा निकाली। कोरोना महामारी के चलते हुए लॉक डाउन के कारण पुलिस ने इस पदयात्रा को बीच रास्ते में रोका, तो इसके विरोध में ग्रामीण सड़क पर चक्का जाम करके बैठ गए। एसईसीएल के अधिकारियों को पदयात्रियों के पास पहुंचकर ज्ञापन लेना पड़ा। इन अधिकारियों की उपस्थिति में ही ग्रामीणों ने सामूहिक रूप से नोटिस दहन किया और बेदखली की किसी भी कार्यवाही के खिलाफ बड़े आंदोलन की चेतावनी दी। इन ग्रामीणों के संघर्ष को अपना समर्थन देते हुए आसपास के गांवों के प्रतिनिधियों ने भी पदयात्रा में हिस्सा लिया। उल्लेखनीय है कि गंगानगर एक पुनर्वास ग्राम है, जिसे वर्ष 1980 में एसईसीएल द्वारा ही बसाया गया था। तब घाटमुड़...
ईमानदार वन मंत्री,घोटाले बाज अफसर,कोरबा एतमानगर वन परिक्षेत्र में भ्रष्टाचार की सारी हदें पार लाखो करोड़ो की योजनाओं सिर्फ कागजों में शो
कोरबा, छत्तीसगढ़ प्रदेश

ईमानदार वन मंत्री,घोटाले बाज अफसर,कोरबा एतमानगर वन परिक्षेत्र में भ्रष्टाचार की सारी हदें पार लाखो करोड़ो की योजनाओं सिर्फ कागजों में शो

कोरबा ब्यूरो विकास सिंह                                         दबंग वन मंत्री मोहम्मद अकबर के विभाग में अधिकारियों की मिलीभगत से भ्रष्टाचार का बोलबाला है । वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने वन महकमे में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए जिम्मेदारों पर समय-समय पर गाज गिराई है लेकिन उसके बावजूद भ्रष्टाचार में डूबा वन विभाग अपने भ्रष्ट आचरण से बाज नहीं आ रहा है हालांकि की कटघोरा वनमण्डल के अन्तर्गत आने वाले एतमानगर वनपरिक्षेत्र कई सालों से चर्चाओं का केंद्र बिन्दु बना हुआ है एतमानगर वनपरिक्षेत्र में वर्ष 2019 20 में कई लाख के कार्यो की स्वीकृति शासन की और से मिली परन्तु कार्यो को भारी गुणवत्ताहीन तरीके से करवा कर पैसे को आपसी बंदरबांट कर लिया गया एतमानगर में कैम्पा मद से वर्ष 2019 2020 में गोंड़मा नाला में 1 ब्रुशवुड चेकडेम 2 earthen gulley plug 3 बोल्डर बॉण्ड/ बोल्डर चेक डेम 4 गेबीएन संरचना ...