कोरबा

कोरबा रेल रोको प्रदर्शन 3 करोड़ के नुकसान का अंदेशा,पटरी पर प्रदर्शन आंदोलनकारी किसानों से पुलिस की झड़प
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, देश-विदेश

कोरबा रेल रोको प्रदर्शन 3 करोड़ के नुकसान का अंदेशा,पटरी पर प्रदर्शन आंदोलनकारी किसानों से पुलिस की झड़प

कोरबा। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर आज कोरबा में अखिल भारतीय किसान सभा से संबद्ध छत्तीसगढ़ किसान सभा के नेतृत्व में ग्रामीण महिलाओं की बड़ी भागीदारी के साथ सैकड़ों किसानों ने गेवरा-दीपका रेल खंड पर पटरियों पर धरना दिया। दो घंटे से ज्यादा के इस धरने के कारण लगभग 5000 टन कोयले की ढुलाई बाधित होने और एसईसीएल को 3 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान होने का अंदेशा है। पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों को बलपूर्वक पटरियों से हटाया और उनकी पुलिस के साथ झड़प भी हुई। उल्लेखनीय है कि गेवरा रोड स्टेशन से रेलवे सबसे ज्यादा राजस्व वसूल करता है। यहां एसईसीएल की गेवरा कोयला खदान है, जो एशिया की सबसे बड़ी खदान है और हर साल 42 मिलियन टन कोयले की ढुलाई रेल से ही होती है। किसान सभा ने इसी रेल खंड को आज के आंदोलन में अपना निशाना बनाया, जिसके कारण किसी यात्री ट्रेन के रुकने की तुलना में रेलवे को ज्यादा नुकसान ह...
एसईसीएल से  फसल मुआवजा प्रकरण में  वार्ता विफ़ल, कोरबा मुख्यालय का  11 अक्टूबर को माकपा करेगी घेराव, प्रभावितों ने बनाई रूपरेखा
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

एसईसीएल से फसल मुआवजा प्रकरण में वार्ता विफ़ल, कोरबा मुख्यालय का 11 अक्टूबर को माकपा करेगी घेराव, प्रभावितों ने बनाई रूपरेखा

  कोरबा। एसईसीएल के बल्गी सुराकछार खदान के भूधसान से प्रभावित किसानों के फसल मुआवजा प्रकरण में एसईसीएल प्रबंधन से वार्ता असफल होने के बाद माकपा ने कल 11 अक्टूबर को कोरबा मुख्यालय घेराव के लिए कमर कस ली है। वार्ता के लिए कल 9 अक्टूबर को एसईसीएल ने माकपा नेताओं को बुलाया था। माकपा ने आरोप लगाया है कि इस मामले में एसईसीएल अपने दायित्वों से मुकरने की कोशिश कर रहा है और जुलाई में लिखित आश्वासन के बाद भी उसने किसानों को मुआवजा देने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। उल्लेखनीय है कि बल्गी सुराकछार खदान के भूधसान के कारण सुराकछार बस्ती के किसानों की भूमि वर्ष 2009 से कृषि कार्य करने योग्य नहीं रह गई है। इससे किसानों को हुए भारी नुकसान को देखते हुए वर्ष 2016-17 तक का फसल क्षतिपूर्ति व मुआवजा एसईसीएल प्रबंधन को देना पड़ा है।लेकिन इसके बाद वर्ष 2017-18 से वर्ष 2020-21 तक का चार वर्षों का मुआ...
कल से बांकी क्षेत्र में काऊ कैचर अभियान : निगम के अनुरोध पर आंदोलन स्थगित
कोरबा, खास खबर

कल से बांकी क्षेत्र में काऊ कैचर अभियान : निगम के अनुरोध पर आंदोलन स्थगित

https://youtu.be/0DuJpEzb1LQ   लावारिस मवेशियों की समस्या के खिलाफ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और छत्तीसगढ़ किसान सभा का आंदोलन कोरबा नगर निगम के अधिकारियों से सकारात्मक वार्ता के बाद स्थगित किया गया है। निगम द्वारा कल से बांकीमोंगरा क्षेत्र में काऊ कैचर अभियान चलाया जाएगा। यह जानकारी माकपा पार्षद राजकुमारी कंवर ने दी। उन्होंने बताया कि निगम उपायुक्त बी.पी.त्रिवेदी, जोन कमिश्नर तपन योगी तिवारी तथा करतार सिंह आमंत्रण पर आज 7 गांवों के किसान प्रतिनिधियों के साथ वार्ता हुई। आंदोलनकारी किसान नेताओं ने अपनी नाराजगी प्रकट की कि इतनी ज्वलंत समस्या के प्रति निगम के अधिकारी गंभीर नहीं है और किसानों को फसल का नुकसान होते अपनी आंखों से देखना पड़ रहा है। किसानों की साल भर की मेहनत बर्बाद हो रही है। नागरिकों को भी जान-माल का नुकसान हो रहा है। इसके बावजूद निगम के अधिकारी बार-बार आवेदन-निवे...
लावारिस मवेशियों की समस्या : 22 को बांकी मोंगरा जोन कार्यालय घेराव के लिए माकपा और किसान सभा अडिग
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

लावारिस मवेशियों की समस्या : 22 को बांकी मोंगरा जोन कार्यालय घेराव के लिए माकपा और किसान सभा अडिग

  लावारिस मवेशियों की समस्या से आम जनता को राहत दिलाने में कोरबा नगर निगम की असफलता के खिलाफ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और छत्तीसगढ़ किसान सभा अडिग है। कोरबा निगम क्षेत्र से जुड़े आठ गांव के किसानों की हुई बैठक के बाद मोंगरा वार्ड की माकपा पार्षद राजकुमारी कंवर ने कहा है कि बांकी मोंगरा जोन कमिश्नर को ज्ञापन सौंपने के और उन्हें मूल समस्या से अवगत कराने के बाद भी निगम प्रशासन किसानों की फसल को लावारिस पशुओं से बचाने को लेकर गंभीर नहीं है, जिससे किसानों में काफी आक्रोश है। बैठक में मोंगरा बस्ती, बांकी बस्ती, मड़वाढोंढा, गंगानगर, घुड़देवा बस्ती, अवधनगर, मैगजीन भांटा, अवधनगर और दादरपारा के किसान शामिल थे। बैठक में जवाहर सिंह कंवर, राजकुमारी कंवर, नंदलाल कंवर, सुराज, सत्रुहन, सूरजमल, रामगोपाल, जीवन दास, देव कुंवर, संजय यादव, दिलहरण बिंझवार, बंशी यादव, दिलीप दास आदि किसान सभा नेता प्र...
गेवरा कोयला खदान के क्षमता विस्तार के प्रस्ताव पर ईएसी ने लगाई रोक : संघर्षरत किसान सभा ने किया स्वागत
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

गेवरा कोयला खदान के क्षमता विस्तार के प्रस्ताव पर ईएसी ने लगाई रोक : संघर्षरत किसान सभा ने किया स्वागत

  छत्तीसगढ़ किसान सभा ने गेवरा ओपन कास्ट कोयला खदान परियोजना की क्षमता का विस्तार करने के एसईसीएल के प्रस्ताव पर पर्यावरण आंकलन समिति (ईएसी) द्वारा रोक लगाए जाने का स्वागत किया है तथा इसे आम जनता के संघर्षों की जीत बताया है। आज यहां जारी एक प्रेस बयान में छत्तीसगढ़ किसान सभा के अध्यक्ष संजय पराते तथा महासचिव ऋषि गुप्ता ने बताया कि अपने निर्णय के पैरा 18.3.4 में पर्यावरण आंकलन समिति ने यह नोट किया है कि इस प्रस्ताव के पूर्व भी एसईसीएल ने अपनी क्षमता का विस्तार 45 मिलियन टन वार्षिक से 49 मिलियन टन वार्षिक किया है, लेकिन इसके बावजूद उसने तत्कालीन और वर्तमान पर्यावरण चिंताओं और शिकायतों का निवारण नहीं किया है। इसलिए एसईसीएल को पहले उन पर्यावरणिक चिंताओं को दूर करने में अपना ध्यान केंद्रित करना चाहिए। पर्यावरण समिति ने एसईसीएल को यह भी निर्देशित किया है कि खनन विस्तार की स्वीकृति प...
एसपी कोरबा भोजराम पटेल पहुंचे ग्रामीणों के बीच,  ग्रामीणों से किया सीधा संवाद  शहरी पुलिसिंग के साथ-साथ ग्रामीण पुलिसिंग पर जोर  मां मड़वारानी मंदिर में पूजा अर्चना की
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

एसपी कोरबा भोजराम पटेल पहुंचे ग्रामीणों के बीच,  ग्रामीणों से किया सीधा संवाद  शहरी पुलिसिंग के साथ-साथ ग्रामीण पुलिसिंग पर जोर  मां मड़वारानी मंदिर में पूजा अर्चना की

  पुलिस अधीक्षक कोरबा श्री भोजराम पटेल आज थाना उरगा क्षेत्र के गामों का भ्रमण एवम कानून व्यवस्था की जानकारी लेने निकले ,ग्रामीणों से वार्तालाप कर उनकी समस्याओं को सुना औऱ कानून व्यवस्था की जानकारी ली । छत्तीसगढ़ पुलिस के मुखिया डीजीपी श्री डीएम अवस्थी द्वारा विगत दिनों वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी पुलिस अधीक्षकों का मीटिंग लेकर शहरी पुलिसिंग के अलावा ग्रामीण पुलिसिंग पर भी जोर देने के निर्देश दिए थे । पुलिस अधीक्षक श्री पटेल ने सभी थाना प्रभरियों को निर्देश का पालन करने आदेशित किया है ,निर्देश के पालन में थाना प्रभारियों द्वारा गांव में चलित थाना लगाकर ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान मौके पर ही किया जा रहा है । आज पुलिस अधीक्षक कोरबा श्री भोज राम पटेल स्वयं थाना उरगा के अंतर्गत आने वाले ग्रामों के भ्रमण पर निकले । भ्रमण दौरान गांव में रुक-रुक कर ग्रामीणों, स्कूली शिक...
गेवरा कोयला खदान के क्षमता विस्तार का प्रस्ताव : किसान सभा ने चलाया विरोध में हस्ताक्षर अभियान,प्रदूषित कोरबा जिला  हजारों परिवार को विस्थापित होना पड़ेगा विरोध के स्वर होने लगे बुलंद
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, देश-विदेश

गेवरा कोयला खदान के क्षमता विस्तार का प्रस्ताव : किसान सभा ने चलाया विरोध में हस्ताक्षर अभियान,प्रदूषित कोरबा जिला हजारों परिवार को विस्थापित होना पड़ेगा विरोध के स्वर होने लगे बुलंद

छत्तीसगढ़ किसान सभा ने गेवरा ओपन कास्ट कोयला खदान परियोजना की क्षमता का विस्तार करने का कोयला मंत्रालय के प्रस्ताव का कड़ा विरोध किया है तथा इसके खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलाकर हजारों हस्ताक्षरों से युक्त एक ज्ञापन केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय को भिजवाया है। उल्लेखनीय है कि कोयला मंत्रालय के इस प्रस्ताव पर आज 2 सितंबर को पर्यावरण मंत्रालय द्वारा विचार-विमर्श किया जाना है। इस बैठक से पहले ही छत्तीसगढ़ किसान सभा की अगुआई में इस क्षेत्र के हजारों नागरिकों ने इसके विरोध में तैयार ज्ञापन पर हस्ताक्षर करके अपना प्रतिवाद दर्ज कर दिया है। पर्यावरण मंत्रालय द्वारा गेवरा परियोजना की क्षमता को 49 मिलियन टन से बढ़ाकर 70 मिलियन टन किये जाने के कोयला मंत्रालय के प्रस्ताव और इस हेतु वन व पर्यावरण विभाग द्वारा स्वीकृति दिए जाने पर विचार किया जाना है। छत्तीसगढ़ किसान सभा के कोरबा ज...
कोरबा चार साल का फसल मुआवजा नही मिलने पर  माकपा-किसान सभा ने किया सीएमडी का पुतला दहन
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

कोरबा चार साल का फसल मुआवजा नही मिलने पर माकपा-किसान सभा ने किया सीएमडी का पुतला दहन

https://youtu.be/lzEHJrxkFRA   कोरबा। बलगी कोयला खदान की डि-पिल्लरिंग और भू-धसान के कारण खेती-किसानी की बर्बादी का पिछले चार सालों का मुआवजा न मिलने के विरोध में आज मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और छत्तीसगढ़ किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार मूसलाधार बारिश के बीच एसईसीएल के सुराकछार गेट के सामने सीएमडी का पुतला दहन किया। उल्लेखनीय है कि कोयला खनन का दंश यहां के रहवासियों को विस्थापन के रूप में ही नहीं झेलना पड़ता है, बल्कि खेती-किसानी और गांव-घरों की बर्बादी के रूप में भी वे इसकी मार झेल रहे हैं। सुराकछार बस्ती की कृषि भूमि में डि-पिल्लरिंग के कारण दरारें इतनी गहरी हो चुकी है कि अब इस जमीन में किसान कोई भी कृषि कार्य नहीं कर पा रहे हैं। इसके एवज में एसईसीएल ने यहां के किसानों को नौ सालों तक मुआवजा दिया था, लेकिन पिछले चार सालों से उसने इस मुआवजे का भु...
फसल मुआवजा प्रकरण : एसईसीएल ने मांगा दस दिनों का समय, माकपा-किसान सभा ने कहा — हर दूसरे दिन होगा सीएमडी का पुतला दहन
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

फसल मुआवजा प्रकरण : एसईसीएल ने मांगा दस दिनों का समय, माकपा-किसान सभा ने कहा — हर दूसरे दिन होगा सीएमडी का पुतला दहन

      कोरबा। बलगी कोयला खदान की डि-पिल्लरिंग और भू-धसान के कारण सुराकछार बस्ती के 100 से अधिक किसानों के फसल नुकसान के मुआवजे की फ़ाइल एसडीएम कार्यालय से चलकर एसईसीएल कार्यालय तक पहुंच गई है। एसईसीएल प्रबंधन ने अब माकपा और किसान सभा नेताओं से मुआवजा वितरण के लिए दस और दिनों की मोहलत मांगी है। अब माकपा और किसान सभा ने कल कटघोरा एसडीएम के कार्यालय पर आहूत प्रदर्शन को स्थगित करते हुए मुआवजा वितरण न होने तक हर दूसरे दिन एसईसीएल के सीएमडी का पुतला दहन करने का नया कार्यक्रम घोषित किया है। उल्लेखनीय है कि डि-पिल्लरिंग और भू-धसान के कारण सुराकछार बस्ती की कृषि भूमि में दरारें इतनी गहरी हो चुकी है कि अब इस जमीन में किसान कोई भी कृषि कार्य नहीं कर पा रहे हैं। इसके एवज में एसईसीएल हर साल किसानों को मुआवजा देता रहा है, लेकिन पिछले चार सालों से उसने इस मुआवजे का भुगतान नही...
किसान सभा का गांवों और खेत-खलिहानों में चल रहा का सदस्यता अभियान, 9 अगस्त को सड़कों पर उतरेंगे किसान
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

किसान सभा का गांवों और खेत-खलिहानों में चल रहा का सदस्यता अभियान, 9 अगस्त को सड़कों पर उतरेंगे किसान

  गांवों और खेत-खलिहानों में चल रहा किसान सभा का सदस्यता अभियान, 9 अगस्त को सड़कों पर उतरेंगे किसान* कोरबा। "हर गांव में किसान सभा और किसान सभा में हर किसान" के अखिल भारतीय किसान सभा के आह्वान के पालन में छत्तीसगढ़ किसान सभा द्वारा पूरे जिले में सदस्यता अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान गांवों की बस्तियों और खेत-खलिहानों में चलाया जा रहा है और ग्रामीणों को 9 अगस्त को संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 'कॉरपोरेटों - भारत छोड़ो' के देशव्यापी आंदोलन से जोड़ा जा रहा है। दीपक साहू, लखपत दास, सत्रुहन, गणेश राम चौहान, राजकुमारी कंवर, देव कुंवर, संजय यादव, पुरुषोत्तम, हेम सिंह, मान सिंह, शिव कर्ष आदि किसान सभा कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में यह अभियान कोरबा, पाली और कटघोरा विकासखंडों के गांवों में चल रहा है। छत्तीसगढ़ किसान सभा के कोरबा जिला अध्यक्ष जवाहर सिंह कंवर और सचिव प्रशांत झा ने आ...