कोरबा

निर्माणकार्य में लापरवाही वनमंडलाधिकारी तिवारी और वनक्षेत्रपाल मारकाम को शो काज नोटिस ‌हड़कंप
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

निर्माणकार्य में लापरवाही वनमंडलाधिकारी तिवारी और वनक्षेत्रपाल मारकाम को शो काज नोटिस ‌हड़कंप

रायपुर, 03 मार्च 2021(IMNB NEWS AGENCY) प्रधान मुख्य वन संरक्षक एवं वन बल प्रमुख  राकेश चतुर्वेदी द्वारा कटघोरा वनमण्डल के अंतर्गत उप वनमण्डलाधिकारी श्री ए.के. तिवारी तथा वनक्षेत्रपाल श्री मोहर सिंह मरकाम को कार्य में लापरवाही बरतने के कारण शो काज नोटिस जारी किया गया है। इन्हें नोटिस का जवाब निर्धारित समय-सीमा देने के निर्देश दिए गए हैं, अन्यथा संबंधित के खिलाफ एकतरफा कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि इनके द्वारा कटघोरा वनमण्डल के अंतर्गत कैम्पा योजना में स्वीकृत राशि से जटगा परिक्षेत्र के स्टापडेम क्रमांक-1 टेटी नाला, स्टापडेम क्रमांक-3 सोढ़ीनाला तथा स्टापडेम क्रमांक-5 के निर्माण कार्य में लापरवाही बरतना पाया गया है।...
बाल्को विस्तार परियोजना पर पर्यावरण जन सुनवाई स्थगित करने की मांग की माकपा ने, दी तीखे विरोध की चेतावनी
कोरबा, खास खबर

बाल्को विस्तार परियोजना पर पर्यावरण जन सुनवाई स्थगित करने की मांग की माकपा ने, दी तीखे विरोध की चेतावनी

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने बाल्को संयंत्र का विस्तार कर एल्युमीनियम उत्पादन क्षमता बढ़ाने की परियोजना के लिए कल हो रही पर्यावरण जन सुनवाई को स्थगित करने की मांग की है। माकपा ने आरोप लगाया है कि यह जन सुनवाई वास्तविक तथ्यों को छुपाकर, गलत आंकड़ें पेश कर तथा आम जनता की जानकारी के बिना आयोजित की जा रही है, ताकि पर्यावरणीय स्वीकृति आसानी से हासिल की जा सके। आज यहां जारी एक बयान में माकपा के कोरबा जिला सचिव प्रशांत झा ने कहा कि केंद्रीय पर्यावरण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट के अनुसार कोरबा का औद्योगिक क्षेत्र देश का तीसरा सबसे ज्यादा प्रदूषित औद्योगिक क्षेत्र है। यहां का प्रदूषण सूचकांक 69.11 दर्ज किया गया है, जिसके कारण यहां की आबादी का 12% हिस्सा अस्थमा, ब्रोंकाइटिस और त्वचा रोग जैसी बीमारियों से जूझ रहा है। कोरबा के पर्यावरण और स्वास्थ्य की इस तबाही में बाल्को अपनी जिम्मेदारी से इंका...
गेवरा स्टेशन से यात्री ट्रेन संचालन के लिए सैकड़ों नागरिक उतरे सड़क पर, माकपा से प्रशासन ने मांगा 15 दिनों का समय
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश

गेवरा स्टेशन से यात्री ट्रेन संचालन के लिए सैकड़ों नागरिक उतरे सड़क पर, माकपा से प्रशासन ने मांगा 15 दिनों का समय

  https://youtu.be/UBnOzl_EMRk कोरबा। लॉक डाउन के बाद से कुसमुंडा के गेवरा रोड स्टेशन से बंद पड़ी सभी ट्रेनों को चालू करने की मांग पर आज माकपा द्वारा आहूत रेल चक्का जाम आंदोलन को आम जनता का अभूतपूर्व समर्थन मिला। सीटू, छत्तीसगढ़ किसान सभा, जनवादी महिला समिति, जनवादी नौजवान सभा और रेल संघर्ष समिति के साथ ही व्यापारियों और ऑटो चालकों के संगठनों द्वारा इस आंदोलन में भाग लेने के कारण एक ओर सैकड़ों नागरिक सड़कों पर दिखे, तो दूसरी ओर जिला प्रशासन, रेल प्रशासन और एसईसीएल प्रबंधन भी भारी दबाव में दिखे। रेल प्रशासन ने इस मांग पर सकारात्मक कार्यवाही करने के लिए 15 दिनों की लिखित मोहलत मांगी है। इधर इस आंदोलन को टालने के लिए माकपा नेताओं के साथ रेल प्रशासन की बैठक विफल होने के बाद इस आंदोलन से निपटने के लिए कल रात भर प्रशासन सक्रिय रहा। आंदोलनकारी संगठनों और नेताओं पर आंदोलन स्थगित करने क...
कोरबा,वार्ता विफल 3 फरवरी को रेल के चक्के जाम करेगे रहवासी,माकपा
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

कोरबा,वार्ता विफल 3 फरवरी को रेल के चक्के जाम करेगे रहवासी,माकपा

https://youtu.be/OdkDsOHxUEw     कोरबा। लॉक डाउन के बाद से कुसमुंडा के गेवरा रोड स्टेशन से बंद पड़ी सभी ट्रेनों को चालू करने की मांग पर कल 3 फरवरी को माकपा द्वारा आहूत रेल चक्का जाम आंदोलन को आम जनता का व्यापक समर्थन मिल रहा है। सीटू, छत्तीसगढ़ किसान सभा, जनवादी महिला समिति और रेल संघर्ष समिति के साथ ही व्यापारियों और ऑटो चालकों के संगठनों ने भी इस आंदोलन में भाग लेने की घोषणा की है। इधर इस आंदोलन को टालने के लिए माकपा नेताओं के साथ रेल प्रशासन ने बैठक कर उनसे आंदोलन स्थगित करने का अनुरोध किया। इस बैठक में शामिल कोरबा के क्षेत्रीय रेल प्रबंधक मनीष अग्रवाल का कहना था कि गेवरा से रेलें इसलिए नहीं चलाई जा सकती, क्योंकि राज्य शासन इसकी अनुमति नहीं दे रहा है। उनका कहना था कि राज्य सरकार की अनुमति मिलते ही गेवरा से ट्रेनें चलनी शुरू हो जाएंगी और इसलिए आंदोलनकारियों को थोड़ा धै...
शहीद किसानों के लिए पूरे प्रदेश में श्रद्धांजलि सभाओं का दौर जारी, किसान सभा ने कहा : कृषि कानूनों की वैधता के परीक्षण तक रोका जाये इन कानूनों पर अमल
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर, सरगुजा-अंबिकापुर, सुकमा, सूरजपुर

शहीद किसानों के लिए पूरे प्रदेश में श्रद्धांजलि सभाओं का दौर जारी, किसान सभा ने कहा : कृषि कानूनों की वैधता के परीक्षण तक रोका जाये इन कानूनों पर अमल

अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति और संयुक्त किसान मोर्चा के देशव्यापी आह्वान पर छत्तीसगढ़ में भी किसान आंदोलन के शहीदों के लिए आज सुबह से श्रद्धांजलि सभाओं का दौर जारी है और रात तक ये कार्यक्रम चलेंगे। छत्तीसगढ़ किसान सभा, आदिवासी एकता महासभा, राजनांदगांव जिला किसान संघ, हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति सहित छत्तीसगढ़ किसान आंदोलन के विभिन्न घटक संगठनों द्वारा प्रदेश के सरगुजा, सूरजपुर, कोरबा, मरवाही, राजनांदगांव सहित 15 से ज्यादा जिलों के गांव-कस्बों में ये कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। इन संगठनों द्वारा की गई सभाओं के वीडियो और फोयो भी मीडिया के लिए जारी किए गए हैं।  रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, रायगढ़ सहित विभिन्न शहरों में ट्रेड यूनियनों द्वारा भी किसान आंदोलन के साथ एकजुटता व्यक्त करने और शहीद किसानों को श्रद्धांजलि देने के कार्यक्रम आयोजित किये गए हैं। रात को गांवों में शहीदों की य...
एसईसीएल के गेवरा महाप्रबंधक ने किया गंगानगर का दौरा, बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के दिये निर्देश
कोरबा, छत्तीसगढ़ प्रदेश

एसईसीएल के गेवरा महाप्रबंधक ने किया गंगानगर का दौरा, बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के दिये निर्देश

कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी और छत्तीसगढ़ किसान सभा द्वारा घाटमुड़ा से विस्थापित और गंगागनगर में पुनर्वासित परिवारों की लंबित समस्याओं को लेकर गेवरा एसईसीएल कार्यालय के घेराव के बाद अपने वादे के अनुरूप महाप्रबंधक एस के मोहंती कल गंगानगर पहुंचे, गांव का भ्रमण किया, जन समस्याओं से रू-ब-रू हुए और तत्काल समाधान योग्य समस्याओं को हल करने के निर्देश दिए हैं। उनके साथ कोरबा के महापौर राजकिशोर प्रसाद भी थे। उल्लेखनीय है कि एसईसीएल की गेवरा परियोजना के लिए वर्ष 1980-81 में घाटमुड़ा के 75 परिवारों को विस्थापित किया गया था तथा 25 एकड़ के प्लॉट में गंगानगर ग्राम में उन्हें बसाया गया था। लेकिन पुनर्वास के 40 सालों बाद भी यह गांव बुनियादी मानवीय सुविधाओं स्कूल, अस्पताल, बिजली, पानी, गौठान, मनोरंजन गृह, श्मशान घाट, पार्क आदि से वंचित हैं, जिसे उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी एसईसीएल प्रबंधन की थी। ...
कोरबा माकपा ने की घाटमुडा विस्थापितों की मांगों पर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

कोरबा माकपा ने की घाटमुडा विस्थापितों की मांगों पर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा

कोरबा। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने गंगानगर ग्राम में बसाए गए घाटमुड़ा के विस्थापित परिवारों की मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की है। आज इस आशय का ज्ञापन माकपा जिला सचिव प्रशांत झा के साथ किसान सभा नेता जवाहर सिंह कंवर, रामायण कंवर, दीपक साहू, संजय यादव आदि ने एसईसीएल के गेवरा क्षेत्र के महाप्रबंधक को 20 नवम्बर को गेवरा मुख्यालय के घेराव की चेतावनी के साथ सौंपा है। ज्ञापन में मांग की गई है कि अधिग्रहण के बाद लंबित रोजगार प्रकरणों का तत्काल निराकरण किया जाये, विस्थापित परिवारों को गंगानगर की कब्जा भूमि पर अधिकार पत्र और भूविस्थापित होने का प्रमाण पत्र दिए जाएं, अवैध कब्जा बताकर की गई तोड़-फोड़ का मुआवजा देने, पुनर्वास ग्राम गंगानगर में स्कूल-अस्पताल, बिजली-पानी, गौठान, मनोरंजन गृह, श्मशान घाट जैसी बुनियादी मानवीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए और उन्हें विभागीय अस्पतालों में मुफ्त इल...
रैनपुर : किसान सभा द्वारा 7 घण्टे तक पंचायत घेराव के बाद सरपंच ने लिया वनाधिकार आवेदन, दी पावती
कोरबा, खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

रैनपुर : किसान सभा द्वारा 7 घण्टे तक पंचायत घेराव के बाद सरपंच ने लिया वनाधिकार आवेदन, दी पावती

कोरबा। कोरबा जिले के पाली विकासखंड के रैनपुर ग्राम पंचायत का सुबह से शाम तक 7 घंटे घेराव करने के बाद सरपंच भजनसिंह टेकाम को आदिवासियों के वनाधिकार के आवेदनों को लेने के लिए मजबूर होना पड़ा। इन आवेदनों पर उसे पावती भी देनी पड़ी है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार द्वारा वनाधिकार के दावों को तेजी से निपटाने और आदिवासियों को वन भूमि पर अधिकार दिए जाने का दावा तो किया जा रहा है, लेकिन पूरे प्रदेश से यही शिकायतें आ रही हैं कि आदिवासियों के आवेदनों को लिया ही नहीं जा रहा है। उल्टे उन्हें बेदखली का सामना करना पड़ रहा है। यही नजारा आज रैनपुर ग्राम पंचायत में देखने को मिला, जब सरपंच ने आवेदनों को लेने और पावती देने से इंकार कर दिया। इससे गुस्साए सैकड़ों आदिवासी ग्रामीणों ने छत्तीसगढ़ किसान सभा के बैनर पर पंचायत का ही घेराव कर दिया और पंचायत भवन में सरपंच को कैद कर लिया। अपनी मांगों पर अड़े आदिवासियों...