Sunday, March 3

Tag: इंडोनेशिया के बाली द्वीप से आये कलाकारों ने कहा कि राम की भूमि में आकर धन्य हुए जिनकी कथा हम दुनिया भर में सुनाते हैं

इंडोनेशिया के बाली द्वीप से आये कलाकारों ने कहा कि राम की भूमि में आकर धन्य हुए जिनकी कथा हम दुनिया भर में सुनाते हैं
खास खबर, छत्तीसगढ़ प्रदेश, रायपुर

इंडोनेशिया के बाली द्वीप से आये कलाकारों ने कहा कि राम की भूमि में आकर धन्य हुए जिनकी कथा हम दुनिया भर में सुनाते हैं

*बाली से आये कलाकारों ने अपने द्वीप में भारतीय सांस्कृतिक प्रभाव पर बताया, कहा रामकथा के परिधान जगह जगह तैयार होते हैं* *यूरोपियन यूनियन, अमेरिका सहित अनेक देशों में देते हैं प्रस्तुति* *कहा पहली बार उस धरती पर आए जहां से रामकथा सृजित हुई, छत्तीसगढ़ वही धरती जहां अरण्य कांड रचा गया* रायपुर, 2 जून 2023/ भारत से लगभग साढ़े आठ हजार किलोमीटर की दूरी पर बसे इंडोनेशिया के बाली द्वीप में भी किसी लड़की का नाम पद्मा हो सकता है या फिर श्रीयानी हो सकता है यह सोचना भी चकित कर देता है लेकिन बाली द्वीप में ऐसा हो सकता है। 2000 बरस पहले यहां भारतीय उपमहाद्वीप का सांस्कृतिक प्रभाव पड़ा और बाली ने भारत के सांस्कृतिक मूल्यों को अपना लिया। वाल्मीकि की रामायण कथा बाली द्वीप में आज ही उसी तरह से सुनी सुनाई जाती है और स्थानीय संस्कृति के अनुरूप इसका सुंदर मंचन किया जाता है। राष्ट्रीय रामायण महोत्सव क...