Sunday, April 14

चेरबेड़ा मारी क्षेत्र का चैतराम मण्डावी के ऊपर जंगली जानवर भालू का जानलेवा हमला से गम्भीर घायल एवं केशकाल में इलाज जारी

केशकाल – विकासखण्ड केशकाल अन्तर्गत ग्राम पंचायत कुंए (मारी क्षेत्र) के आश्रित ग्राम चेरबेड़ा के गरीब आदिवासी भाई चैतराम मण्डावी उम्र 30 वर्ष जाति गोंड घटना दिनांक 01/11/2022 की शाम अपने गांव चेरबेड़ा से जंगली रास्ता तय करते हुए निकटतम गांव भण्डारपाल जाते वक्त सड़क किनारे जंगली भालू ने चैतराम मण्डावी के ऊपर जानलेवा हमला करने पर शरीर के कई स्थानो में भालू के दांत से काटने पर बुरी तरह से गम्भीर घायल हुआ था। घायल चैतराम मण्डावी को नजदीकी उपस्वास्थय केन्द्र कुंए में लाकर प्राथमिक उपचार के बाद सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र केशकाल को रिफर किया गया साथ ही घटना की जानकारी ग्राम पंचायत कुंए के संरपंच पति गुरूचरण मण्डावी द्वारा केशकाल वन कर्मचारी एवं हमारे मिडिया को सूचना देकर घायल व्यक्ति का फोटो जानकारी मोबाईल व्हाटसप से भेजा गया घटना की जानकारी मिलते ही हमारे न्यूज प्रतिनिधि ने सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र केशकाल पहुँचकर घायल व्यक्ति को प्रभारी डॉक्टर से जाँच कराकर एडमिट के साथ डॉक्टर नेताम के द्वारा घटना की जानकारी पुलिस थाना केशकाल को सूचना दिया गया पुलिस द्वारा अस्पताल पहुँचकर अस्पताल में गम्भीर रूप से घायल एडमिट चैतराम मण्डावी से सम्पर्क करते हुए जानकारी लिया गया तथा मिडिया द्वारा घटना की जानकारी मुनीर खान रेंजर केशकाल तथा राज्य के प्रधान वन मुख्यसंरक्षक रायपुर छ.ग. वन विभाग रायपुर को भी घायल व्यक्ति का फोटो के साथ मेसेज के माध्यम से जानकारी दिया गया जानकारी मिलने पर मुनीर खान रेंजर केशकाल अपने साथी के साथ अस्पताल पहुँचकर एडमिट चैतराम मण्डावी से मुलाकात करने के साथ वन विभाग द्वारा अगामी इलाज कराने के आश्वासन के साथ मामले पर आर्थिक सहायता दिलाने का आश्वासन दिया गया । साथ ही पिड़ित घायल को नगद राशि 1,000 हजार रूपये अस्पताल में दिया गया किन्तु वन विभाग को समय पर जानकारी मिलने के उपरान्त भी विभागीय अधिकारी द्वारा कई घण्टे विलम्ब से मरीज के पास अस्पताल पहुँचना चर्चा का विषय बना हुआ है।

प्रभारी डॉक्टर ने जानकारी देते बताया कि भालू के हमले से गम्भीर रूप से घायल एवं एडमिट मरीज चैतराम मण्डावी का वर्तमान हालात खतरे से बाहर बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *