Sunday, April 14

शासन की महत्वाकांक्षी योजनाओं का लाभ जिले के अंतिम छोर में बसे व्यक्तियों तक पहुंचना चाहिए-कलेक्टर  महोबे

आंगनबाड़ी केंद्र से दूर रहने वाले बच्चों को केन्द्र में लाने कार्ययोजना बनाने के दिए निर्देश

कलेक्टर ने रबी फसल के लिए पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्धता सुनिश्चित करने के दिए निर्देश

कलेक्टर ने ली समय सीमा की बैठक

कवर्धा, 07 नवंबर 2022। कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने आज कलेक्टर सभाकक्ष में समय-सीमा की बैठक में वनांचल क्षेत्र में विशेष पिछड़ी बैगा जनजाति-आदिवासियों के मूलभूत आवश्यकता और शासन की महत्वकांक्षी योजना के क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने जनदर्शन में प्राप्त आवेदनों और समय सीमा के लंबित प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री महोबे ने कहा कि शासन की महत्वकांक्षी योजनाओं का लाभ जिले के अंतिम छोर में बसे गांव में निवास करने वाले व्यक्तियों तक पहुंचना चाहिए। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान शासन की प्राथमिकता में शामिल है। संवेदनशील क्षेत्र में संचालित आंगनबाड़ी केंद्र और स्कूलों में सभी सुविधाएं, पूरक पोषक तत्व सहित गरम भोजन मिलना चाहिए। जिले के अंतिम गांव में संचालित आंगनबाड़ी केंद्र में सुपरवाइजर को लगातार निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्र में बच्चे आना चाहिए। ऐसे घर या बस्ती जो आंगनबाड़ी केंद्र से दूर है वहां बच्चे आए इसके लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। इसी प्रकार गर्भवती माताओं को भी पूरक पोषण अनिवार्य रूप से मिलना चाहिए। कलेक्टर श्री महोबे ने कहा कि बोड़ला, सहसपुर लोहारा और पंडरिया विकासखंड के दूरस्थ गांव में जल जीवन मिशन के तहत कार्य चल रहे हैं इन कार्यों में गुणवत्ता होनी चाहिए। नल कनेक्शन लगने के बाद पानी आने में कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। जिन स्थानों में गंदे पानी की समस्या आ रही है, उसे दूर करें। बैठक में डीएफओ चूड़ामणि सिंह, जिला पंचायत सीईओ श्री संदीप कुमार अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री इंद्रजीत बर्मन, संयुक्त कलेक्टर डॉ. मोनिका कौडो, पंडरिया एसडीएम श्री डी.आर. डाहिरे, सर्व जनपद सीईओ, नगर पालिका, नगर पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सहित जिला अधिकारी उपस्थित थे।
कलेक्टर श्री महोबे ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के प्रदेश व्यापी भेंट मुलाकात कार्यक्रम के अंतर्गत दिए गए निर्देशों और घोषणाओं के प्रगति की समीक्षा की। बैठक में बताया गया घोषणा के अनुरूप कुंडा और इंदौरी को जनसंख्या के आधार पर नगर पंचायत के लिए प्रस्ताव बनाकर शासन को भेज दिया गया है। कलेक्टर श्री महोबे ने जिला स्तर पर पूर्ण होने वाले घोषणाएं के लिए प्रस्ताव बनाकर तैयार करने के निर्देश दिए। जिससे जल्दी ही स्वीकृति के लिए कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कलेक्टर जनदर्शन के दौरान हितग्राही भू अर्जन की शिकायत लेकर आते हैं सभी तहसीलदार और एसडीएम भू-अर्जन के रिकॉर्ड को अद्यतन करें। इस दौरान उन्होंने फसल बीमा योजना की समीक्षा की। उन्होंने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि नवीन गौठान में अधोसंरचना निर्मित और समिति गठित हो गई है वहां गोबर खरीदी प्रारंभ कराएं। इसके अलावा सभी गौठानो में गोबर खरीदी सहित वर्मी कंपोस्ट का निर्माण लगातार होना चाहिए। जिससे किसानों को रबी फसल के लिए खाद पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो सकें। गोबर विक्रय के भुगतान की राशि किसी भी गौठान में लंबित नहीं होना चाहिए।
कलेक्टर श्री महोबे ने धान खरीदी की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी केंद्रों में सुचारू रूप से धान खरीदी होनी चाहिए। किसानों को शिकायत नहीं मिलना चाहिए। जिन धान खरीदी केंद्रों में समस्या है उसे सुधार ले। उन्होंने कहा कि भुइयां की पोर्टल में किसानों के एंट्री होने के बाद सोसाइटी मॉड्यूल में रकबा शून्य दिखा रहा है वहां सत्यापन कर जांच करें। रकबा शून्य दिखाने पर भौतिक सत्यापन का प्रमाण पत्र दे। उन्होंने कहा कि खरीफ सीजन के बाद अब रबी फसल किसानों द्वारा लगाया जाएगा। जिले में फसल चक्र का अच्छा कार्य हुआ है। रबी फसल के लिए पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने खाद की व्यवस्था के लिए अधिकारी को निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *