Wednesday, June 19

नगपुरा शिविर में 984 आवेदन आये इनमें 918 मौके पर ही निराकृत

– प्रशासन तुंहर द्वार अभियान अंतर्गत नगपुरा में आयोजित किया गया शिविर, कलेक्टर के समक्ष लोगों ने रखा आवेदन

दुर्ग 14 दिसंबर 2022/प्रशासन तुंहर द्वार अभियान अंतर्गत नगपुरा में आयोजित शिविर में ग्रामीण सचिवालय और शिविर में आये अधिकांश आवेदनों का निराकरण मौके पर ही कर दिया गया।
शिविर में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शालिनी यादव, जनपद अध्यक्ष श्री देवेंद्र देशमुख, नगपुरा सरपंच श्री भूपेंद्र रिगरी सहित अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे। इस मौके पर जिला पंचायत सीईओ श्री अश्विनी देवांगन, एसडीएम श्री मुकेश रावटे एवं अन्य जिलास्तरीय अधिकारी भी मौजूद रहे।
शिविर में 984 आवेदन आये। इनमें से 705 ग्रामीण सचिवालय के माध्यम से आये थे और 279 आज ही आये। इनमें से 918 का निराकरण कर दिया गया।

ठेलकाहीड- चिखली निर्माणाधीन रोड में खतरनाक मोड़, तकनीकी त्रुटि सुधारें- ग्रामीणों ने बताया कि ठेलकाहीड-चिखली रोड जो निर्माणाधीन है उसमें मोड़ काफी खतरनाक है। इसमें मोड़ पर तकनीकी त्रुटि सुधारी नहीं गई तो गंभीर हादसे होने की आशंका बनी रहेगी। इस पर कलेक्टर ने एसडीएम को मौके पर पहुंचकर वस्तुस्थिति की रिपोर्ट देने कहा। इसी तरह अंडा से उतई मार्ग के किनारे कुछ स्थलों पर नाली निर्माण नहीं किये जाने की शिकायत आई। कलेक्टर ने इस पर पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में निर्माणाधीन सड़कों की प्रगति की स्थिति के बारे में रिपोर्ट भी दें।

कुछ वार्डों में पानी नहीं आ रहा, पीएचई को कहा, कल तक ठीक कराएं- पाइपलाइन की मरम्मत की वजह से नगपुरा के कुछ वार्डों में पानी नहीं आने की दिक्कत वार्डवासियों ने रखी। इस पर कलेक्टर ने चौबीस घंटे के भीतर मरम्मत कर पेयजल आपूर्ति ठीक करने के निर्देश पीएचई अधिकारियों को दिये।

शिक्षक नहीं है वहां शिक्षक भेजें- जंजगिरी, नगपुरा और डांडेसरा में शिक्षकों की कमी की बात सामने आई। इस पर कलेक्टर ने बीईओ को सभी स्कूलों में परीक्षण कर कम शिक्षकों वाले स्कूलों में त्वरित रूप से शिक्षकों की व्यवस्था कराने के निर्देश दिये। गनियारी के जर्जर स्कूल को डिस्मैंटल करने के निर्देश भी उन्होंने दिये।

दमोदा में पीडीएस दुकान समय पर नहीं खुलने की शिकायत, कहा नोटिस दें फिर भी विलंब से खोले तो वापस ले लें- दमोदा में पीडीएस दुकान के देर से आरंभ होने की शिकायत ग्रामीणों ने की। कलेक्टर ने इस बारे में सचिव से पूछा। सचिव ने बताया कि ग्रामीणों का कहना सही है। इस पर कलेक्टर ने दुकान संचालकों को नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। साथ ही इसके बावजूद विलंब करने पर संचालन का अधिकार समाप्त करने के निर्देश खाद्य नियंत्रक को दिये।

पहली बार बंटा मछुआ बीमा प्रमाण पत्र- शिविर में पहली बार मछुआरों को बीमा प्रमाण पत्र भी सौंपा गया। यह पहली बार हुआ है। साथ ही हितग्राहीमूलक योजनाओं के अंतर्गत सामग्री भी बांटी गई। अन्नप्राशन भी बच्चों का किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *