Friday, June 21

भाजपा बलात्कारी बचाओ में लगी हुई है

राजीव भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुये प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल के पुत्र के ऊपर आदिवासी लड़की से रेप के आरोप लगे हैं एफआईआर दर्ज हुआ है और पीड़िता ने अनुसूचित जनजाति आयोग के समक्ष बयान दर्ज कराये हैं इसके बाद भी भाजपा नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल के बेटे का बचाव कर रही है। पीड़िता के बारे में भाजपा की कोई संवेदना नहीं है। भाजपा नेता प्रतिपक्ष के बचाव के लिये एक राजनैतिक दल की मर्यादा को लांघ रही है। भाजपा को आदिवासी पीड़िता से कोई मतलब नहीं पूरी पार्टी एक बलात्कारी के पीछे खड़ी है। भाजपा के नेता अपराधी को संरक्षण देने का काम कर रहे है। दुराचारी कोई भी हो किसी का भी पुत्र हो अपराधी पर कार्यवाही हो रही तो भाजपा तिलमिला क्यों रही है? पहले रमन सिंह फिर रामविचार नेताम, भाजपा अध्यक्ष अरुण साव अब बृजमोहन अग्रवाल बलात्कारी के पक्ष में बयान दे रहे है। क्या भाजपाई कानून से बड़े हो गये है? बृजमोहन बतायें वे किस बात की चुनौती दे रहे है? उन्होंने ऐसा क्या अपराध किया जिस पर वे खुद पर एफआईआर का चैलेंज कर रहे है? क्या तीन-चार बार मंत्री, विधायक बन जाने से वे कानून से बड़े हो गये है? वे अपराध करें उन पर भी एफआईआर दर्ज होगा। यह भूपेश बघेल की सरकार है गलत करने पर अपने पिता को भी नहीं बख्शा, बृजमोहन क्या चीज है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बतायें नेता प्रतिपक्ष का बेटा बलात्कार करता है, पीड़िता खुद रिपोर्ट दर्ज कराती है, प्रेस कांफ्रेंस कर खुद की आप बीती अपनी जुबानी कहती है इसके किस बात का षड़यंत्र है? भाजपा षड़यंत्रपूर्वक एक बलात्कारी को बचा रही है जो उनके दल का नेता है तथा नेता प्रतिपक्ष का पुत्र है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा लगती है और बेटियों के साथ हुए दुराचार की घटना में शामिल भाजपा नेताओं को बचाने के लिए झंडा लेकर सड़कों पर आंदोलन करती है। पीड़िता को डराती, धमकाती है और कानून को अपना काम करने नहीं देती है।उन्नाव, कठुवा की घटना पूरा देश ने देखा है कैसे भाजपा के नेता झंडा लेकर बलात्कारियों को बचाने सड़कों पर उतरे थे। छत्तीसगढ़ में भी विधानसभा के उपचुनाव में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह से लेकर भाजपा के बड़े नेता एक बलात्कारी के लिए वोट मांग रहे थे उनकी जयकारा लगा रहे थे।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने कहा कि असल मायने में बेटियां सबसे ज्यादा असुरक्षित भाजपा नेताओं के कारण हैं गुजरात में जिस प्रकार से भाजपा की सरकार ने 11 सजायाफ्ता बलात्कारियों को रिहा किया है उससे बलात्कार जैसी घटनाओं की सोच रखने वाले घृणित मानसिकता के लोगों को बल मिला है भानुप्रतापपुर के उपचुनाव में भाजपा ने बलात्कारी को टिकट देकर बेटियों को डराने का काम किया था जंतर मंतर में पहलवान बेटियां भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर आंदोलन कर रही है दुर्भाग्य की बात है जिन बेटियों को मोदी सरकार संरक्षण देने का वादा कर रहे थे उन्हीं बेटियों की शिकायत पर पीएमओ ने अब तक कार्यवाही नहीं की है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा लगाने वाले भाजपा नेताओं का चरित्र बेटियों को सुरक्षा देना नहीं है बल्कि दुष्कर्म के आरोपियों के पक्ष में खड़ा होना है। भाजपा नेता एवं नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल के पुत्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुआ। भाजपा की कार्यसमिति की बैठक संपन्न हो गई लेकिन नारायण चंदेल को पद मुक्त नहीं किया और आदिवासी बेटी के साथ हुई दुराचार की घटना की निंदा भी नही की। असल में भाजपा को आरएसएस की शाखा में यही ट्रेनिंग दी जाती है कि अपराध में शामिल लोगों को बचाने संगठित होकर पीड़िता को मिलने वाले न्याय पर बाधा उत्पन्न करो।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि छत्तीसगढ़ हो या झारखंड भाजपा आदिवासी बेटियों के साथ दुराचार करने वाले अपराधी के पक्ष में ही खड़ी नजर आ रही है। भाजपा नेताओं का चरित्र ही बलात्कारियों को बचाना है। इसीलिए नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल आदिवासी बेटी से दुराचार के आरोपी अपने पुत्र को संरक्षण दे रहे हैं। भानुप्रतापपुर के उपचुनाव के दौरान पूरा प्रदेश ने देखा है किस प्रकार भाजपा झारखंड में हुई आदिवासी बेटी के साथ गैंगरेप, रेप और पॉक्सो एक्ट के आरोपी को बचाने के लिए सड़कों पर संघर्ष कर रही थी उसके लिए वोट मांग रही थी नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल नैतिक धर्म का पालन करे। उन्हें आदिवासी बेटी को न्याय दिलाने के लिए अपने पुत्र को पुलिस के हवाले करना चाहिए और अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए। डॉ. रमन सिंह मुख्यमंत्री रहते हुए बलात्कार के आरोपी अपने ओएसडी ओपी गुप्ता के खिलाफ 4 साल तक नाबालिक एफआईआर दर्ज होने नहीं दिया था। झारखंड में भाजपा की सरकार के दौरान आदिवासी बेटी के साथ हुई गैंगरेप और पॉक्सो एक्ट के मामले में भाजपा के पूर्व विधायक ब्रह्मानंद को बचाने के लिए पूरी भाजपा लगी हुई थी और भानुप्रतापपुर उपचुनाव के दौरान भी पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह और भाजपा के नेता उस बलात्कारी का जयकारा लगा रहे थे और उसके लिए वोट मांग रहे थे और जब पुलिस गिरफ्तार करने आई तब भाजपा के कार्यकर्ता उस रेप के आरोपी को बचाने के लिए पुलिस के साथ संघर्ष कर रहे थे और अभी भाजपा के नेता अपने नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल के बेटे रेप के आरोपी को बचाने के लिए पूरी ताकत लगा रही है। भानुप्रतापपुर में भाजपा ने अपने बलात्कारी नेता को प्रत्याशी बनाया था। पूरे देश ने देखा है कैसे उन्नाव और कठुआ में हुई बलात्कार की घटना के बाद भाजपा के नेता बलात्कारियों को बचाने के लिए झंडा लेकर सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे थे पीड़ित पक्ष को डराया जाता था, धमकाया गया उनके परिवार की सदस्यो की हत्या तक हो गई। मोदी के खास भाजपा नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन के खिलाफ अभी न्यायालय के आदेश पर बलात्कार के एफआईआर दर्ज हो रहे हैं इससे समझ में आता है कि 2018 की घटना पर किस प्रकार से कार्यवाही नहीं होने दिया गया। डॉ रमन सिंह के मुख्यमंत्री रहते उनके ओएसडी ओपी गुप्ता के ऊपर रेप का आरोप लगा और 4 साल तक पीड़िता का एफआईआर दर्ज नहीं किया गया।

पत्रकार वार्ता में प्रदेश कांग्रेस के सचिव अजय साहू, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र वर्मा, सलाम रिजवी उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *