Friday, June 14

उत्तर से दक्षिण तक ठंड का कहर, जानें अन्य राज्यों का हाल

सोमवार को दिन की शुरुआत घने कोहरे से हुई, इसके साथ ही शीतलहर ने भी लोगों पर जमकर कहर बरपाया है। भारत मौसम विज्ञान विभा की ओर से जारी पूर्वानुमान में कहा गया है कि अगले दो दिनों तक शीतलहर से राहत नहीं मिलने वाली है।

दिल्ली-एनसीआर  समेत उत्तर भारत में भीषण ठंड का सामना कर रहे लोगों को राहत नहीं मिलती दिख रही है। सोमवार को दिन की शुरुआत घने कोहरे से हुई, इसके साथ ही शीतलहर ने भी लोगों पर जमकर कहर बरपाया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान में कहा गया है कि अगले दो दिनों तक शीतलहर से राहत नहीं मिलने वाली है। 

IMD के मुताबिक, उत्तरी राजस्थान, दक्षिणी हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पूर्वी मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, तेलंगाना के कुछ हिस्सों में दो दिनों तक गंभीर शीतलहर की स्थिति बनी रह सकती है।

दिल्ली-यूपी में दृश्यता न के बराबर 
मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर समेत आसपास के इलकों में कोहरे की चादर छाए रहने के कारण दृश्यता न के बराबर रही। बठिंडा में शून्य दृश्यता रही तो अमृतसर में 25 मीटर, अंबाला में 25 मीटर, हिसार में 50 मीटर, दिल्ली(सफदरगंज) में 25 मीटर, पालम में 50 मीअर, आगरा में शून्य, लखनऊ में शून्य, वाराणसी में 25 मीटर, बहराइच में 50 मीटर, प्रयागराज में 50 मीटर, बिहार  के पुर्णिया, पटना व गया में 50 मीटर, गंगानगर में 25 मीटर रही।

अभी और गिरेगा पारा, छाया रहेगा घना कोहरा
मौसम विभाग ने कहा है कि अगले तीन दिनों के दौरान पूर्वी भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में खास बदलाव के आसार नहीं दिखाई दे रहे हैं। मध्य भारत में अगले एक दो दिनों में पारा दो से तीन डिग्री तक गिर सकता है। इसके अलावा दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, चंडीगढ़, पंजाब व हरियाणा में कोहरा और बढ़ने की संभावना जताई गई है। यही हाल हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल में रहने वाला है।

कब से मिलेगी राहत 
मौसम विभाग का कहना है कि अगले 48 घंटों के बाद मौसम में कुछ बदलाव के आसार दिखाई दे रहे हैं। लोगों को शीतलहर से राहत मिल सकती है। हालांकि, पहाड़ों पर बर्फबारी और बारिश की भी संभावना बनी हुई है, जिसका असर मैदानी इलाकों में दिखाई पड़ सकता है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *