Thursday, June 20

शराब से मौतों का आंकड़ा 53 पहुंचा, 48 घंटे में 150 लोग गिरफ्तार, सुप्रीम कोर्ट पहुंचा शराबकांड

सारण के बाद अब सीवान में शराब से 5 मौतें:सारण में अब तक 53 की जान गई, विपक्ष ने विधानसभा में कुर्सियां पटकीं

बिहार के सारण(छपरा) में जहरीली शराब से 53 मौतों के बाद अब सीवान में भी मौतों का सिलसिला शुरू हो गया है। अब तक 5 लोगों की मौत की सूचना आई है। विधानसभा में लगातार तीसरे दिन विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। कुर्सियां पटकीं गईं। अब विपक्ष सरकार बर्खास्त करने की मांग को लेकर राजभवन कूच करने की तैयारी में है।

सीवान में जो मौतें हुई हैं, वो भगवानपुर हाट थाना क्षेत्र के ब्रह्मस्थान गांव में हुई हैं।

छपरा में जहरीली शराब कांड में अब नया खुलासा हुआ है। यहां थाने में जब्त स्प्रिट के कंटेनर से बड़ी मात्रा में स्प्रिट गायब है। शक है कि इसी से यह जहरीली शराब बनी थी, जिसे पीकर मौतें हुईं। यह कहीं और से नहीं, बल्कि थाने से सप्लाई की गई थी। इस बात का सबूत के तौर पर ग्रामीणों ने वीडियो बनाकर एक्साइज डिपार्टमेंट के मुख्य सचिव केके पाठक को भेजा है।

शिकायत के बाद मुख्य सचिव हरकत में आए और जांच के लिए ज्वाइंट कमिश्नर कृष्णा पासवान और डिप्टी सेक्रेटरी निरंजन कुमार को भेजा। उन्होंने देखा तो जब्त स्प्रिट के ड्रम खुले थे। स्प्रिट गायब थी। अब सैंपल पटना भेजा गया है। जिन लोगों ने शिकायत की है उन्होंने कहा है कि वहीं से चौकीदार और पुलिस की मदद से थाने से स्प्रिट की सप्लाई धंधेबाजों को की गई। कई कंटेनर के ढक्कन गायब हैं।

मौतों का आंकड़ा 53 पहुंचा
शराब से मौतों का आंकड़ा 53 हो गया। पहले दिन मंगलवार को 5 मौतें हुई थीं। इसके बाद बुधवार को 25 और गुरुवार को 19 लोगों की जान गई। शुक्रवार सुबह तक 4 और लोगों को जहरीली शराब निगल गई। सबसे ज्यादा मौतें छपरा के मशरख, अमनौर और मढ़ौरा इलाकों में हुई हैं। ये लोग निजी क्लीनिकों में या घर पर इलाज करा रहे थे। मरने वालों में तीन ऐसे लोग हैं जो खुद ही शराब बेच रहे थे। दूसरी तरफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मशरख के थानेदार और चौकीदार को सस्पेंड कर दिया है, जबकि DM ने मढौरा के SDPO को ट्रांसफर करने और विभागीय कार्रवाई करने की अनुशंसा विभाग से की है।

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा शराबकांड

शराब से मौत का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। आर्यावर्त महासभा फाउंडेशन ने याचिका दायर कर मामले की जल्द सुनवाई करने की मांग की है। साथ ही पीड़ितों को उचित मुआवजा देने की मांग की है। पूरे मामले की जांच SIT से कराने की मांग है। हालांकि, मामले पर जल्द सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार किया है। कोर्ट ने कहा कि मामला मेंशनिंग लिस्ट में नहीं है।

48 घंटे में 150 लोग गिरफ्तार
एक्साइज डिपार्टमेंट की 7 टीमें छापेमारी कर रही हैं। मशरख के अलग-अलग इलाके से 600 लीटर अवैध शराब बरामद हुई है। अब तक 48 घंटे में 150 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उधर, CM नीतीश कुमार ने गुरुवार को कहा था कि जहरीली शराब से शुरू से लोग मरते हैं। सबको अलर्ट रहना चाहिए, क्योंकि जब शराब बंदी है तो खराब शराब मिलेगी ही। जो शराब पियेगा वो मरेगा।

 पूर्णिया में थाने के पास ही बिक रही शराब, 90 रुपए प्रति बोतल
छपरा में बड़ी संख्या में शराब से मौत के बाद भी अवैध रूप से देसी शराब बेचने का धंधा जारी है। गुरुवार को भास्कर टीम ने पूर्णिया के दो प्रखंडों कसबा और जलालगढ़ में स्टिंग किया तो पता चला कि जलालगढ़ में थाने से 200 मीटर की दूरी पर खुलेआम शराब बिकती दिखी। यहां 90 रुपए बोतल शराब मिल रही थी।

कसबा में शराब तस्कर महिला से हुई बातचीत

रिपोर्टर: दारू दीजिए।
महिला: कितना लेना है।
रिपोर्टर: एक बोतल क्या रेट है।
महिला: अभी बाहर जाइए, दारू में फेट मारकर लाते हैं।
(इसके बाद वह एक घर में गई और हाथ में गैलन लेकर आई।)
रिपोर्टर: कितना समय लगेगा।
महिला: आप लोग बाहर रहिए, कुछ तर माल मिलाकर बुलाएंगे।
रिपोर्टर: हम लोग इंतजार कर लेंगे।
महिला: पुलिस का डर रहता है।
रिपोर्टर: इधर पुलिस आती है क्या।
महिला: आती है कभी-कभी।
रिपोर्टर: आपको डर लगता है क्या।
महिला: काला धंधा है, डर तो लगता ही है। लीजिए, दारू में फेट लग गया कितना दे दें। डेढ़ बोतल दे देते हैं।
रिपोर्टर: दे दीजिए, कितना पैसा हुआ।
महिला: एक बोतल लीजिएगा तो 90 रुपया लगेगा।
जलालगढ़ में थाने से 200 मीटर दूर मिश्रीनगर सौतारी टोला में एक महिला आई और पूछा कि कितना लीजिएगा।
रिपोर्टर: आधा सेर दे दीजिए।
महिला : रुकिए।
(महिला एक ग्लास लेकर मकाई के खेत की तरफ चली गई।)
रिपोर्टर : घर में नहीं रखती हैं क्या।
आदमी: पुलिस, चौकीदार परेशान करता है, इसलिए खेत में रखते हैं।
रिपोर्टर: मिलावट तो नहीं है।
महिला : हमारे यहां मिलावट नहीं है। मेरा दारू पूरा एक नंबर है।

जहरीली शराब से छपरा में दो दिनों में 53 लोगों की मौत हो चुकी है। पर शराबबंदी में भी शराब की तस्करी का मामला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। तस्कर भी नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं। गोपालगंज में बुधवार की देर रात उत्पाद विभाग की टीम ने एक शराब तस्कर को गिरफ्तार किया। तस्कर ने देसी शराब की प्लास्टिक की बोतलों को सेलो टेप से चिपका रखा था।  

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *