Friday, June 14

*संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं भीम सिंह ने मातृ एवं शिशु अस्पताल का किया निरीक्षण*

 

*मरीजों को ज्यादा सुविधाएं उपलब्ध कराने, साफ-सफाई और व्यवस्था में कसावट लाने के दिए निर्देश*

*एसएनसीयू में वेंटिलेटर्स की संख्या बढ़ाने कहा*

रायपुर. 9 दिसम्बर 2022. स्वास्थ्य सेवाओं के संचालक श्री भीम सिंह ने आज राजधानी रायपुर के कालीबाड़ी स्थित मातृ एवं शिशु अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने अस्पताल के विभिन्न विभागों का भ्रमण कर मरीजों को ज्यादा सुविधाएं उपलब्ध कराने, बेहतर साफ-सफाई और व्यवस्था में कसावट लाने के निर्देश दिए। उन्होंने एसएनसीयू में वेंटिलेटर्स की संख्या बढ़ाने को कहा। सिविल सर्जन डॉ. पी.के. गुप्ता, जिला अस्पताल के ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. एस.के.भंडारी और मातृ एवं शिशु अस्पताल की प्रभारी डॉ. निर्मला यादव भी इस दौरान मौजूद थीं।

संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं श्री भीम सिंह ने अस्पताल के निरीक्षण के दौरान बुजुर्गों के लिए विशेष काउंटर बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने पहली बार एएनसी चेकअप के लिए आई गर्भवती महिलाओं के दूसरे चेकअप और उसके बाद के फॉलो-अप चेकअप के लिए कॉल-सुविधा की व्यवस्था बनाने कहा। उन्होंने मरीजों को पैथोलॉजी जांच की रिपोर्ट जल्द से जल्द उपलब्ध कराने कहा जिससे उनके इलाज में देरी न हो। उन्होंने अस्पताल में सभी दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने दवाईयों के स्टॉक की एंट्री डेली-बेसिस पर संधारित करने को कहा।

संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं ने अस्पताल के सभी वार्डों के प्रतीक्षा कक्ष (Waiting Area) में टेलीविजन लगाने तथा उनके माध्यम से स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं व जागरूकता संबंधी संदेशों का प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। उन्होंने डिलीवरी वार्ड एवं पोषण पुनर्वास केंद्र (NRC) में डाइट-चार्ट लगाने कहा। उन्होंने सभी वार्डों में गरम पानी के लिए गीजर की व्यवस्था और अच्छी साफ-सफाई के निर्देश दिए। उन्होंने बॉथरूम के टूटे हुए टाइल्स को तत्काल बदलने और वहां स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने कहा। श्री सिंह ने अस्पताल के पिछले हिस्से की सफाई और बाउंड्री-वाल को ऊंचा करने के लिए भी कहा।

श्री भीम सिंह ने सर्वर डाउन की वजह से आयुष्मान कार्ड ब्लॉकिंग में आ रही समस्या की विस्तृत जानकारी सिविल सर्जन को तत्काल देने को कहा। उन्होंने इस काम के सुचारू संचालन के लिए स्टॉफ की भर्ती करने को भी कहा। संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं ने किसी भी तरह की फेलियर से बचने अस्पताल के पॉवर बैक-अप व्यवस्था को मजबूत करने को कहा। उन्होंने अस्पताल में पॉवर ऑडिट की रिपोर्ट और जननी सुरक्षा योजना के भुगतान की जानकारी प्रस्तुत करने को कहा। उन्होंने वाश एरिया, बायो मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट और फायर एक्जिट पर भी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *