Wednesday, June 19

गेड़ी-बॉल खेल के प्रसार प्रसार के लिए खेल अधिकारियों की संभाग स्तरीय बैठक सम्पन्न

कांकेर। छत्तीसगढ़ गेड़ी-बॉल एशोसिएसन के तत्वाधान में बस्तर संभाग के सातो जिलों के खेल अधिकारियों एवं पीटीआई की अह्म बैठक जगदलपुर में सम्पन्न हुई। उक्त बैठक में खेल से सम्बधित नियमों, दिशानिदेशों, तकनीकि एवं पेशेवराना पहलुओं पर व्यापक चर्चा की गई, ब्लॉक स्तर पर गेड़ी-बॉल टीम बनाकर इस खेल का प्रसार किया जायेगा। अगामी माह राज्य स्तरीय गेड़ी-बॉल प्रतियोगिता हेतु प्रत्येक जिले से एक टीम भेजा जाना सूनिश्चत किया गया।

गेड़ी बॉल क्या है? आइये इसे समझते है- एशोसिएसन से जुड़े शेख इमरान उल्लाह ने चर्चा में बताया कि छत्तीसगढ़ी कला, परम्परा एवं संस्कृति की पहचान गेड़ी एवं दुनिया के सबसे लोकप्रिय खेल फूटबॉल को मिलाकर इस नये खेल का अविस्कार किया गया है। इसे विशुद्ध रूप से छत्तीसगढ़िया खेल भी कहा जा सकता है इस खेल में खिलाड़ी को गेड़ी में चढ़कर बॉल को विरोधी टीम के गोल पोस्ट पर डालना होती है। 60 बाई 30 मीटर के मैदान में प्रत्येक टीम में 7 से 9 खिलाड़ी अपनी गेड़ियो सहित मैदान में होते है। उक्त सम्भागिय बैठक में छ.ग. गेड़ी-बॉल एशोसिएसन के सिनियर एथलिट कोच ताजूद्दीन दुर्ग, प्रहलाद तिवारी भिलाई, शेख इमरान उल्लाह कांकेर, संभागिय खेल अधिकारी बस्तर रविन्द्र पटनायक, जिला खेल अधिकारी संजय जैन कांकेर, चन्द्रमोहन वर्मा जगदलपुर, सागर शर्मा बस्तर, वेद प्रकाश, सुनील पिल्ले सुकमा, रामसाय वड्डे नारायणपुर, रजनीश ओसवाल गीदम एवं समस्त पीटीआई उपस्थित थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *