Thursday, February 29

जिला स्तरीय प्रतियोगिता से छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के चौथे चरण की शुरूआत

*27 अगस्त से 04 सितंबर तक चलेगी स्पर्धा*

रायपुर 26 अगस्त 2023/ छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के तीन चरण की प्रतियोगिता के समापन के उपरांत अब जिला स्तर पर यह स्पर्धा आयोजित होगी। 27 अगस्त से शुरू होने वाली चौथे चरण की इस प्रतियोगिता का समापन 04 सितंबर का होगा। जिला स्तरीय प्रत्येक खेल प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागी एवं दल आयुवार एवं वर्गवार संभाग स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेंगे। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की पहल एवं खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री उमेश पटेल के मार्गदर्शन पर वर्ष 2022 को शुरू की गई पहली छत्तीसगढ़िया ओलंपिक को अभूतपूर्व लोकप्रियता मिली थी। बूढ़े, बच्चों एवं महिलाओं ने इसमें बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था। दिव्यांगजनों ने भी इस ओलंपिक में भाग लिया और कई प्रतिस्पर्घा के विजेता भी रहे। अभी चल रहे छत्तीसगढ़िया ओलंपिक को लेकर लोगों का उत्साह देखते ही बनता है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में लंबी कूद, 100 मीटर दौड़ एवं कुश्ती के खेल में 18 से 40 वर्ष की आयु वर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को उत्कृष्ट खिलाड़ी घोषित करने की घोषणा की है। यह प्रावधान इसी सत्र से लागू होगा।

जिला स्तर की स्पर्धा में तीसरे चरण में आयोजित विकासखंड एवं नगरीय क्लस्टर स्तरीय प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागी एवं दल शामिल होंगे। इस प्रतियोगिता के समापन के बाद पांचवे चरण में संभाग स्तर पर स्पर्धा 10 सितंबर से 20 सितंबर तक और अंतिम में राज्य स्तरीय प्रतियोगिताएं 25 सितंबर से 27 सितंबर तक आयोजित होंगी। इस वर्ष छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की शुरूआत हरेली त्योहार के दिन 17 जुलाई से हुई। राजीव युवा मितान क्लब स्तर पर हुई पहले चरण की इस प्रतियोगिता का समापन 22 जुलाई का हुआ। दूसरे चरण में जोन स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन 26 जुलाई से 31 जुलाई तक एवं तीसरे चरण में विकासखंड व नगरीय क्लस्टर स्तर की प्रतियोगिताएं 18 अगस्त से 23 अगस्त तक आयोजित की गई थी।

छत्तीसगढ़ के 16 पारम्परिक खेल प्रतियोगिता दलीय व एकल दो श्रेणी में आयोजित की जा रही है। छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक में दलीय श्रेणी में गिल्ली डंडा, पिट्टूल, संखली, लंगड़ी दौड़, कबड्डी, खो-खो, रस्साकसी और बांटी (कंचा) जैसी खेल विधाएं शामिल की गई हैं। वहीं एकल श्रेणी की खेल विधा में बिल्लस, फुगड़ी, गेड़ी दौड़, भंवरा, 100 मीटर दौड़, लम्बी कूद, रस्सी कूद एवं कुश्ती शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *