Friday, June 21

जी-20 अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संरचना कार्य समूह की बैठक 30-31 जनवरी को चंडीगढ़ में

केंद्रीय कृषि मंत्री श्री तोमर और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री श्री पारस करेंगे उद्घाटन

नई दिल्ली (IMNB). भारत की अध्यक्षता में जी-20 के पहले अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संरचना कार्य समूह की बैठक 30-31 जनवरी 2023 को चंडीगढ़ में आयोजित की जाएगी। बैठक का उद्घाटन केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री श्री पशुपति कुमार पारस करेंगे। बैठक के लिए श्री तोमर आज शाम चंडीगढ़ पहुँचे, जहां उनका पंजाब और हरियाणा की सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ स्वागत किया गया।

 

अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संरचना कार्य समूह जी-20 वित्त ट्रैक के तहत महत्वपूर्ण कार्यधाराओं में से एक है, जो कि अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संरचना को मजबूत करने पर ध्यान केंद्रित रखता है। इसका उद्देश्य कमजोर देशों के सामने आने वाली विभिन्न चुनौतियों का समाधान करना भी होगा। दो दिवसीय बैठक में भाग लेने के लिए जी-20 के सदस्यों, आमंत्रित देशों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के लगभग 100 प्रतिनिधि चंडीगढ़ पहुंचेंगे। दो दिवसीय बैठक के दौरान चर्चा, संयुक्त रूप से वित्त मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा और साथ में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संरचना कार्य समूह के सह-अध्यक्षों, फ्रांस और दक्षिण कोरिया द्वारा संचालित की जाएगी।

बैठक में अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संरचना की स्थिरता और सामंजस्य को बढ़ाने के तरीकों और 21वीं सदी की वैश्विक चुनौतियों के समाधान के लिए इसे कैसे योग्य बनाया जाए, इस पर चर्चा होगी। बैठक में गरीब और कमजोर देशों को अधिकतम सहायता प्रदान करने के तरीके ढूँढने पर भी ध्यान दिया जाएगा। 30 जनवरी को जी-20 कार्य समूह की बैठक के मौके पर, ‘सेंट्रल बैंक डिजिटल मुद्राएं (सीबीडीसी): अवसर और चुनौतियां’ नामक जी-20 का एक कार्यक्रम भी आयोजित किया जाएगा। इस आयोजन का उद्देश्य देश के अनुभवों को साझा करना और सीबीडीसी के वृहत् यथोचित निहितार्थों की गहरी समझ विकसित करना है। इस बैठक से पहले, चंडीगढ़ में शहरभर में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं, जो भारत की अध्यक्षता के तहत जी-20 कार्यक्रमों में व्यापक ‘जन-भागीदारी’ और रुचि का संकेत देते हैं।

चंडीगढ़ में 25 जनवरी 2023 को “सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसीज: द इंडियन स्टोरी” पर एक संगोष्ठी भी आयोजित की गई। इन आयोजनों का उद्देश्य 2023 में भारत की जी-20 की अध्यक्षता और इसके विषयवस्तु “वसुधैव कुटुम्बकम” या “एक पृथ्वी – एक परिवार – एक भविष्य” के बारे में जागरूकता पैदा करना है।

भारत की जी-20 की अध्यक्षता के दौरान, यह कार्य समूह मार्च, जून और सितंबर में भारतीय अध्यक्षता के तहत निर्धारित प्राथमिकताओं पर चर्चा जारी रखने के लिए आगे बैठक करेगा। अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संरचना कार्य समूह की बैठक में हुई चर्चाओं से जी-20 वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों (एफएमसीबीजी) को भारत के जी-20 वित्त ट्रैक के तहत संबंधित प्राथमिकताओं पर प्रमुख विचार-विमर्श के बारे में सूचना प्राप्त होगी। जी-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंकों के गवर्नरों की पहली बैठक 24-25 फरवरी 2023 को बेंगलुरु में होने वाली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *