Sunday, March 3

डायरिया मरीजों को राहत देने स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर, 24 घंटे रखी जा रही निगरानी

दुर्ग 25 नवंबर 2022/भिलाई शहर के वृन्दानगर, जे.पी.नगर, शारदापारा और न्यू संतोषीपारा कैम्प क्षेत्र के आसपास डायरिया की स्थिति को देखते हुए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.पी. मेश्राम ने 60 ए.एन.एम., 11 सुपरवाईजर एवं 03 बीईटीओ, 25 मितानिनो की डयूटी लगाई गई है। प्रतिदिन ए.एन.एम. गृह भेंट दो पालियों ड्यूटी लगाई गई है जिन्हे वार्डवार डायरिया के मरीज को अस्पताल भेजने की व्यवस्था कर स्वस्थ्य शिक्षा एवं मामूली दस्त होने पर ओ.आर.एस. घोल बनाने की विधि एवं दवा वितरण करने कहा गया है।
कन्ट्रोल रूम की यू.पी.एच.सी. बैकुण्ठधाम में व्यवस्था की गई है। आपातकालीन नं. 0788-4230397 से संपर्क किया जा सकता हैं। अस्पताल में चौबीस घंटे चिकित्सा सुविधा उपलब्ध रहेगी।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला दुर्ग के आदेशानुसार नोडल अधिकारियों को विभिन्न कार्याे का प्रभारी बनाया गया है। रिपोर्टिग हेतु आईडीएसपी नोडल डॉ. एस. के. मेश्राम, शहरी हमर क्लीनिक के डॉक्टरों की डयूटी लगाई गई है। प्रबंधन हेतु डॉ एस. के जामगडे की ड्यूटी औषधि एवं अन्य सामग्री प्रबंधन हेतु डीपीएम श्री पद्माकर शिंदे, शासकीय व निजी संस्था की रिपोर्ट एकत्रित कर मुख्य चिकित्सा एवं स्वा. अधिकारी को करना सुश्री रितिका सोनवानी एपिडेमिलाजिस्ट की ड्यूटी लगाई गई है।
अस्पताल जहॉ मरीज भर्ती है-शहरी प्राथमिक स्वा. केन्द्र बैकुण्ठधाम भिलाई में, सिविल अस्पताल सुपेला भिलाई, पं.ज.ला.ने.चिकि.एवं अनु. केन्द्र सेक्टर 9 भिलाई, भिलाई नर्सिग होम भिलाई, जिला चिकित्सालय दुर्ग, अम्बे अस्पताल पावर हाउस भिलाई, बी. एम. शाह अस्पताल भिलाई इत्यादि। इनमें कुल 91 मरीज भर्ती हुए उनमें से अब तक 21 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *