Sunday, March 3

ऐतिहासिक भागीदारी: भारतीय सांकेतिक भाषा अनुसंधान एवं प्रशिक्षण केन्द्र

 (आईएसएलआरटीसी) और राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 समारोह के तीसरे वर्ष पर भारतीय सांकेतिक भाषा के साथ बधिर शिक्षा में क्रांति लाने के लिए एकजुट हुए

New Delhi (IMNB).आईएसएलआरटीसी ने 29 जुलाई 2023 को भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (आईटीपीओ), प्रगति मैदान, नयी दिल्ली में एनईपी 2020 समारोह के तीसरे वर्ष और दूसरे अखिल भारतीय शिक्षा संगम के अवसर पर विशेषज्ञता और संसाधनों को साझा करने के साथ-साथ भारतीय सांकेतिक भाषा में गुणवत्तापूर्ण शिक्षण संसाधनों के सह-विकास के लिए एनआईओएस के साथ समझौता ज्ञापन(एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग (डीईपीडब्ल्यूडी) के सचिव राजेश अग्रवाल एवं एनआईओएस की अध्यक्ष प्रो सरोज शर्मा के निर्देश पर आईएसएलआरटीसी और एनआईओएस ने कई क्षेत्रों में एक साथ कार्य करने की योजना बनाई है। इन क्षेत्रों में भारतीय सांकेतिक भाषा में सीखने की सामग्री की समीक्षा की प्रक्रिया को डिजाइन करना और विकसित करना, परीक्षा के लिए एक सुचारू प्रक्रिया विकसित करना, बधिरों और कम सुनने वालों का मूल्यांकन, चयनित क्षेत्रों में भारतीय सांकेतिक भाषा की मानकीकरण प्रक्रिया के लिए आईएसएलआरटीसी की विशेषज्ञता और संसाधनों को साझा करना आदि शामिल हैं।

 

A group of people standing in a roomDescription automatically generated
एनआईओएस ने 2021 में माध्यमिक स्तर पर भारतीय सांकेतिक भाषा (आईएसएल) को एक भाषा विषय के रूप में पेश किया और आईएसएलआरटीसी को श्रवण बाधित बच्चों की परीक्षा और मूल्यांकन करने में योगदान दिया है। एनआईओएस वरिष्ठ माध्यमिक स्तर पर भी आईएसएल को एक भाषा विषय के रूप में शुरू करने पर काम कर रहा है । आईएसएलआरटीसी के संकाय इसके लिए सामग्री की समीक्षा और लेखन में योगदान दे रहे हैं।
इसके अलावा एनआईओएस आईएसएल सामग्री विकास में विशेषज्ञता और संसाधनों को साझा करने के लिए आईएसएलआरटीसी के साथ सहयोग करना चाहता है। एनआईओएस विशेष रूप से विज्ञान , प्रौद्योगिकी , इंजीनियरिंग और गणित (एसटीईएम) विषयों में और आईएसएल के प्रशिक्षण, प्रचार, मूल्यांकन और मानकीकरण प्रक्रिया के उद्देश्य से भी सहयोग करना चाहता है।

A group of people standing around a tableDescription automatically generated

 

डीईपीडब्ल्यूडी के संयुक्त सचिव राजेश यादव और आईएसएलआरटीसी की कार्यकारी परिषद के अध्यक्ष के निर्देश के अनुरुप एवं समझौता ज्ञापन को अंतिम रूप देने के लिए एक बैठक आयोजित की गई। आईएसएलआरटीसी के निदेशक मृत्युंजय झा और उप सचिव डीईपीडब्ल्यूडी के उप सचिव ने 18 जुलाई, 2023 को आईएसएलआरटीसी और एनआईओएस के बीच सहयोग के संभावित क्षेत्र के संबंध में एनआईओएस के अधिकारियों के साथ बैठक की और एमओयू को अंतिम रूप दिया। बैठक में आईएसएल में सामग्री की समीक्षा और परीक्षा पद्धति से संबंधित बिंदुओं पर चर्चा की गई है ।
केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री श्रीमती अन्नपूर्णा देवी की उपस्थिति में डॉ. सुभाष सरकारंद, डॉ. राजकुमार रंजन सिंह ने 29.07.2023 को आईटीपीओ, प्रगति मैदान, नयी दिल्ली में आईएसएलआरटीसी और एनआईओएस ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।

……
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *