Friday, June 21

अर्थ-व्यवस्था में चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की अहम भूमिका : राज्यपाल  मंगुभाई पटेल

राज्यपाल श्री पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के कार्यक्रम में हुए शामिल

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा है कि चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की अर्थ-व्यवस्था में अहम भूमिका होती है। अर्थ-व्यवस्था की शुद्धता और कल्याणकारी स्वरूप में चार्टर्ड अकाउंटेंट का योगदान महत्वपूर्ण होता है। राज्यपाल श्री पटेल आज समन्वय भवन में इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।    

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि हमारे गणतंत्र की पवित्र संस्था संसद ने बही खातो की जाँच और ऑडिट करने का अधिकार सिर्फ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को दिया है। एक तरह से उन्हें समाज के सबसे कमजोर और वंचित वर्गों के संरक्षक की महत्वपूर्ण जवाबदारी दी है। राज्यपाल ने कहा कि  चार्टर्ड अकाउंटेंटस की दक्षता उसके उद्देश्य के औचित्य की बुद्धिमत्ता, निष्ठा और मितव्ययिता के विभिन्न पहलुओं के आधार पर परीक्षण करने तक सीमित नहीं है।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि राष्ट्र निर्माण में बड़े स्तर पर टैक्स, केपिटल और बजट प्लानिंग एवं फाइनेंसिंग अकाउंटिंग बुक्स तैयार करने से संबंधित विभिन्न विषयों को सही दिशा प्रदान करने में ही चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की वित्तीय विशेषज्ञता की सार्थकता है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय संसाधनों का गरीब और वंचित वर्गों के कल्याण में सही ढंग से उपयोग सुनिश्चित करना चार्टर्ड अकाउंटेंट्स का दायित्व है।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि ऑडिट के कठोर मानकों का पालन सावधानी से किया जाए। इसी प्रकार वित्तीय बाजार लेन-देन को विश्वसनीयता प्रदान करने में चार्टर्ड एकाउंटेंटस की भूमिका निर्णायक होती है, क्योंकि बाजार, सहभागी, निवेशक और शेयरधारक उच्च गुणवत्ता वाली जानकारी के लिए चार्टर्ड एकाउंटेंटस की ओर ही देखते हैं।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि देश के सबसे स्वच्छ राज्य मध्यप्रदेश और स्वच्छ संवहनीय राजधानी 2022 अवार्ड विजेता भोपाल नगर में सभी का स्वागत है। उन्होंने आशा की कि भोपाल के भौगोलिक सौंदर्य ने सभी को प्रभावित किया होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *