Friday, June 21

वेल्स के खिलाफ ‘करो या मरो’ के मैच में उतरेगी भारत, जानें क्वार्टरफाइनल में पहुंचने के क्या है समीकरण

India vs Wales: भारत में खेले जा रहे हॉकी वर्ल्ड कप लीग स्टेज के मैच अब समाप्त होने वाले हैं और क्वार्टर फाइनल की रेस रोमांचक होती नजर आ रही है।

India vs Wales: भारत में खेले जा रहे हॉकी वर्ल्ड कप में लीग स्टेज के मैच अब समाप्त होने वाले हैं और क्वार्टर फाइनल की रेस रोमांचक होती नजर आ रही है। भारत की बात करें तो टीम ने अब तक इस टूर्नामेंट में 2 मैच खेले हैं जिसमें एक में उसे जीत हासिल हुई है वहीं दूसरा मैच ड्रॉ रहा है। टीम का अगला मैच वेल्स के खिलाफ खेला जाएगा। ये मैच भारत के लिए करो या मरो का होगा और अगर टीम इसमें हार जाती है तो उसका वर्ल्ड कप में सफर समाप्त हो सकता है।

भारत के लिए क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के क्या है समीकरण?

हॉकी वर्ल्ड कप 2023 में भारत को ग्रूप डी में इंग्लैंड, वेल्स और स्पेन के साथ रखा गया है। इस ग्रूप से दो टीमें क्वार्टरफाइनल के लिए क्वालिफाई करेंगी। भारत फिलहाल दूसरे नंबर पर है। टीम इंडिया के अभी 4 प्वाइंट है। इंग्लैंड के भी चार अंक ही है लेकिन वह गोल डिफ्रेंस ज्यादा होने के चलते टॉप पर है। अगर भारत वेल्स के खिलाफ मैच जीत जाती है तो उसके 6 प्वाइंट हो जाएंगे और टीम सीधे क्वार्टरफाइनल में जगह बना लेगी।

वेल्स के खिलाफ मैच हारने पर भी कैसे क्वालिफाई कर सकती है भारत ?

वेल्स के खिलाफ 19 जनवरी 2023 को खेले जाने वाले मैच में अगर भारतीय टीम को हार जाती है तो उसके लिए क्वार्टर फाइनल की राह बेहद मुश्किल हो सकती है। हारने के बाद भारत की किस्मत इंग्लैंड और वेल्स के मैच के नतीजे पर निर्भर होगी जो कि भारत और वेल्स के मैच से पहले खेला जाएगा। अगर इस मैच में इंग्लैंड स्पेन को बड़े अंतर से हरा देती है और भारत वेल्स से मामूली गोल डिफ्रेंस से जीत हासिल करती है तो स्पेन तीन अंको पर ही रह जाएगी और भारत आसानी से क्वालिफाई कर जाएगी।

IND vs Wales का मैच ड्रॉ होने पर क्या है भारत के लिए क्वालिफाई करने के समीकरण

अगर भारत और वेल्स का मैच ड्रॉ हो जाता है तो भारत चाहेगा की इंग्लैंड और स्पेन का मैच भी ड्रॉ हो जाए या फिर इंग्लैंड जीत जाए। अगर दोनों मैच ड्रॉ हो जाते हैं तो स्पेन के 4 अंक हो जाएंगे वहीं भारत के 5 अंक हो जाएंगे और टीम क्वालिफाई कर जाएगी। हालांकि अगर स्पेन ने इंग्लैंड को हरा दिया तो भारत को बाहर जाना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *