Friday, February 23

खेल दिवस पर जेएसपी फाउंडेशन ने दी अत्याधुनिक स्टेडियम की सौगात — रायगढ़ स्टेडियम का जेएसपी फाउंडेशन ने कराया जीर्णोद्धार और उन्नयन

 

खेल दिवस पर जेएसपी फाउंडेशन ने दी अत्याधुनिक स्टेडियम की सौगात

— रायगढ़ स्टेडियम का जेएसपी फाउंडेशन ने कराया जीर्णोद्धार और उन्नयन
— अत्याधुनिक सुविधाएं मिलेंगी खिलाड़ियों को
— खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल ने किया लोकार्पण
— पशुओं के लिए जेएसपी फाउंडेशन द्वारा विशेष एंबुलेंस सेवा को भी दिखाई हरी झंडी

रायपुर 30-08-2023
खेल दिवस के अवसर पर रायगढ़ को बड़ी सौगात मिली है। बोईरदादर स्थित रायगढ़ स्टेडियम का जेएसपी फाउंडेशन द्वारा लगभग 2.50 करोड़ रूपये की लागत से जीर्णोद्धार और उन्नयन कराया गया है। कायाकल्प के बाद नई रंगत में स्टेडियम का लोकार्पण खेल दिवस के अवसर पर प्रदेश के खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल ने किया। अब स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय स्तर के बैडमिंटन कोर्ट, बास्केटबॉल कोर्ट, अत्याधुनिक जिम, मल्टीपरपज हॉल और पवेलियन की सुविधा मिलेगी। टेबल टेनिस, स्विमिंग सहित अन्य खेलों के लिए भी नई सुविधाएं यहां मिलेंगी। इससे अंचल के खिलाड़ियों को बेहतर संसाधन उपलब्ध हो सकेंगे। उद्घाटन समारोह में विधायक प्रकाश नायक, कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा, पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार, जिला पंचायत सीईओ जितेन्द्र यादव, नगर निगम कमिश्नर सुनील कुमार चंद्रवंशी, जेएसपी के कार्यपालन निदेशक सब्यसाची बंद्योपाध्याय एवं जिंदल लेडिज क्लब की अध्यक्षा श्रीमती अनंदिता बंद्योपाध्याय विशेष रूप से उपस्थित रहे। समारोह के अंत में जिले का नाम अंतर्राष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर पर रोशन करने वाले विभिन्न खेलों के खिलाड़ियों का सम्मान किया गया।
जेएसपी फाउंडेशन हमेशा से ही अंचल के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्धता के साथ जुटा हुआ है। इसमें खेलों और खिलाड़ियों के लिए उचित संसाधन और सुविधाएं उपलब्ध कराना भी शामिल है। बोईरदादर स्थित रायगढ़ स्टेडियम अंचल के खिलाड़ियों एवं खेल प्रेमियों के साथ पूरे शहरवासियों के लिए खेल गतिविधियों का महत्वपूर्ण केंद्र रहा है। इस स्टेडियम में पहले से उपलब्ध सुविधाओं के जीर्णोद्धार और नई सुविधाएं विकसित करने के उद्देश्य से कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा ने जिंदल स्टील एंड पॉवर को सीएसआर के तहत जिम्मेदारी दी थी। कंपनी ने अपनी सीएसआर इकाई जेएसपी फाउंडेशन के माध्यम से काम शुरू किया और करीब दो महीने में ही इस काम को पूरा कर लिया गया। खेल दिवस के अवसर पर इसके लोकार्पण समारोह का आयोजन किया गया।
समारोह के मुख्य अतिथि खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल ने इस अवसर पर कहा कि “वर्ष 2018 में जब मुझे खेल विभाग की जिम्मेदारी मिली, तब पूरे प्रदेश में सिर्फ 2 खेल अकादमी ही अस्तित्व में थीं और वह भी चल नहीं रही थी। आज चार वर्षों में प्रदेश में 24 एक्सीलेंस सेंटर और 9 बोर्डिंग एवं रेसिडेंशियल सेंटर संचालित हैं। 7 सेंटर पाइप लाइन में हैं। इस तरह कुल 40 केंद्र तैयार हैं। पहले हमने हर जिले में एक अकादमी के निर्माण का लक्ष्य रखा था, लेकिन इंफ्रास्ट्रक्चर बढ़ाते हुए हमने एक जिले में एक से अधिक अकादमी की सुविधा भी जरूरत के अनुसार विकसित कर दी।”
श्री पटेल ने कहा कि “आज रायगढ़ स्टेडियम पूरी तरह नए स्वरूप में नजर आ रहा है। मैंने आज यहां नवनिर्मित जिम, बैडमिंटन कोर्ट, बास्केटबॉल कोर्ट, टेबल टेनिस कोर्ट, मल्टीपरपज हॉल सहित पूरे स्टेडियम को देखा। इस कार्य के लिए जेएसपी फाउंडेशन और रायगढ़ कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य में स्टेडियम में और भी सुविधाएं विकसित करनी हैं।” उन्होंने परिसर में खिलाड़ियों के लिए स्केटिंग रिंग का भी निर्माण कराने का अनुरोध जेएसपी फाउंडेशन से किया।
विधायक श्री नायक ने अपने उद्बोधन में कहा कि “मैंने खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री पटेल से अनुरोध किया था कि रायगढ़ स्टेडियम में खेल सुविधाओं के उन्नयन की आवश्यकता है। इस पर उन्होंने जल्द ही यहां सर्वसुविधायुक्त स्टेडियम बनाने का आश्वासन दिया था। उन्होंने जिला प्रशासन और जेएसपी फाउंडेशन से इस संबंध में चर्चा की। जेएसपी फाउंडेशन ने 2.50 करोड़ रुपये की लागत से पूरी तत्परता से यहां सभी जरूरी सुविधाओं का निर्माण पूरा कर दिया। अब यह स्टेडियम सभी आवश्यक सुविधाओं से परिपूर्ण है और खिलाड़ियों के लिए अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध है।” श्री नायक ने इसके लिए खेल मंत्री, जिला कलेक्टर और जेएसपी फाउंडेशन का आभार जताया। उन्होंने उम्मीद जताई कि भविष्य में भी जेएसपी फाउंडेशन द्वारा इसी तरह अंचल के विकास में योगदान जारी रहेगा।
कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा ने कहा कि “पूरे प्रदेश में खेलों का जबरदस्त माहौल बना है। खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए अनेक कार्य हो रहे हैं। जिलों में नई खेल अकादमियां खुल रही हैं। रायगढ़ स्टेडियम के जीर्णोद्धार का काम भी हमने जेएसपी फाउंडेशन के माध्यम से किया है।
यह बेहद खुशी की बात है कि कंपनी ने दो महीनों के भीतर ही इतने कम समय में, इतनी तेजी से और इतनी अच्छी क्वालिटी का काम कर दिखाया। इसके लिए जेएसपी फाउंडेशन की टीम और जेएसपी प्रबंधन का धन्यवाद।
हम प्रयास कर रहे हैं कि सीएसआर फंड का सदुपयोग पूरी पारदर्शिता के साथ जिले के विकास के लिए किया जा सके। रायगढ़ स्टेडियम का जीर्णोद्धार भी इसका एक उदाहरण है। जेएसपी फाउंडेशन द्वारा रायगढ़ स्टेडियम के उन्नयन के साथ ही शहर की एक बड़ी समस्या चक्रपथ पर रिटेनिंग वाल बनाकर इसकी ऊंचाई बढ़ाने का काम भी किया जा रहा है। शहर में और भी अनेक विकास कार्य जेएसपी फाउंडेशन के माध्यम से जारी हैंं।” उन्होंने इन सभी के लिए जेएसपी फाउंडेशन का आभार जताया।
इस अवसर पर जिंदल स्टील एंड पॉवर के कार्यपालन निदेशक सब्यसाची बंद्योपाध्याय ने जेएसपी फाउंडेशन की ओर से सभी का कार्यक्रम में स्वागत किया। उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि “खेल दिवस के अवसर पर रायगढ़ शहर में अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं वाले स्टेडियम का लोकार्पण सभी के लिए बेहद गर्व की बात है।” उन्होंने कहा कि “करीब दो महीने पहले कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा जी ने एक मीटिंग में रायगढ़ में स्पोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप करने की उम्मीद के साथ जेएसपी को यह जिम्मेदारी सौंपी थी। हम सभी को पता है कि जिंदल स्टील एंड पॉवर के चेयरमैन नवीन जिंदल खुद एक इंटरनेशनल खिलाड़ी रह चुके हैं। वे शानदार खेल प्रेमी और फिटनेस एंथुजिएस्‍ट हैं। रायगढ़ से उनका खास लगाव है। जेएसपी फाउंडेशन ने यह जिम्मेदारी ली। अब यहां शानदार बैडमिंटन कोर्ट, बॉस्केटबॉल कोर्ट, मल्टीपरपज हॉल, जिम, पवेलियन सहित अनेक खेल सुविधाएं उपलब्ध हैं।” उन्होंने कहा कि एक ही परिसर में इस स्तर की सुविधाएं छत्तीसगढ़ ही नहीं, बल्कि देश के भी चुनिंदा शहरों में ही उपलब्ध होंगी। हमारा रायगढ़ भी उन शहरों में से एक बन गया है।” श्री बंद्योपाध्याय ने कहा कि “जेएसपी फाउंडेशन समाज के सभी वर्गों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के लिए देशभर में बहुआयामी परियोजनाओं पर काम कर रहा है। चेयरपर्सन श्रीमती शालू जिंदल के नेतृत्व में जेएसपी फाउंडेशन ने देशभर में 1 करोड़ से अधिक लोगों का जीवन स्तर बेहतर बनाया है। रायगढ़ में ही वर्तमान में लगभग 6 करोड़ रूपये से अधिक की लागत से अनेक प्रोजेक्ट्स पर काम जारी है। इनमें रायगढ़ स्टेडियम के साथ ही चक्रपथ, रेलवे अंडरब्रिज, पिंक टायलेट्स, डस्ट बिन इंस्टॉलेशन सहित अनेक काम शामिल हैं।” नगर निगम कमिश्नर श्री चंद्रवंशी ने आभार प्रदर्शन किया। इससे पहले खेल दिवस के अवसर पर रायगढ़ स्टेडियम में हॉकी स्पर्धा का आयोजन किया गया था। इसमें चार टीमों ने हिस्सा लिया। स्पर्धा में ओपी जिंदल स्कूल रायगढ़ की टीम विजयी रही। अतिथियों ने विजेता टीम को प्रिंसिपल आर.के. त्रिवेदी की उपस्थिति में पुरस्कृत किया। इस दौरान स्टेडियम में जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता, खिलाड़ी, खेल संघों के प्रतिनिधि और गणमान्य नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

देश—विदेश में नाम रोशन करने वाले जिले के खिलाड़ियों का सम्मान
समारोह के दौरान खेलों के क्षेत्र में अपने योगदान से देश—विदेश में नाम रोशन करने वाले रायगढ़ जिले के वरिष्ठ खिलाड़ियों का सम्मान भी किया गया। इसमें हॉकी विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले विन्सेंट लकड़ा, महिला हॉकी की राष्ट्रीय खिलाड़ी श्रीमती आशा त्रिपाठी, बॉक्सिंग में प्रेम किशोर प्रधान, फुटबॉल—हॉकी और एथलेटिक्स में मुकेश चटर्जी, कबड्डी में राजेश पटनायक, बैडमिंटन में उपेन्द्र सिंह ठाकुर, टेबल टेनिस में विनोद अग्रवाल, कुश्ती में बलबीर शर्मा, हॉकी में अलेक्जेण्डर टोपनो, फुटबॉल में जेम्स वर्गीज, बास्केटबॉल में विनीत पांडेय और क्रिकेट में पंकज बोहिदार को सम्मानित किया गया।

पशुओं के लिए जेएसपी फाउंडेशन की विशेष एंबुलेंस
जेएसपी फाउंडेशन द्वारा ‘जिंदल वेट सेवा’ नाम से पशुओं के लिए विशेष एंबुलेंस सेवा की शुरूआत की गयी है। इसे खेल एवं युवा कल्याण मंत्री उमेश पटेल, विधायक प्रकाश नायक एवं अन्य अतिथियों ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस सर्वसुविधायुक्त वाहन के माध्यम से पूरे रायगढ़ ब्लॉक में पशुओं की नियमित स्वास्थ्य जांच, इलाज, वैक्सीनेशन आदि की व्यवस्था होगी। कृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से पशुओं की नस्ल सुधारने में भी इससे बड़ी मदद मिलेगी। इससे सीधे तौर पर पशुपालकों को फायदा मिलेगा। जेएसपी फाउंडेशन द्वारा पहले ही गोवर्धन क्रांति योजना के माध्यम से गांव—गांव में पहुंचकर कृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से पशुओं की नस्ल सुधारने का प्रयास किया जा रहा है। शासन के मानदंडों के अनुसार आवारा पशुओं के लिए आवश्यक बधियाकरण में भी इस एंबुलेंस से मदद मिलेगी। अनुभवी पशु चिकित्सकों एवं पैरा मेडिकल स्टाफ के साथ यह एंबुलेंस नियमित तौर पर पूरे क्षेत्र का भ्रमण करेगी और अधिक से अधिक पशुओं तक इसका लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। एक दिन पहले ही ओडिशा के अंगुल में भी ‘जिंदल वेट सेवा’ की विशेष एंबुलेंस सेवा की शुरूआत की गई थी।
इस संबंध में जेएसपी के चेयरमैन नवीन जिंदल ने अपने संदेश में कहा कि “जेएसपी फाउंडेशन ने अपनी कार्य योजना में पशुपालन को शामिल करके एक बड़ा कदम उठाया है। स्थापना के बाद से जेएसपी फाउंडेशन कृषक परिवारों की आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने के साथ उनके घरेलू पशुधन संसाधनों के लिए जागरूकता और देखभाल को बढ़ावा देने के लिए समर्पित रहा है। कृत्रिम गर्भाधान की नवीनतम तकनीक के माध्यम से मवेशियों की नस्ल को उन्नत करने में भी मदद मिलेगी और सड़कों से आवारा मवेशियों की संख्या कम होगी।”
जेएसपी फाउंडेशन की चेयरपर्सन श्रीमती शालू जिंदल ने कहा कि “अपने वैदिक दर्शन के अनुरूप हम वसुधैव कुटुंबकम में विश्वास करते हैं। हम अपनी सामाजिक जिम्मेदारी संपूर्ण जैव विविधता की रक्षा और पोषण पर केंद्रित करते हैं, जिसमें पेड़ और जानवर भी महत्वपूर्ण घटक हैं। जिंदल वेट सेवा के माध्यम से पशु चिकित्सा विशेषज्ञों की हमारी टीम न केवल चिकित्सा विशेषज्ञता लाती है बल्कि एक दयालु दृष्टिकोण भी लाती है, जो जानवरों की सुविधा और सुरक्षा को सुनिश्चित करती है। मोबाइल पशु चिकित्सा एम्बुलेंस पशुपालकों और पशु प्रेमियों के लिए पशु चिकित्सा सेवाओं को अधिक सुलभ और सुविधाजनक बनाने की दिशा में एक कदम है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *