Friday, February 23

कांग्रेस का एक ही लक्ष्य “अब नहीं छोड़बों सबों कोती बटोरबों” : कौशिक

 

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल हमेशा से भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने काम किया है।*

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कांग्रेस के भ्रष्टाचारों की सूची बताते हुए प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ मे कांग्रेस सरकार चलाचली बेला में है और कांग्रेस के नेता अर्श से लेकर फर्श तक पैसा समेटने में लगे हैँ। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपना आपा खोकर अनगर्ल बाते करते हैं किन्तु उनके शासन काल में हो रहे तमाम भ्रष्टाचारों के विषय में मौन रहते हैं और उन सभी घोटालों पर पर्दा डालने का काम करते है। वहीं दूसरी ओर प्रदेश के मंत्री गण लाखों करोड़ों रु के घोटाला पर घोटाला कर रहें है। पिछले पाँच सालों में ठगेश सरकार के संरक्षण में हज़ारों करोड़ रूपए के घोटाले हुए हैं जिनमें चावल, गोठान, शराब, PSC और कोयला घोटाला प्रमुख है। जिस पर पुरी किताब लिखी जा सकती है। शराबबंदी का वादा कर सत्ता में आने वाली कांग्रेस सरकार ने शराब की होम डिलीवरी तो शुरू की ही, साथ ही 2000 हजार करोड़ का शराब घोटाला भी कर लिया जिस पर मुख्यमंत्री ने एक शब्द नहीं कहा?

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कौशिक ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के चावल में पांच हजार करोड़ से अधिक का घोटाला हुआ। साथ ही पीडीएस के चावल में भी हजार करोड़ का घोटाला। सरकार केंद्रीय पूल में भी आठ लाख टन चावल गबन कर लिया। भ्रष्टाचार में आकंठ तक डुबी कांग्रेस सरकार ने गौ-माता तक को नहीं बख्शा। प्रदेश में गोठान बनाने के नाम पर करोड़ों का ग़बन किया और गोमाता को मरने के लिए छोड़ दिया। आज सैकड़ों गौ-माताओं की मौत हो रही पर इस सरकार के कानों मे जूँ तक नहीं रेंग रहा है। कौशिक ने कहा कि कोयला माइनिंग में गेट पास को ऑनलाइन से ऑफलाइन कर 25 रूपए प्रति टन के हिसाब से की अवैध वसूली कर रही है। छत्तीसगढ़ डीएमएफ फंड में जमकर कमीशन खोरी हुई है और कांग्रेसी सिस्टम द्वारा ट्रांसफ़र-पोस्टिंग उद्योग चलाया गया। इस विषय पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक शब्द नहीं कहते है। कांग्रेस के इन्हीं यह भ्रष्टचार और घोटालों की सूची ही कांग्रेस के अंत का काल बनेगी। प्रदेश की जनता का कांग्रेस सरकार पर आक्रोश बताता है कि जनता ने तय कर लिया कांग्रेस सरकार को सत्ता कम उखाड़ फेकने का।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *