Saturday, May 18

कोरबा : ग्रामीण क्षेत्रो में स्वीप की गतिविधियां निरंतर जारी

रैली, नारा-लेखन, मेहंदी, रंगोली, पोस्टर निर्माण आदि के माध्यम से मतदाताओं को किया जा रहा जागरूक

कोरबा 1 मई 2024/  कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अजीत वसंत के निर्देशन एवं स्वीप नोडल अधिकारी श्री संबित मिश्रा सीईओ मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत के मार्गदर्शन में लोकसभा निर्वाचन 2024 के दौरान शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में युवा, महिला, पुरूष सहित स्कूल-कॉलेजों के छात्र-छात्राओं द्वारा लोगों को मतदान के प्रति जागरूक करने हेतु नुक्कड़-नाटक, रैली, नारा-लेखन, निबंध, भाषण, मेहंदी प्रतियोगिता, पोस्टर निर्माण जैसे अनेक कार्यक्रमों के माध्यम से शत-प्रतिशत मतदाताओं को जागरूक किया जा रहा है।
इसी कड़ी में जनपद पंचायत कटघोरा में स्कूली छात्र-छात्राओं, शिक्षक-शिाक्षिकाओं सहित ग्रामीणों ने गांव में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम के तहत जागरूकता रैली निकालकर अनिवार्य मतदान का संदेश दिया। ग्राम पंचायत मलगांव, छुरीखुर्द एवं छिंदपुर ग्रामीण महिला-पुरूषों के द्वारा मतदान जागरूकता रैली निकालकर शत-प्रतिशत मतदान के लिए ग्रामीणों को प्रेरित किया।
विगत दिवस स्वीप कार्यक्रम अन्तर्गत विकासखंड पोड़ी उपरोड़ा के समस्त पंचायतो मे एनआरएलएम कैडर, ग्रामीण क्षेत्र के आमजन, समस्त सचिव और जनपद पंचायत पोड़ी उपरोड़ा के स्टॉफ के द्वारा पोड़ी उपरोड़ा विकास खण्ड स्तरीय मतदाता जन-जागरूकता हेतु दीप प्रज्ज्वलित किया गया। इसके साथ ही ’स्वीप एवं मतदान करें’, आदि शब्दों को दीपमाला से सजाया गया। हल्दी और चांवल लेकर घर-घर जाकर मतदान हेतु जनसामान्य को मतदान करने हेतु अपील की गई। गांवों में विभिन्न स्थानों पर रंगोली बना कर शत प्रतिशत मतदान करने का संदेश दिया। जिला आयुर्वेद अधिकारी एवं स्टाफ के द्वारा मतदाता जागरूकता के तहत 07 मई को पहले मतदान फिर जलपान का संदेश देकर मतदाताओं का जागरूक किया गया। शासकीय हाईस्कूल लाद में छात्र-छात्राओं के द्वारा मतदाता जागरूकता के लिए रंगोली बनाई गई तथा गांव में रैली निकालकर ग्रामीण मतदाताओं को जागरूक किया गया।

ग्रामीण मतदाताओं को दिलाई मतदान करने की शपथ :
मतदाता जागरूकता अभियान के तहत ग्रामीणों को शत-प्रतिशत मतदान करने के लिए गांव में षपथ दिलाई गई कि “हम, भारत के नागरिक, लोकतंत्र में अपनी पूर्ण आस्था रखते हुए यह शपथ लेते है कि हम अपने देश की लोकतांत्रिक परम्पराओं की मर्यादा को बनाएं रखेंगे तथा स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्ण रखते हुए, निर्भीक होकर धर्म, वर्ग, जाति, समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना सभी निर्वाचनों मे अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।” कार्यक्रम के दौरान ग्रामीणजन, महिला समूह, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका, मितानिनों आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *