Thursday, June 20

स्वच्छता की तरह प्रवासी भारतीय सम्मेलन और इन्वेस्टर्स समिट के आयोजन में भी इंदौर नंबर वन रहेगा – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

प्रवासी भारतीय सम्मेलन और इन्वेस्टर्स समिट पूरे शहर और समाज की सहभागिता का बनेगा आयोजन – केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री श्री मुरलीधरन
मुख्यमंत्री श्री चौहान और केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री श्री मुरलीधरन ने प्रवासी भारतीय दिवस तथा ग्लोबल इन्वेस्टर समिट की तैयारियों की समीक्षा की

भोपाल (IMNB)

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज इंदौर के ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में 17वें प्रवासी भारतीय दिवस समागम एवं इन्वेस्टर्स समिट को लेकर चल रही तैयारियों की समीक्षा की। केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री श्री वी. मुरलीधरन भी विशेष रूप से मौजूद थे।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भारतीय संस्कृति में अतिथियों को देवतुल्य माना गया है। इसी परम्परा का निर्वहन करते हुए अतिथियों का स्वागत-सत्कार किया जाये। उनके स्वागत-सत्कार में किसी भी तरह की कमी नहीं रखी जाये। किसी भी अतिथि को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। प्रवासी भारतीय सम्मेलन एवं इन्वेस्टर समिट अविस्मरणीय और यादगार बने। अतिथि ऐसी यादें लेकर जाएँ जो हमेशा उनके दिल और दिमाग में रहे। जिस तरह इंदौर स्वच्छता में नंबर वन है, उसी तरह इस आयोजन में भी इंदौर नंबर वन बने। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आयोजन की स्मृतियों को चिरस्थायी बनाये रखने के लिये इंदौर में ग्लोबल गार्डन विकसित किया जाये। इसमें आने वाले सभी अतिथियों से वृक्षा-रोपण कराया जाये। ऐसे पौधों का रोपण हो जो वर्षों तक जीवित रहें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आयोजन से जुड़ी विभिन्न व्यवस्थाओं और आयोजन के दौरान होने वाली गतिविधियों की समीक्षा की। उन्होंने अतिथियों के आवास, परिवहन, भोजन आदि के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि माइक्रो प्लानिंग बना कर व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दिया जाये। अतिथियों के ठहरने के स्थान का पूर्व निरीक्षण कर सभी व्यवस्थाएँ पर्याप्त हो। एयरपोर्ट पर महत्वपूर्ण अतिथियों, अति महत्वपूर्ण अतिथियों तथा अन्य अतिथियों का परम्परागत रूप से स्वागत-सत्कार किया जाये। एयरपोर्ट पर आने वाले प्रत्येक अतिथि के साथ एक सहयोगी की व्यवस्था हो। एयरपोर्ट पर आते ही उन्हें सभी जरूरी सुविधाएँ समय पर मिल जायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अतिथियों की सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाये। यह सुनिश्चित किया जाये कि आयोजन के दौरान शहर में किसी भी तरह की अप्रिय घटना नहीं हो। पूरी सावधानी एवं सतर्कता बरती जाये। यह आयोजन इंदौर और मध्यप्रदेश के सम्मान का आयोजन है। उन्होंने कहा कि आयोजन के दौरान हिन्दी का पर्याप्त उपयोग हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आने वाले अतिथियों को इंदौर की स्वच्छता की जानकारी देने के निर्देश भी दिये।

केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री श्री मुरलीधरन ने बैठक के पूर्व आयोजन स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने आयोजन के लिये की जा रही तैयारियों और व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि यहाँ उल्लेखनीय कार्य हो रहे हैं। आयोजन निश्चित रूप से सफल होगा। उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है कि इस आयोजन में पूरे शहर और समाज की सहभागिता है। राज्य मंत्री श्री मुरलीधरन ने कि आयोजन के दौरान भोजन व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाए। भोजन की ऐसी माकूल व्यवस्था रहे, जिससे अतिथियों को कोई असुविधा न हो। उन्होंने बैठक के पूर्व अधिकारियों के साथ आयोजन स्थल पर की जा रही तैयारियों का निरीक्षण भी किया।

संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, पुलिस आयुक्त श्री हरिनारायणचारी मिश्र तथा नगर निगम आयुक्त श्रीमती प्रतिभा पाल ने आयोजन से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों, व्यवस्थाओं और की जा रही तैयारियों की विस्तार से जानकारी दी।

इंदौर जिले के प्रभारी तथा गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र, जल संसाधन मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सुश्री उषा ठाकुर, औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन, सांसद श्री वी.डी. शर्मा, सांसद श्री शंकर लालवानी, महापौर श्री पुष्यमित्र भार्गव, इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री जयपाल सिंह चावड़ा, विधायकगण सहित आयोजन की विभिन्न व्यवस्थाओं से जुड़े अधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *