Thursday, June 20

मेरे बेटी मंजु रजक को प्रशासन तंत्र की गलती से पिछले 5 वर्षो से गुगी बन गयी जिम्मदार कौन – पिता टामेश्वर रजक

केशकाल – जिला कोण्डागांव अन्तर्गत अन्तिम विकासखण्ड केशकाल के आधीन पुलिस थाना धनोरा के आश्रित ग्राम एवं पंचायत कोरकोटटी के धोबी परिवार से गरीब किसान टामेश्वर रजक पिता श्री चरकू राम रजक के ज्येष्ट पुत्री कुमारी मंजु रजक सन् 1917 में शा. हाई. स्कूल धनोरा में कक्षा 9वीं की छात्रा थी। इन्होंने कन्या आश्रम धनोरा में रहकर पढ़ाई करते समय अचानक बुखार होने पर आश्रम अधिक्षिका द्वारा मरीज कु. मंजु  रजक को इलाज कराने हेतु शासकीय अस्पताल धनोरा ले जाया गया वहा डॉक्टर द्वारा खून की जाँच करकर मलेरिया की गोली दिया गया तत्पश्चात दवाई लेकर आश्रम चली गयी। यहां पहुँकर दवाई के सेवन से भी ठीक नही होने के साथतबियत ज्यादा बिगड़ने पर इसकी जानकारी आश्रम अधिक्षिका द्वारा किशोरी के पिता टामेश्वर रजक को जानकारी दिया गया। पिता धनोरा आश्रम पहुँचकर अपने पुत्री को साथ में घर ले जाया गया। घर पहुँचकर मंजु रजक की तबियत ज्यादा बिगड़ने पर पूनम मंजु रजक को लेकर शा. अस्पताल धनोरा पहुँचकर वहाँ के डॉक्टर द्वारा जिला अस्पताल कोण्डागांव भेजने के साथ यहाँ भी ठीक नहीं होने पर कोण्डागांव से जगदलपुर व जगदलपुर से मेकाहारा रायपुर भेजा गया। इनते समय के अन्तर्गत कु. मंजु रजक की तबियत ज्यादा बिगड़ते देखकर मेकाहारा रायपुर से पिड़ित मरीज को घर भेजा गया। घर पहुँचकर मंजु रजक की तबियत अधिक बिगड़ने पर पिड़ित मरीज को लेकर गरीब माता पिता आन्ध्राप्रदेश विशाखापटनम में ले जाया गया यहाँ से ठीक नहीं होने पर दोबारा मेकाहारा रायपुर फिर एम्स अस्पताल रायपुर ले जाया गया। यहाँ पहुँचने पर बेहोशी हालत में एम्स में आईसीयू में कई दिन तक बेहोशी हालत में रहे व पिड़ित गरीब माता पिता अपने पुत्री के स्वास्थय के प्रति हताश परेशान होकर अंत में ईश्वर की कृपा से एम्स अस्पताल रायपुर से ठीक होकर घर भेज दिया गया किन्तु ईश्वर ने इनकी सुरीली अवाज बंद होने के साथ आज उस किशोरी 5 साल के बाद गुगी होकर 18 वर्ष पूर्ण हो चुके है।

मेरी पुत्री के इस दर्दनाक अवस्था के लिये कौन जिम्मेदार है मिडिया से चर्चा करते हुए पिड़ित गरीब पिता टामेश्वर रजक ने जानकारी में बताया कि आज मेरी पुत्री कुमारी रजक 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी है। जिसकी पढ़ाई 9वीं कक्षा के बाद से बर्बाद होने के साथ पढ़ाई बंद है। इनकी आवाज को लेकर पीड़ित परिवार चिंचित होने के साथ पिता ने मामले की जाँच कर उचित कार्यवाही की मांग पिता टामेश्वर ने जानकारी में बताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *