Monday, June 17

*किसान सभा की मांग पर शहीद कमलेश की प्रतिमा का हुआ जीर्णोद्धार, मां ने किया लोकार्पण*

 

बांकी मोंगरा (कोरबा)। छत्तीसगढ़ किसान सभा की मांग पर एसईसीएल के गेवरा प्रबंधन द्वारा कटघोरा ब्लॉक अंतर्गत ग्राम कटकिडबरी में स्थापित अमर शहीद कमलेश कुमार कंवर की प्रतिमा का जीर्णोद्धार किया गया है, जिसका लोकार्पण शहीद की मां अमृत बाई कंवर के हाथों फीता काटकर और “शहीद कमलेश कंवर – अमर रहे” के गगनभेदी नारे के बीच किया गया। किसान सभा नेताओं की उपस्थिति में हुए लोकार्पण कार्यक्रम में सैकड़ों ग्रामीण भी शामिल थे।

उल्लेखनीय है कि 26 अप्रेल 2007 को कांकेर जिले के दुर्गूकोदल विकासखंड के अंतर्गत ग्राम मिचगांव में नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में बहादुरी के साथ लड़ते हुए वे शहीद हुये थे। उनकी शहादत के बाद गांव में उनकी प्रतिमा स्थापित की गई थी, जो उचित देखरेख के अभाव में जर्जर हो गई थी। इस प्रतिमा के जीर्णोद्धार के लिए किसान सभा पिछले एक साल से अभियान चला रही थी, जिसके बाद एसईसीएल प्रबंधन ने इस प्रतिमा के जीर्णोद्धार की घोषणा की थी।

इस अवसर पर आयोजित एक सभा को संबोधित करते हुए किसान सभा के जिला सचिव प्रशांत झा ने बताया कि शहीद कमलेश कंवर का जन्म ग्राम कटकीडबरी, हरदीबाजार के पास एक गरीब किसान परिवार में 28 अक्टूबर 1980 को हुआ था। वह 21 जनवरी 2000 को 20 वर्ष की आयु में पुलिस सेवा में भर्ती हुए और उनकी पदस्थापना जिला पुलिस बल कांकेर में हुईं। 27 वर्ष से कम की आयु में वे शहीद हो गए। अपने कर्तव्य और देश प्रेम के लिये प्राण न्योछावर करने वाले इस शूरवीर पर कोरबा की जनता को गर्व है।

किसान सभा के जिलाध्यक्ष जवाहर सिंह कंवर, जय कौशिक पंचायत के प्रमुख होम सिंह कंवर के साथ निलंबर सिंह,निर्मल सिंह, हरिशंकर पाटले, सनमान सिंह कंवर, मान सिंह कंवर, सम्मेलाल कंवर, यशवंत कंवर, दामोदर कौशिक और दीपक साहू आदि के साथ बड़ी संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।

किसान सभा ने जिला प्रशासन से मांग की है कि जिले के सभी शहीदों की प्रतिमाओं का जीर्णोद्धार और देखरेख की जिम्मेदारी प्रशासन अपने हाथ में लें तथा प्रतिवर्ष शहीदों की प्रतिमाओं के पास उनके संघर्ष व बलिदान से प्रेरणा लेने के लिए कार्यक्रम आयोजित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *