Friday, February 23

मर्यादा में बंधे पुलिस कर्मी मांग-पत्र भी नहीं देते, उनकी तकलीफें देखकर बढ़ाईं सुविधाएं : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

पुलिस बल से मुख्यमंत्री श्री चौहान के संवाद का क्रम आगे भी चलेगा
सुविधाओं से पुलिस का मनोबल बढ़ेगा, बेहतर सेवाएं देंगे
पुलिस के कल्याण की घोषणाओं के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान का माना आभार

 मुख्यमंत्री श्री चौहान की प्रमुख घोषणाएं

1. सभी पुलिस थानों में पदस्थ आरक्षक से उप-निरीक्षक स्तर तक के ऐसे अधिकारी-कर्मचारियों को जिनके पास शासकीय वाहन नहीं है, उन्हें 15 लीटर पेट्रोल-भत्ता प्रतिमाह दिया जायेगा।

2. पुलिसकर्मियों का पौष्टिक आहार भत्ता एक हजार रूपए प्रतिमाह किया जायेगा।

3. आरक्षक एवं प्रधान आरक्षक का वर्दी भत्ता प्रतिवर्ष 5 हजार रूपए किया जायेगा।

4. राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों को पंचम वेतनमान दिया जायेगा।

5. नि:शुल्क भोजन भत्ते की दर 100 रूपए प्रतिदिन की जायेगी।

6. 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी पुलिसकर्मियों का नि:शुल्क मेडिकल चेकअप किया जायेगा।

7. सभी पुलिसकर्मियों के लिए रोटेशन से साप्ताहिक अवकाश सुनिश्चित किया जायेगा।

8. पुलिसकर्मियों के लिए 25 हजार नये आवास बनाये जायेंगे।

9. विशेष सशस्त्र बल (एसएएफ) के जवानों के लिए एक हजार रुपये भत्ता राशि स्वीकृत होगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज समत्व भवन मुख्यमंत्री निवास में उनसे मिलने पहुंचे पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों सहित पुलिस बल के मैदानी अमले को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा प्रदेश के पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों के हित में की गई महत्वपूर्ण घोषणाओं के लिए पुलिस-बल ने आज मुख्यमंत्री निवास पहुँचकर उनका आभार व्यक्त किया। शुक्रवार को मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुलिस-बल के कल्याण की महत्वपूर्ण घोषणाएं कीं। उप पुलिस अधीक्षक, पुलिस निरीक्षक, कंपनी कंमाडर, उप निरीक्षक और आरक्षकों ने पुष्प-गुच्छ भेंटकर मुख्यमंत्री श्री चौहान का आभार व्यक्त किया। पुलिस कमिश्नर श्री हरि नारायणचारी मिश्रा एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों सहित निरीक्षक, उप निरीक्षक, आरक्षक उपस्थित थे।

 

बच्चों को बनाया अतिथि

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुलिसकर्मियों के दो बच्चों को भी मंच पर बिठाया और उन्हें प्यार-दुलार किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुलिस कर्मियों के कक्षा पांचवी में पढ़ने वाले दो बच्चों अव्यान शुक्ला और युवान ठाकुर को मंच पर अतिथियों की तरह साथ बिठाया। दोनों बच्चे काफी देर मुख्यमंत्री श्री चौहान से बातें करते रहे।

परिवार के भाव से कर रहे सरकार का संचालन

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि “आपकी प्रसन्नता देखकर मैं भी प्रसन्न हूं। एक परिवार के भाव से सरकार का संचालन करने में मेरा विश्वास है।” मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश के परिवार का हिस्सा पुलिस परिवार है। मेरी कोशिश है कि फील्ड की दिक्कतें समझूं। ये फैसले सिर्फ पुलिसकर्मियों के हित में ही नहीं बल्कि प्रदेश के हित में हैं। अच्छी सुविधाएं प्राप्त कर पुलिसकर्मी अधिक निष्ठा से सेवाएं देंगे। मध्यप्रदेश को पुलिसिंग में भी सर्वश्रेष्ठ बनाएंगे। पुलिस बल से संवाद का यह क्रम आगे भी चलेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बढ़ाया मनोबल

डीसीपी भोपाल श्री विनीत कपूर ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा की घोषणाएं पुलिस कर्मचारियों के कल्याण से जुड़ी हैं। पोषण-आहार, वर्दी-भत्ता, पेट्रोल-भत्ता जैसे लाभ पूर्व में नहीं मिले। मुख्यमंत्री जी पुलिस बल से रूबरू होकर उनकी तकलीफों के बारे में चर्चा करते हैं। अनुशासन में रहने के कारण पुलिसकर्मी प्रायः अपनी समस्याएं नहीं बताते। लेकिन मुख्यमंत्री जी द्वारा पुलिस बल का मनोबल बढ़ाने का यह महत्वपूर्ण कदम है। पुलिस बल बेहतर सेवाएं दे पाएगा। एडिशनल डीसीपी श्री संदीप दीक्षित ने कहा कि पांचवें वेतनमान सहित अन्य कल्याणकारी घोषणाएं पुलिस के हित में हैं। राज्य पुलिस सेवा की यह बहुप्रतिक्षित मांग थी। हम मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रति धन्यवाद व्यक्त करते हैं।

टी. आई. श्री हेमंत श्रीवास्तव ने कहा कि पूर्व में पेट्रोल-भत्ता प्राप्त नहीं होता था। अब इसका प्रावधान किया गया है जो उपयोगी रहेगा। शहरी क्षेत्र में कॉलोनियों के विकास से कार्य-क्षेत्र में वृद्धि हुई है। पेट्रोल भत्ता मिल जाने से कार्य में आसानी होगी। मुख्यमंत्री जी ने यह महत्वपूर्ण सौगात दी है। इंस्पेक्टर सुश्री आकांक्षा शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान की घोषणाओं से पुलिस परिवार में प्रसन्नता का वातावरण है।

आरक्षक सुश्री संजू शर्मा ने कहा कि पुलिस के इतिहास में यह दिन अहम है। अच्छी वर्दी पहनने का सभी को शौक होता है। हमें वीकली ऑफ भी प्राप्त होगा और 5 हजार रुपये वर्दी-भत्ता मिलने से आसानी होगी। इसके पहले वर्दी-भत्ता 24 सौ रुपये था। वरिष्ठ निरीक्षक श्री एन.एस. चौहान ने कहा कि चिकित्सकीय परीक्षण सुविधा से मैदानी क्षेत्र में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को अपना स्वास्थ्य ठीक रखने में आसानी होगी। यह महत्वपूर्ण निर्णय है। एसएएफ के जवान श्री दीपक रजक ने कहा कि कई बार विषम परिस्थितियों में ड्यूटी करनी होती है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने हमारी मनोदशा समझी और विशेष सशस्त्र बल का भत्ता एक हजार रुपये स्वीकृत किया। कंपनी कमांडर श्री भोजराज पटेल ने कहा कि पौष्टिक आहार के लिए राशि बढ़ाई गई है। इस निर्णय से पुलिसकर्मी गौरवान्वित हैं। इस अवसर पर अनेक पुलिसकर्मियों के परिजन भी आभार-प्रदर्शन के लिए पहुंचे और सरकार के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *