Sunday, May 19

राजनांदगांव : शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पर्याप्त मात्रा में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करें – कलेक्टर

– कलेक्टर ने ग्रीष्म ऋतु को ध्यान में रखते हुए पेयजल उपलब्धता के लिए अधिकारियों ली बैठक
राजनांदगांव 01 मई 2024। कलेक्टर श्री संजय अग्रवाल ने गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए पेयजल की समस्या न हो इसके लिए जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आज अधिकारियों की बैठक ली। कलेक्टर श्री अग्रवाल ने कहा कि गर्मी के मौसम के दृष्टिगत जनसामान्य को पेयजल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए सभी अधिकारियों को समन्वित तरीके से कार्य करने कहा। उन्होंने पेयजल से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या का तत्काल निदान करने निर्देश दिए हैं।  उन्होंने जिले के नगरीय निकाय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की उपलब्धता के संबंध में विस्तारपूर्वक चर्चा की तथा संबंधित अधिकारियों से जिले में स्थापित हैण्डपम्प एवं बोरवेल की जानकारी ली। उन्होंने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग, जल संसाधन तथा नगरीय निकायों एवं जनपद पंचायतों के अधिकारियों को समन्वय बनाकर कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी ग्रामों एवं नगरीय निकायों में हैण्डपम्प और बोर चालू हालत में रहे। जिससे लोगों को पर्याप्त मात्रा में पेयजल मिल सके।
कलेक्टर श्री अग्रवाल ने पीएचई विभाग के अधिकारी को निर्देश दिये कि गांव में जाकर ग्रामीणों से चर्चा कर समस्या का समाधान करें। ऐसे ग्राम जहां पेयजल की समस्या आ रही है उसका चिन्हांकन कर निराकरण करने के लिए जनपद सीईओ को निर्देश दिए। उन्होंने सभी जनपद सीईओ को निर्देश दिए कि जिन ग्रामों में मोटर खराब हो गई, वॉल्व खराब हो गया उनका निराकरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि जिन ग्रामों में पूर्व से पेयजल संबंधित समस्या ग्रीष्मकाल में आती है या भूजल का स्तर गिरता रहा है वहां पहले से सतर्कता से व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाये। जल संरक्षण का काम लगातार करना चाहिए, जिससे ग्राउंड वाटर लेवल बढ़ेगा। जिन गांवों में पानी की समस्या है उन गांवों का चिन्हांकन उसका स्थायी समाधान निकालने कहा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि योजनाबद्ध तरीके से कार्य करें और पेयजल के लिए पाइप या अन्य व्यवस्था करते समय इस बात का ध्यान रखें की जनसामान्य को असुविधा न हो। उन्होंने कहा कि धान की खेती में अधिक पानी की आवश्यकता होती है। गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए कम पानी की आवश्यकता वाले मक्का जैसे अन्य फसल लेने के लिए किसानों को प्रोत्साहित करने की जरूरत है। बैठक में जिला पंचायत सीईओ सुश्री सुरूचि सिंह, कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री समीर शर्मा, कार्यपालन अभियंता जल संसाधन श्री जीडी रामटेके, कार्यपालन अभियंता नगर निगम श्री यूके रामटेके, जनपद पंचायतों के सीईओ, नगरीय निकायों के सीएमओ सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *