Saturday, March 2

रविशंकर प्रसाद मनगढ़त आरोप लगा रहे फर्जी पटकथा पर कांग्रेस को बदनाम कर रहे

रायपुर/08 जुलाई 2023। भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद के द्वारा छत्तीसगढ़ मे ईडी की कार्यवाही के आधार पर राज्य सरकार पर लगाए गए आरोपों को कांग्रेस ने भाजपा का षड्यंत्र बताया है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि ईडी केंद्र सरकार के इशारे पर दुर्भावना पूर्वक गलत कार्यवाही करती है और भाजपा नेता उसी आधार पर आरोप लगा कर कांग्रेस सरकार को बदनाम करने की कुचेष्टा करते है प्रदेश की जनता भाजपा के इस चाल को समझ रही हैभजपा नेता ईडी की पटकथा के आधार पर आरोप लगा रहे की छग मे बिना एक्साइज ड्यूटी पटाये शराब बिक्री करने से 2168करोड़ का घोटाला हुआ है। यदि ईडी के आरोप सही है तो ईडी ने शराब निर्माण के विक्रय के डिस्लरो के खिलाफ कार्यवाही क्यों नहीं किया ईडी की कार्यवाही कही सुनी बातो के आधार पर बिना तथ्य के है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि रविशंकर प्रसाद विधानसभा चुनाव नजदीक देख कर राजनीती प्रेरित झूठे आरोप लगाए है। राज्य मे फ़रवरी 2020 मे शराब कारोबारियों उनसे संबंधित व्यक्तियों के यहां आयकर के छापे मारे गए थे उसी के आधार पर ईडी जुलाई 2023 मे आरोप लगा रही। ईडी की टाइमिंग से साफ है यह सब विधानसभा चुनाव के नजदीक आते देख कर मुद्दाविहीन भाजपा को कवरिंग फायर देने किया गया है। ईडी के खिलाफ अदालत मे अनेक गवाहो ने मुख्यमंत्री का नाम लेने के लिए दबाव बनाने की भी शिकायत किया है एक गवाह ने ईडी की प्रताड़ना से तंग आ कर आत्महत्या करने तक की चेतावनी दे चूका है. इससे यह साफ हो जाता है की छ.ग. मे ईडी राजनैतिक बदले की कार्यवाही कर रही।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि राज्य मे 2012 मे रमन सरकार ने देशी शराब के उत्पादन का अधिकार मात्र राज्य के ही मात्र 3 डिस्टलरों को मिल गया था अन्य किसी डिस्टलर को उत्पादन निविदा मे भाग लेने का अधिकार समाप्त हो गया था। रमन सरकार ने ही 2017 मे शराब विक्रय का एकाधिकार सरकारी कम्पनी को सौपा। शराब करोबार के लिए मेन पावर प्लेस मेन्ट एजेंसियो से लेना शुरू किया तथा देशी शराब कि आपूर्ति पूर्व पंजीकृत 3ठेकेदारों से होती रही रमन सरकार के कार्यकाल के अंतिम वित्तीयवर्ष मे शराब से कुल राजस्व 3900 करोड़ था। राज्य मे कांग्रेस कि सरकार बनने के बाद शारब नीति मे कोई परिवर्तन नहीं किया गया व्यवस्था भी पूर्ववत रही उसके बावजूद वर्ष 2023 रमन राज कि अपेक्षा शराब का राजस्व 3900 से बढ़ के 6500 करोड़ हो गया। कांग्रेस सरकार के राज मे तो राजस्व बढ़ा है इसका मतलब यदि गड़बड़ी है तो रमन राज मे थी. बिना एक्साइज ड्यूटी शराब बेचने की शिकायत कि जाँच भी राज्य सरकार 3 डिस्टलरों के खिलाफ करवा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *