Monday, June 17

राजस्व वसूली हेतु लक्ष्य निर्धारित कर पूरा करें:- कलेक्टर  चंदन कुमार

समय-सीमा की बैठक में दिए निर्देश

जगदलपुर, 13 दिसंबर 2022/ कलेक्टर श्री चंदन कुमार ने कहा कि डायवर्सन के प्रकरणों में राजस्व वसूली हेतु लक्ष्य निर्धारित कर पूरा करें। डायवर्सन में व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के लिए जमीन का उपयोग करने वालों से प्राथमिकता से राजस्व की वसूली करने के निर्देश दिए। मंगलवार को जिला कार्यालय के प्रेरणा सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में राजस्व प्रकरणों पर चर्चा के दौरान कलेक्टर ने निर्देशित किया। उन्होंने नामांतरण, खाता विभाजन, सीमांकन, बंदोबस्त त्रुटिसुधार, अविवादित नामांतरण और नजूल शाखा से राजस्व वसूली कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रकाश सर्वे, अपर कलेक्टर श्री हरेश मंडावी सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।
बैठक में कलेक्टर ने जाति प्रमाण पत्र के निर्माण की समीक्षा के दौरान कहा कि जाति प्रमाण पत्र के लिए प्राप्त आवेदनों का बीईओ, तहसील लेवल में एन्ट्री को बढ़ाएं। कक्षा पहली से पांचवीं तक के बच्चों का अधिक से अधिक आवेदन मंगवाएं जाए। उन्होंने स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में रनिंग वाटर सप्लाई की व्यवस्था सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पोषण पुनर्वास केंद्र से वापस गए बच्चों का सप्ताहवार फ्लोअप करवाएं। साथ ही एनआरसी में भर्ती कुपोषित बच्चों का डाइट पूर्ण खाना व दवाईयों उपलब्धता सुनिश्चित करवाने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिले में निर्माण की जा रही आत्मानंद स्कूलों की प्रगति की समीक्षा किया।  आश्रम छात्रावास व आंगनवाड़ी केंद्र में चिकित्सा सुविधाओं के तहत स्वास्थ जांच व दवांईयों का वितरण करने के निर्देश दिए।
कलेक्टर ने गोधन न्याय योजना के तहत किए गोबर खरीदी की समीक्षा की। गौठानों में पशुधन के लिए पर्याप्त मात्रा पैरा की उपलब्धता सुनिश्चित कराने तथा पैरादान के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। बैठक में मातृत्व वंदना योजना, किसानों का ई-केवाईसी, सहकारी बैंक की शाखा स्थापना, नगर निगम क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा किए। साथ ही बस्तर विकास प्राधिकरण मद, सीएसआर मद, डीएमएफटी मद सहित अन्य मदों से किए गए निर्माण की उपयोगिता प्रमाण पत्र देने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सभी एसडीएम, तहसीलदार और जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को अनुपयोगी व खुले रखे हुए बोरवेेल में अप्रत्यासित घटना होने की संभावना को देखते हुए खुले बोरवेल में ढ़क्कन लगवाने के निर्देश दिए। इसके अलावा समय-सीमा के प्रकरणों पर चर्चा कर संबंधित अधिकारियों को निराकरण के निर्देश दिए। समय-सीमा की बैठक से पूर्व कृषि विभाग की जिला स्तरीय अभिसरण कार्ययोजना और महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला स्तरीय पोषण समिति कार्ययोजना पर चर्चा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *