Friday, February 23

राज्य महिला आयोग तृतीय लिंग समुदाय के व्यक्तियों के समस्याओं की भी करेगा सुनवाई-डॉ.किरणमयी नायक

राज्य महिला आयोग की सुनवाई में तृतीय लिंग वर्ग प्रकरण होंगे शामिल

रायगढ़,  / राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ.किरणमयी नायक से रायगढ़ कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में रायगढ़ असीम कृपा फाउंडेशन के तत्वाधान में आज तृतीय लिंग समुदाय के सभी व्यक्तियों ने मुलाकात कर अपनी समस्याओं व मांगों का ज्ञापन दिया। उन्होंने अध्यक्ष डॉ.नायक को बताया कि तृतीय लिंग समुदाय के व्यक्तियों को कई तरह की परेशानी और समस्याओं का सामना करना पड़ता है। अपनी समस्याएं रखने में दिक्कत होती है कई बार दुव्र्यवहार का सामना भी करना पड़ता है। उन्हें भी समाज में स्वाभिमान से जीने का अधिकार है उनके लिए भी नियम कानून बनाए गए और विभिन्न अधिकार और सहूलियतें सरकार द्वारा दी गई हैं। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा उनके लिए भी कई नियम लागू किए गए हैं। 2019 एक्ट के तहत उन्हें कानूनी संरक्षण एवं अधिकार प्राप्त है। किंतु जागरूक नहीं होने के कारण तथा उन्हें उचित मार्गदर्शन नहीं मिलने के कारण वह अपने अधिकार की लड़ाई नहीं लड़ पाते हैं। आज इसी परिपेक्ष्य में असीम कृपा फाउंडेशन के तत्वाधान में थर्ड जेंडर समुदाय तृतीय लिंग समुदाय के समस्याओं की सुनवाई भी अब राज्य महिला आयोग के अधीन हो पाएगा। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ.किरणमयी नायक आज रायगढ़ जिले के सभाकक्ष में सुनवाई करते हुए कहा कि किसी भी प्रकार की समस्या हो या कोई पुरुष परेशान करें या फिर कोई महिला भी परेशान करेगा तो भी महिला आयोग में थर्ड जेंडर और एलजीबीटी कम्युनिटी शिकायत कर सकता है। जिसकी हम सुनवाई करेंगे राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ.किरणमयी नायक ने उन्हे आश्वस्त करते हुए कहा कि अब से आप की सुनवाई राज्य महिला आयोग में हो पाएगी। फिलहाल अभी आयोग में इस विषय पर किसी प्रकार का कोई प्रतिबंध नही है। निश्चित तौर पर आयोग पर आप शिकायत कर सकते हैं उसकी सुनवाई राज्य महिला आयोग करेगी। निश्चित ही राज्य महिला आयोग तृतीय लिंग समुदाय के लिए हर सहयोग करने के लिए तैयार है और हम आगे भी करेंगे और आयोग द्वारा आपको हर संभव मदद और सहयोग करने की कोशिश करेंगे। इससे अब जो भी समस्या और सुनवाई होगी वह राज्य महिला आयोग के अधीन हो सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *