Saturday, May 18

सुप्रीम कोर्ट ने माना छत्तीसगढ़ में कोई शराब घोटाला हुआ ही नहीं

*सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साबित ईडी ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार को बदनाम करने षड़यंत्र रचा था-कांग्रेस*

*कांग्रेस ही नहीं इंडिया गठबंधन के दलों की छवि खराब करने ईडी षड़यंत्र कर रही*

रायपुर/08 अप्रैल 2024। ईडी के द्वारा रचित पटकथा छत्तीसगढ़ के तथाकथित शराब घोटाले को सुप्रीम कोर्ट से रद्द कर दिया। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि मा. उच्चतम न्यायालय के इस फैसले से यह साबित हो गया कि छत्तीसगढ़ में कोई शराब घोटाला हुआ ही नहीं था। विधानसभा चुनाव के पहले भाजपा को चुनावी मुद्दा देने के लिये केंद्र सरकार के इशारे पर ईडी ने यह सारा षड़यंत्र रचा था। उच्चतम न्यायालय का यह फैसला दूरगामी है, ईडी ने छत्तीसगढ़ में अनेक मामलों को षड़यंत्रपूर्वक रचा है, कोयला घोटाला, महादेव एप्प मामले की भी ऐसी ही हवा निकलेगी। कांग्रेस तो शुरू से कहती थी कि छत्तीसगढ़ में ईडी भाजपा के राजनैतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिये कांग्रेस की तत्कालीन सरकार की छवि खराब करने के लिये भाजपा के अनुषांगिक संगठन की भांति काम कर रही थी अदालत के फैसले से यह साबित भी हो गया।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि कांग्रेस ही नहीं देशभर में विरोधी दलों विशेषकर इंडिया गठबंधन के दलो के नेताओं को परेशान करने उनकी राजनैतिक छवि खराब करने का काम ईडी कर रही है तथा मनगढ़त आरोपों पर विपक्षी नेताओं के खिलाफ मुकदमें दर्ज किये गये तथा उनकी गिरफ्तारियां भी की गयी है। ईडी भाजपा का राजनैतिक हथियार बन चुकी है।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि जिस ईडी के द्वारा दर्ज केस को उच्चतम न्यायालय ने रद्द कर दिया उसी ईडी के पत्र के आधार भी छत्तीसगढ़ में एसीबी और ईओडब्ल्यू के द्वारा दर्ज किये गये मुकदमें की वैधानिकता पर भी सवाल खड़ा हो रहा है। जब कोई घपला, घोटाला हुआ ही नहीं तो ईओडब्ल्यू, एसीबी के मुकदमें भी तो राजनैतिक षड़यंत्र का ही हिस्सा है।

सुशील आनंद शुक्ला
अध्यक्ष कांग्रेस संचार विभाग
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *