Friday, June 21

मध्य प्रदेश के इंदौर में मध्य प्रदेश ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 में प्रधानमंत्री के वीडियो संदेश का मूल पाठ

नई दिल्ली (IMNB).

नमस्कार !

मध्य प्रदेश इन्वेस्टर्स समिट के लिए आप सभी इन्वेस्टर्स का, उद्यमियों का बहुत-बहुत स्वागत है! विकसित भारत के निर्माण में मध्य प्रदेश की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है। आस्था, अध्यात्म से लेकर पर्यटन तक, एग्रीकल्चर से लेकर एजुकेशन और स्किल डेवलपमेंट तक, MP अजब भी है, गजब भी है और सजग भी है।

 

साथियों,

मध्य प्रदेश में ये समिट ऐसे समय में हो रही है जब भारत की आज़ादी का अमृतकाल शुरु हो चुका है। हम सभी मिलकर विकसित भारत के निर्माण के लिए जुटे हुए हैं। और जब हम विकसित भारत की बात करते हैं, तो ये सिर्फ हमारी aspiration नहीं है, बल्कि ये हर भारतीय का संकल्प है। मुझे खुशी है कि हम भारतीय ही नहीं, बल्कि दुनिया की हर संस्था, हर एक्सपर्ट इसको लेकर आश्वस्त दिख रहा है।

 

साथियों,

एक स्थिर सरकार, एक निर्णायक सरकार, सही नीयत से चलने वाली सरकार, विकास को अभूतपूर्व गति देकर दिखाती है। देश के लिए हर जरूरी फैसले, उतनी ही तेजी से लिए जाते हैं। आपने भी देखा है कि कैसे बीते 8 वर्षों में हमने रिफॉर्म की स्पीड और स्केल को लगातार बढ़ाया है। बैंकिंग सेक्टर में recapitalization और गवर्नेंस से जुड़े रिफॉर्म्स हों, IBC जैसा modern resolution framework बनाना हो, GST के रूप में वन नेशन वन टैक्स जैसा सिस्टम बनाना हो, corporate tax को globally competitive बनाना हो, sovereign wealth funds और pension funds को टैक्स से छूट हो, अनेक सेक्टर्स में ऑटोमेटिक रूट से 100 परसेंट FDI की परमिशन देना हो, छोटी-छोटी आर्थिक गलतियों को decriminalize करना हो, ऐसे अनेक रिफॉर्म्स के माध्यम से हमने इन्वेस्टमेंट के रास्ते से कई रोड़े हटाए हैं। आज का नया भारत, अपने प्राइवेट सेक्टर की ताकत पर भी उतना ही भरोसा करते हुए आगे बढ़ रहा है। हमने डिफेंस, माइनिंग और स्पेस जैसे अनेक strategic sectors को भी प्राइवेट सेक्टर के लिए खोल दिया है। दर्जनों Labor Laws को 4 codes में समाहित करना भी अपने आप में एक बहुत बड़ा कदम है।

 

साथियों,

Compliances के बोझ को कम करने के लिए तो केंद्र और राज्य, दोनों के स्तर पर अभूतपूर्व प्रयास चल रहे हैं। बीते कुछ समय में करीब 40 हज़ार compliances को हटाया जा चुका है। हाल ही में हमने नेशनल सिंगल विंडो सिस्टम शुरु किया है, जिससे मध्य प्रदेश भी जुड़ चुका है। इस सिस्टम के तहत अभी तक लगभग 50 हज़ार स्वीकृतियां दी जा चुकी हैं।

 

साथियों,

भारत का आधुनिक होता इंफ्रास्ट्रक्चर, मल्टीमोडल होता इंफ्रास्ट्रक्चर भी investment की संभावनाओं को जन्म दे रहा है। 8 वर्षों में हमने नेशनल हाईवे के निर्माण की स्पीड दोगुनी की है। इस दौरान भारत में ऑपरेशनल एयरपोर्ट्स की संख्या दोगुनी हो चुकी है। भारत की ports handling capacity और port turnaround में अभूतपूर्व सुधार आया है। Dedicated freight corridors, Industrial corridors, expressways, logistic parks, ये नए भारत की पहचान बनते जा रहे हैं। पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान के रूप में पहली बार भारत में इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण का एक नेशनल प्लेटफॉर्म है। इस प्लेटफॉर्म पर देश की सरकारों, एजेंसियों, इन्वेस्टर्स से जुड़ा अपडेटेड डेटा रहता है। भारत दुनिया के सबसे

competitive Logistics market के रूप में अपनी पहचान बनाने के लिए committed है। इसी लक्ष्य के साथ हमने अपनी National Logistics Policy लागू की है।

 

साथियों,

भारत स्मार्टफोन डेटा कंजम्पशन में नंबर-1 है। भारत, ग्लोबल फिनटेक में नंबर-1 है। भारत, IT-BPN outsourcing distribution में नंबर-1 है। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा एविएशन मार्केट और तीसरा बड़ा ऑटो मार्केट है। भारत के बेहतरीन डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर आज हर कोई विश्वास से भरा हुआ है। ये ग्लोबल ग्रोथ के अगले फेज़ के लिए कितना ज़रूरी है, ये आप भलीभांति जानते हैं। भारत एक तरफ गांव-गांव तक ऑप्टिकल फाइवर नेटवर्क पहुंचा रहा है, वहीं तेज़ी से 5G नेटवर्क का विस्तार कर रहा है। 5G से हर industry और consumer के लिए Internet of things  से लेकर AI तक जो भी नए अवसर बन रहे हैं, वो भारत में विकास की गति को और तेज करेंगे।

 

साथियों,

इन सारे प्रयासों से ही आज मेक इन इंडिया को नई ताकत मिल रही है। मैन्युफेक्चरिंग की दुनिया में भारत तेज़ी से अपना विस्तार कर रहा है। Production linked Incentives स्कीम्स के तहत ढाई लाख करोड़ रुपए से ज्यादा के इंसेंटिव्स की घोषणा की जा चुकी है। ये स्कीम दुनियाभर के manufactures में पॉपुलर हो रही है। इस स्कीम के तहत अब तक अलग-अलग सेक्टर्स में लगभग 4 लाख करोड़ रुपए प्रोडक्शन हो चुका है। मध्य प्रदेश में भी इस स्कीम की वजह से सैकड़ों करोड़ रुपए का निवेश आया है। MP को बड़ा फार्मा हब बनाने में, बड़ा टेक्सटाइल हब बनाने में इस योजना का भी महत्व है। मेरा MP आ रहे Investors से आग्रह है कि PLI स्कीम का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाएं।

 

साथियों,

आप सभी को ग्रीन एनर्जी को लेकर भारत की आकांक्षा से भी जुड़ना चाहिए। कुछ दिन पहले ही हमने मिशन ग्रीन हाइड्रोजन को स्वीकृति दी है। ये लगभग 8 लाख करोड़ रुपए के निवेश की संभावनाओं को लेकर आ रहा है। ये सिर्फ भारत के लिए ही नहीं, बल्कि ग्लोबल डिमांड को पूरा करने का एक अवसर है। हज़ारों करोड़ रुपए के इंसेंटिव्स की व्यवस्था इस अभियान के तहत की गई है। आप इस महत्वकांक्षी मिशन में भी अपनी भूमिका ज़रूर एक्सप्लोर करें।

 

साथियों,

हेल्थ हो, एग्रीकल्चर हो, न्युट्रिशन हो, स्किल हो, इनोवेशन हो, हर लिहाज से भारत में नई संभावनाएं आपका इंतज़ार कर रही हैं। ये भारत के साथ-साथ एक नई ग्लोबल सप्लाई चेन के निर्माण का समय है। इसलिए, आप सभी का मैं फिर से बहुत-बहुत स्वागत करता हूं। इस समिट को मेरी अनेक अनेक शुभकामनाएँ हैं। मध्य प्रदेश का सामर्थ्य, मध्य प्रदेश के संकल्प आपकी प्रगति में दो कदम आगे चलेंगे ये मैं आपको विश्वास से कहता हूँ। आप सब को बहुत बहुत धन्यवाद !

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *