Friday, June 21

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में आज़ादी का अमृत महोत्सव प्रगतिशील भारत के 75 वर्ष पूरे होने और देश के लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को याद कर उन पर गौरवान्वित महसूस करने के लिए भारत सरकार की एक पहल है

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह के मार्गदर्शन में गृह मंत्रालय 17 से 23 जनवरी, 2023 तक भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 126वीं जयंती मनाने के लिए आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आइकॉनिक इवेंट्स सप्ताह मनाएगा

23 जनवरी, 2023 को पोर्ट ब्लेयर में एक भव्य कार्यक्रम में इसका समापन होगा जिसमें केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह मुख्य अतिथी होंगे

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने भाषण में सभी देशवासियों से अपनी विरासत पर गर्व करने का आह्वान किया था

भारत का एक समृद्ध और गौरवशाली इतिहास है, जो इसके वीरों की अदम्य वीरता, शौर्य, बलिदान, तपस्या, युद्ध और विजय की गाथाओं से भरा है

भारत माता के ऐसे ही महान सपूतों में से एक नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे, जिनके स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान ने भारत की अनेकों पीढ़ियों को प्रेरित किया और देशवासियों में गर्व की भावना पैदा की

आइकॉनिक इवेंट्स सप्ताह के दौरान मणिपुर, नागालैंड, गुजरात, ओड़ीशा, पश्चिम बंगाल व अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन और स्वतंत्रता संग्राम में उनके योगदान से जुड़े स्थानों पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे

नई दिल्ली (IMNB). प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में आज़ादी का अमृत महोत्सव प्रगतिशील भारत के 75 वर्ष पूरे होने और देश के लोगों, संस्कृति और उपलब्धियों के गौरवशाली इतिहास को याद करके उन पर गौरवान्वित महसूस करने के लिए भारत सरकार की एक पहल है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने भाषण में सभी देशवासियों से अपनी विरासत पर गर्व करने का आह्वान किया था। भारत का एक समृद्ध और गौरवशाली इतिहास है,जो इसके वीरों की अदम्य वीरता, शौर्य, बलिदान, तपस्या,युद्ध और विजय की गाथाओं से भरा है। भारत माता के ऐसे ही महान सपूतों में से एक नेताजी सुभाष चंद्र बोस थे, जिनके स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान ने भारत की अनेकों पीढ़ियों को प्रेरित किया है और देशवासियों में गर्व की भावना पैदा की है।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह के मार्गदर्शन में गृह मंत्रालय 17 से 23 जनवरी, 2023 तक भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 126वीं जयंती (पराक्रम दिवस) मनाने के लिए आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आइकॉनिक इवेंट्स सप्ताह मनाएगा। इस सप्ताह के दौरान कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जो नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन और स्वतंत्रता संग्राम में उनके योगदान पर आधारित होंगे। 23 जनवरी, 2023 को पोर्ट ब्लेयर, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में एक भव्य कार्यक्रम में इसका समापन होगा जिसमें केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह मुख्य अतिथी होंगे।

आइकॉनिक इवेंट्स सप्ताह के दौरान केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और केंद्रीय पुलिस संगठनों, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह प्रशासन, तथा मणिपुर, नागालैंड, गुजरात,ओडिशा और पश्चिम बंगाल की राज्य सरकारों के सहयोग से कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। ये कार्यक्रम नेताजी के जीवन से संबंधित स्थानों पर आयोजित किए जाएंगे। इसके तहत 17 जनवरी, 2023 को मणिपुर के मंत्रिपुखरी, कीथेलमनबी, कंगवई, मोइरांग और नम्बोल में, 18 जनवरी को नागालैंड, कोहिमा के रुझाजो और चेसेजु गाँव में, 19जनवरी को गुजरात के हरिपुरा, बारडोली, और सूरत में, 20जनवरी को ओडिशा के कटक में और 21 जनवरी, 2023 को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में कार्यक्रमों का आयोजन होगा। इस अभियान के अंतर्गत भारत के स्वतंत्रता संग्राम में नेताजी के अविस्मरणीय योगदान का जश्न मनाने के लिए इन स्थानों पर पूरे सप्ताह कई गतिविधियां आयोजित करने की योजना बनाई गई है।

जन भागीदारी की भावना के साथ सभी आयोजनों में बड़े पैमाने पर सार्वजनिक भागीदारी को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इन आयोजनों को डिजाइन किया गया है, ताकि नागरिक हमारे राष्ट्रीय नायकों से प्रेरणा ले सकें और उनके महान आदर्शों को आगे बढ़ा सकें।

23 जनवरी, 2023 को पोर्ट ब्लेयर, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में एक भव्य कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा,जहां नेताजी ने 31 दिसंबर, 1943 के दिन भारत को आजादी मिलने से बहुत पहले, पहली बार भारतीय धरती पर तिरंगा फहराया था।

गृह मंत्रालय का आइकॉनिक इवेंट्स सप्ताह भारत के स्वतंत्रता संघर्ष में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जीवन और योगदान को नमन करने का एक अवसर है। यह उनके उच्च आदर्शों को याद करने और समस्त देशवासियों के लिए हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन से प्रेरणा लेने का भी अवसर है।

***

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *