Wednesday, June 19

मोदी सरकार जनता की समस्याओं से पीठ दिखाकर भाग रही

*7 लाख रु तक इनकम टैक्स में छूट लेकिन किसान युवा महिला मजदूर भी सलाना 7 लाख रु कमाये ऐसी कोई योजना नही*

*मोदी सरकार के 9 वी बजट में भी जनता से वादाखिलाफी ही निकला*

*गांव गरीब किसान के जीवन में इस बजट से कोई परिवर्तन नही आयेगा*

*रायपुर/1फरवरी2023/* मोदी सरकार के द्वारा पेश की गई 9 वी बजट भी पूर्व की 8 बजट की तरह ही जनता से किये वादा को पूरा करने में असफल साबित हुई प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार के द्वारा प्रस्तुत की गई 9वी बजट भी जनता से किये गए वादा को पूरा करने में असफल साबित हुई है इस बजट में गांव गरीब और किसान की आय बढ़ाने को योजना कोई रोड मैप नहीं दिखा। 7 लाख रु तक की कमाई इनकम टैक्स के दायरे से जरूर बाहर हो गया है लेकिन किसान मजदूर महिलाये युवा का सालाना आय 7 लाख रु कैसे हो इसके लिए कोई उपाय या कोई योजना नहीं बनाया गया है। दूध, दही में टैक्स लगाकर लूट की जा रही है इसे समझ में आता है कि मोदी सरकार हम दो हमारे दो के नीति पर चल रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि निर्मला सीतारमण बतौर वित्त मंत्री 5वी बजट प्रस्तुत की है लेकिन वह महंगाई बेरोजगारी महिलाओं की आमदनी को बढ़ाने में नाकामयाब रही है ऐसा लगता है कि मोदी सरकार की नीतियां इस देश को आर्थिक तंगहाली और बर्बादी की ओर धकेलना है जो 8 साल से देश की जनता देख रही है मोदी के भाषणों में जो देश की आम लोगों की चिंता झलकती है वह उनकी सरकार की योजनाओं में और बजट में कहीं भी नहीं दिखता है जमा जुबानी खर्चा के अलावा किसानों मजदूरों युवाओं महिलाओं के हित में मोदी सरकार बेहतर करने में नकारा साबित हुई है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार की अगर 8 साल की उपलब्धियों पर चर्चा की जाए तो देश के गरीब जनता के ऊपर टैक्स लगाना और देश की सरकारी संपत्तियों को कोड़ी के मोल बेचने के अलावा कुछ भी नहीं है इस देश की 70 प्रतिशत संपत्ति चंद पूंजीपतियों के हाथ में है इससे ही समझ में आता है कि 8 साल में मोदी सरकार ने देश का बेड़ा गर्क कर दिया है

कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि देश की जनता बेसब्री से इस 9वी बजट का इंतजार कर रही थी कि इस बजट में अच्छे दिन आएंगे महंगाई कम होगी रोजगार मिलेगा 15- 15लाख रुपए खाता में आएंगे रसोई गैस के दाम पूर्व की तरह 400रु से नीचे हो जाएगा पेट्रोल डीजल 30 रु से 35रु लीटर में मिलेगा दवाइयों के दाम सस्ते होंगे शिक्षा सस्ती होगी लेकिन ऐसा कुछ बजट में नहीं मिला देश की जनता इस बजट के बाद आत्मनिर्भर बन गई उन्हें ही महंगाई से लड़ना है उन्हें ही बेरोजगारी से लड़ना है। मोदी सरकार आम जनता के मुसीबतों से पीठ दिखा कर भाग रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *