Thursday, June 20

भेंट-मुलाकात का अगला पड़ाव कसडोल में, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के भेंट-मुलाकात का दौर जारी , 4 मई से भेंट-मुलाकात अभियान की हुई है शुरुआत

रायपुर, 21 दिसंबर 2022/छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के भेंट-मुलाकात का अगला पड़ाव कसडोल विधानसभा होगा। मुख्यमंत्री 22 दिसंबर को कसडोल विधानसभा के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों के दौरे पर रहेंगे। मुख्यमंत्री सुबह 11.40 बजे रायपुर के पुलिस ग्राउंड से हेलीकॉप्टर द्वारा कसडोल विधानसभा के लिए प्रस्थान करेंगे। वे दोपहर 12.10 बजे कसडोल विधानसभा अंतर्गत ग्राम ओड़ान पहुंचेंगे। ओड़ान में 12.15 बजे से भेंट-मुलाकात कार्यक्रम की शुरूआत होगी। इसके बाद दोपहर 1.50 बजे ओड़ान के हाईस्कूल मैदान स्थित हेलीपेड से हेलीकॉप्टर द्वारा लाहोद के लिए रवाना होंगे। मुख्यमंत्री दोपहर 2.05 बजे नए पुलिस लाईन मैदान स्थित हेलीपेड (खम्हारडीह) लाहोद पहुंचेंगे। दोपहर 2.45 बजे से 4.15 बजे तक लाहोद  में ग्रामीणजनों से भेंट-मुलाकात करेंगे। 4.20 बजे लाहोद से हेलीकॉप्टर द्वारा कसडोल के लिए प्रस्थान करेंगे। मुख्यमंत्री शाम 4.40 बजे से 5.10 बजे तक कसडोल में आयोजित जिला साहू संघ के शपथ ग्रहण समारोह एवं युवक-युवती परिचय सम्मेलन में शामिल होंगे। वहीं शाम 6 बजे से 8 बजे तक विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से भेंट करेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री कसडोल से कार द्वारा रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बीते 4 मई से अपने प्रदेशव्यापी भेंट-मुलाकात का आगाज किया है, जो निरंतर जारी है। अब तक मुख्यमंत्री श्री बघेल बस्तर व सरगुजा संभाग के सभी जिलों समेत बिलासपुर, दुर्ग और रायपुर संभाग के अनेक जिलों में आमजन से भेंट-मुलाकात के लिए पहुंच चुके हैं। भेंट-मुलाकात अभियान की कड़ी में प्रदेश के मुख्यमंत्री आमजनता से सीधे संवाद कर रहे हैं और उनकी समस्याओं से भी रू-ब-रू होते हुए समाधान निकाल रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री के भेंट-मुलाकात अभियान को लेकर प्रदेश की जनता में भी खूब उत्साह देखने को मिल रहा है। मुख्यमंत्री श्री बघेल जहां भी भेंट-मुलाकात के लिए जा रहे हैं, वहां हैलीपेड से लेकर कार्यक्रम स्थल तक स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ ग्रामीणजन पूरे जोश से स्थानीय रीतियों के अनुसार स्वागत कर रहे हैं। मुख्यमंत्री भी उसी आत्मीय भाव से लोगों का अभिनंदन स्वीकार करते हुए नजर आते हैं। इस दौरान प्रदेश के मुखिया ग्रामीणों के घर पर जमीन पर बैठकर भोजन करते हैं।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल भेंट-मुलाकात अभियान के दौरान प्रदेश के विधानसभा क्षेत्रवार दौरा कर रहे हैं। इसमें वे प्रत्येक विधानसभा के गांवों में पहुंचकर शासकीय योजनाओं का जमीनी स्तर पर क्रियान्वयन की जानकारी ले रहे हैं। मुख्यमंत्री ने अपने अभियान की शुरुआत 4 मई को सरगुजा संभाग के बलरामपुर जिला अंतर्गत सामरी विधानसभा से की थी। पहले चरण में अभियान के दौरान रामानुजगंज, प्रतापपुर, भटगांव, प्रेमनगर, लुण्ड्रा विधानसभा में भेंट-मुलाकात के लिए पहुंचे। फिर बस्तर के कोण्टा, बीजापुर, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, चित्रकोट, जगदलपुर, बस्तर, कोण्डागांव, केशकाल, भानुप्रतापपुर, अंतागढ़ और कांकेर विधानसभा होते हुए पुनरू सरगुजा संभाग के कुनकुरी, जशपुर, भरतपुर-सोनहत तथा मनेन्द्रगढ़ व बैकुंठपुर विधानसभा पहुंचा। भेंट-मुलाकात का अगला पड़ाव बिलासपुर संभाग रहा, जहां सबसे पहले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला के मरवाही विधानसभा में मुख्यमंत्री ने पहुंचकर आमजनों से भेंट-मुलाकात की। फिर बिलासपुर संभाग के रायगढ़, लैलूंगा, खरसिया, धरमजयगढ़ विधानसभा में भेंट-मुलाकात के लिए पहुंचे। इधर बालोद जिला के गुण्डरदेही, डौंडी व बालोद विधानसभा के बाद कबीरधाम जिला के पंडरिया व कवर्धा विधानसभा में भेंट-मुलाकात की।

इसके बाद मुख्यमंत्री नवगठित सक्ती जिला के जैजैपुर व चंद्रपुर तथा जांजगीर-चांपा जिला के जांजगीर-चांपा विधानसभा क्षेत्र पहुंचे थे। दुर्ग संभाग की ओर लौटते हुए मुखिया राजनांदगांव जिला के डोंगरगांव, डोंगरगढ़, खुज्जी, अंबागढ़-चौकी और राजनांदगांव विधानसभा क्षेत्र के लोगों से मिले। फिर महासमुंद जिला के सरायपाली, बसना, बागबाहरा व महासमुंद विधानसभा और गरियाबंद के राजिम विधानसभा में भेंट-मुलाकात के लिए पहुंचे। उनका हाल ही में दौरा बिलाईगढ़ विधानसभा में रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *