Monday, June 17

जो प्रकृति के करीब था, वह कोरोना में बच गया : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ‘प्रकृति की ओर सोसायटी’ की प्रदर्शनी का उदघाटन किया

बिगुल
रायपुर. प्रकृति की ओर सोसायटी‘ नामक संस्था के बैनरतले आयोजित उद्यान, गृह उद्यान, चित्रकला तथा फल-फूल-सब्जियों की प्रदर्शनी का उदघाटन आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आतिथ्य में हुआ जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने की. जिंदल स्टील एण्ड पॉवर लिमिटेड के वाइस प्रेसीडेण्ट प्रदीप टण्डन को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सम्मानित किया.

कार्यक्रम का उदघाटन करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आयोजन की प्रशंसा करते हुए कहा कि कोरोनाकाल में हमें पता चला कि जो प्रकृति के करीब है, उनमें कोरोना का असर कम हुआ अन्यथा शहरवाले सबसे ज्यादा शिकार हुए क्योंकि यहां प्रदूषण सबसे ज्यादा है. श्री बघेल ने कहा कि खेती और बागवानी करने वाले किसान और पर्यावरणविद अनुकरणीय काम कर रहे हैं. यह प्रदर्शनी भी इसी का एक उदाहरण है. छत्तीसगढ़ में 44 प्रतिशत जंगल हैं, खेती है इसलिए हम प्रकृति के करीब हैं. उन्होंने बताया कि मेरे परिवार में भी किचन गार्डन है और परिवार के लोग इसका महत्व समझते हैं. सीएम भूपेश बघेल ने आयोजन की प्रशंसा की.

इसके पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और खादय मंत्री अमरजीत भगत का स्वागत संस्था के जयेश पिथालिया, मोहन वर्लयानी, सुनीता चंसोरिया, दलजीत बग्गा, जया भगवानानी ने किया तथा मुख्यमंत्री को पूरी प्रदर्शनी का अवलोकन भी कराया. इस अवसर पर अतिथियों ने विभिन्न प्रकार के फूल और गार्डन का अवलोकन किया तथा प्रदर्शनी लगाने वाली संस्थाओं की सराहना भी की.

कार्यक्रम का स्वागत भाषण संस्था के अध्यक्ष दलजीत बग्गा ने दिया. कार्यक्रम के प्रायोजक जिंदल स्टील एण्ड पॉवर लिमिटेड, उद्यानिकी विभाग, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय तथा नगर निगम रायपुर के प्रतिनिधियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों सम्मानित किया गया. इनमें प्रमुख रूप से डॉ.जितेंद्र त्रिवेदी, डॉ.प्रवीण शर्मा, स्वामीजी, डी.के.तिवारी, डॉ.प्रदीप शर्मा, अनिल वर्मा, आशा भवनानी, आर के जैन, प्रशांत साहू, पुरूषोत्तम चंद्राकर शामिल थे.

उद्यान प्रतियोगिता के विजेताओं मेघना जैन तालेड़ा प्रथम, स्वाति शुक्ला प्रथम, अलका भार्गव प्रथम स्थान, भारती भास्कर प्रथम स्थान, विवेक गौतम प्रथम को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के हाथों सम्मानित किया गया. फल-फूल-सब्जियों की प्रदर्शनी 9 जनवरी तक चलेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *