Sunday, March 3

बैगा आदिवासी बाहुल ग्राम आमानारा और लखनपुर गांव की बदलेगी तस्वीर

कलेक्टर ने बैगा जनजाति ग्राम पहुंचकर उनकी समस्याएं सुनी और समाधान के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए

कलेक्टर ने विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा एवं आदिवासी बाहुल बोड़ला के ग्राम आमानारा और पंडरिया के ग्राम लखनपुर पहुचे

कवर्धा, 20 जुलाई 2023। जिले के बोड़ला और पंडरिया विकासखण्ड के विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा और आदिवासी बाहुल ग्राम आमानारा और ग्राम लखनपुर पहुंच कर कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे ने ग्रामीणों से साथ जन चौपाल लगाई। कलेक्टर ने इन दोनों गांवों के बैगा जनजाति और आदिवासी सहित सभी किसानों, महिलाओं से सीधा संवाद किया और उनकी समस्याएं, मांगों से रूबरू हुए। जन चौपाल में कलेक्टर ने वनअधिकार पत्रक के लाभार्थी किसानों से चर्चा करते हुए उन्हे लाभप्रदत एवं तकनीकी खेती से जोड़ने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है। किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ के लिए पंजीयन कराने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है। कलेक्टर ग्राम जनचौपाल में एसडीएम, आदिमजाति विकास सहायक आयुक्त एवं संयुक्त कलेक्टर डॉ मोनिका कौड़ो, सीएमएचओ डॉ सुर्यवंशी, कृषि उपसंचालक श्री राकेश शर्मा, क्रेडा अधिकारी श्री अनिल बिंझवार, सहित पशुधन विभाग, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक नोडल अधिकारी श्री आरपी मिश्रा, तहसीलदार, जनपद सीईओ,महिला एवं बाल विकास विभाग की सीडीपीओ और अन्य अधिकारी विशेष रूप से उपस्थित थे।
कलेक्टर ग्राम जन चौपाल में बताया गया कि बोडला के ग्राम आमानारा में व्यक्तिगत वन पट्टा के 108 किसान, जिसमें 25 महिला लाभार्थी शामिल है। यहां कुल परिवारों की संख्या 82 और कुल जनसंख्या 620 है। आमानारा का कुल रकबा 160.48 हेक्टेयर है जिसमें वन अधिकार किसान धान, मक्का, लघु धान्य कोदो, कुटकी अरहर की खेती करते है। इसी प्रकार ग्राम लखनपुर में 45 किसानों को व्यक्तिगत वन पट्टा वितरण किया गया है जिसमें 04 महिला शामिल है। यहां कुल परिवारों की संख्या 34 और कुल आबादी 479 है। यहां के किसान धान, अरहर, मक्का, कोदो कुटकी सहित अन्य दलहन-तिलहन की खेती करते है। यहां का कुल रकबा 41.53 हेक्टेयर है।
कलेक्टर श्री महोबे ने पंडरिया विकासखण्ड के ग्राम लखनपुर में बैगा, आदिवासियों से सीधा संवाद करते हुए उनकी मांगों के अनुसार विभिन्न योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए अधिकारियों को वर्कप्लान बनाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने वन विभाग के अधिकारियों को गांव की भूजल स्तर को बढ़ाने मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना से जोड़ने के लिए कहा है। क्रेडा विभाग को सौर सुजला योजनांतर्गत पांच किसानों को सोलर पंप प्रदान करने के लिए निर्देशित किया है, ताकि उन्हे खेती-किसानी कार्यों में और लाभ मिल सके। कृषि विभाग को सिचांई के लिए नाला से पानी के लिए मोटर पंप प्रदान करने, हितग्राहियां को पावर स्प्रेयर एवं बीज प्रदान करने, मत्स्य विभाग को मछली पालन के लिए जाल और बाक्स का वितरण करने के लिए, स्वास्थ्य विभाग को मलेरिया के रोकथाम के लिए मच्छरदानी वितरण स्वास्थ्य परीक्षण तथा दंतो संबंधित उपचार के लिए विशेष शिविर लगाने के लिए निर्देशित किया है। कलेक्टर श्री महोबे ने पशुपालन विभाग को कुक्कुट पालन के लिए चूजा प्रदान करना और किसानों को चयन करने के लिए निर्देशित किया है। साथ ही मनरेगा के अंतर्गत भूमि समतलीकरण कार्य, उद्यानिकी विभाग द्वारा फलदार पौधों का वितरण, हितग्राहियों को किसान क्रेडिट कार्ड, फसल बीमा योजना एवं प्रधानमं़त्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ दिलाना, और राजीव गांधी किसान न्याय योजना का लाभ दिलाने के लिए फसल बिक्री के लिए पंजीयन कराने के निर्देश दिए है।

संवेदनशील धूमाछापर के आदिवासी सूरज का होगा उचित इलाज

कलेक्टर श्री जनमेजय महोबे बोड़ला विकासखण्ड के सूदूर वनांचल एवं अति संवेदनशील ग्राम आमानारा पहुंचकर वहां के विशेष पिछड़ी बैगा जनजाति एवं आदिवासी परिवारों के बीच पहुंचे और सीधा संवाद किया। कलेक्टर ने अति संवेदनशील ग्राम धुमाछापर के आदिवासी युवक सूरज के उचित उपचार के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है। सूरज के मामा ने कलेक्टर को बताया कि वह बपचन में स्वस्थ था, लेकिन उनका सिर अचानक बढ़ता गया। आज वह युवक ठीक से चल फिर नहीं पा रहा है। कलेक्टर ने डाक्टरों को घर पहुंच कर उनके स्थिति की जानकारी लेने के निर्देश दिए है। उन्होने आदिवासी युवक की शीघ्रता से उपचार के लिए कहा है। कलेक्टर ने इसके अलावा ग्राम आमानारा में विद्युत विभाग को ट्रांसफारमर को ठीक करने के निर्देश दिए है। उन्होने वहां के किसानों को मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना से जोड़ने, क्रेडा के अधिकारी को पांच किसानों को सौर सुजला योजना के लिए चिन्हांकित करने, घर-घर पेयजल आपूर्ति के लिए जल जीवन मिशन को स्वीकृत कार्य शुरू करने, सड़क की स्थिति बेहतर बनाने के लिए कार्ययोजना बनाने, आयरन युक्त जल हैण्डपंप की समस्या दूर करने और प्राकृतिक जलस्त्रोत झिरिया सरंक्षण एवं संवर्धन के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए है। उन्होने वहां के किसानों को, मत्स्य पालन, कुक्क्ुट पालन, भूमि समतलीकरण, उद्यानिकी खेती से जोड़ने, भूमिहीन पारिवारों को राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन श्रमिक न्याय योजना, वन अधिकार पट्टाधारी किसानों को राजीव गांधी किसान न्याय योजना से जोड़ने, लधु धान्य फसल कोदो-कुटकी-रागी फसलों को जोड़ने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है।
कलेक्टर श्री महोबे ने राज्य शासन की प्राथमिकता वाली सभी योजनाओं राजीव गांधी किसान न्याय योजना, ग्रामीण भूमिहीन मजदूर न्याय योजना, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, मुख्यमंत्री हॉट-बाजार क्लिनिक योजना, शिक्षा गुणवत्ता अभियान, गोधन न्याय योजना, सुराजी गांव योजना के तहत संचालित गौठान, मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना सहित स्वास्थ्य सेवाओं की क्रियान्वयन की जानकारी ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *