Saturday, May 18

183 मतदान अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण

मास्टर ट्रेनरों ने प्रोजेक्टर के माध्यम से बताई बारीकियांक, लेक्टर भी रहे उपस्थित

बेमेतरा- लोकसभा आम निर्वाचन 2024 के लिए नियुक्त पीठासीन अधिकारी सहित मतदान अधिकारी क्रमांक 01, क्रमांक 02 एवं मतदान अधिकारी क्रमांक-03 जो विभिन्न कारणों, स्वास्थ्य गत कारणों से या नाम विलोपित होने से पहले दिये गये प्रशिक्षण में उपस्थित नहीं थे ऐसे 183 मतदान अधिकारी-कर्मचारियों को आज पीजी कॉलेज बेमेतरा में जिला स्तरीय प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण 12 मास्टर ट्रेनरों ने दिया। प्रशिक्षण प्रातः 10.00 बजे शुरू हुआ जो शाम तक चला।’

’मास्टर ट्रेनर श्री दिलीप सिंह ठाकुर,, श्री पीला राम साहू, श्री गिरजा शंकर शर्मा, श्री मनोज कुमार वर्मा, श्री के.आर. निषाद,श्री गौकरण पाटिल, शोमेश्वर देवांगन, घनश्याम मंडले,, श्री रामवतार वर्मा,आदि द्वारा सभी मतदान अधिकारियों को अपने-अपने स्तर से अधिकारियों को सैद्धांतिक प्रशिक्षण के साथ ही ईवीएम तथा वीवीपैट मशीन का हैंड ऑन प्रशिक्षण दिया। जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स डी आर साहू,जितेन्द्र बारले,सुनील झा उपस्थित थे। साथ ही उन्हें मतदान प्रक्रिया, ईव्हीएम सिलिंग, मॉक पोल, विभिन्न सूचना प्रपत्र आदि की भी विस्तार से जानकारी दी जा रही है।

मास्टर ट्रेनरों द्वारा पॉवर प्रेजेंटेशन के ज़रिए भी अधिकारियों को सौंपे गये दायित्वों कर्तव्यों एवं निर्वाचन के दौरान किये जाने वाले कार्यों की बारीकी से जानकारी दी जा रही है। विशेष परिस्थितियां उत्पन्न होने और उससे निपटने के गुण भी बताये गये। मतदान अधिकारियों को खास तौर पर ईवीएम इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन बैलेट यूनिट व कंट्रोल यूनिट के बारे में तकनीकी व व्यावहारिक जानकारी के बारे में बताया जा रहा है।

कलेक्टर एवं ज़िला निर्वाचन अधिकारी श्री रणबीर शर्मा ने प्रशिक्षण की गतिविधियां देखी। उन्होने सभी मतदान अधिकारियों को निर्वाचन से जुड़ी हर प्रक्रिया और प्रपत्र के बारे में गंभीरता से समझकर निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देश अनुरूप कार्य करने की बात कही। उन्होंने कहा कि जो समझ में ना आये वह पूछे । शंका का समाधान भी कर ले ताकि गलती की कोई गुंजाइश ना रहे। आप सभी का दायित्व है कि अपने कर्तव्य का निर्वहन गंभीरतापूर्वक पूर्ण निष्ठा से करें जिससे निष्पक्ष,पारदर्शी और सुव्यवस्थित निर्वाचन प्रक्रिया संपादित हो सके। उन्होंने निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देश के अनुरूप स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव हेतु अधिकारी-कर्मचारियों को आपसी तालमेल एवं सतर्कता से कार्य करने के लिए कहा। जिलाधीश ने प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि जिन कर्मचारियों की पहली बार मतदान करवाने की ड्यूटी लगाई गई है तो ऐसे अधिकारी प्रशिक्षण में दी जा रही सभी नियमों का बेहतर तरीके से रखें, ताकि किसी भी प्रकार की गलती होने की संभावना न होने पाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *