Sunday, April 14

वस्त्र मंत्री पीयूष गोयल ने दुनिया के लिए एक संसाधन के रूप में  भारतीय हस्तशिल्प के उच्च गुणवत्ता वाले संग्रह की पेशकश करने के लिए कॉटेज एम्पोरियम की प्रशंसा की

केन्द्रीय मंत्री ने कॉटेज एम्पोरियम का निरीक्षण किया और कॉटेज एम्पोरियम के पुनरुद्धार तथा कारोबार के विस्तार हेतु पीपीपी की संभावना तलाशने को कहा

उन्होंने एक आधुनिक एवं व्यावहारिक विपणन मंच प्रदान करके वैश्विक स्तर पर भारतीय शिल्प को बढ़ावा देने पर जोर दिया

नई दिल्ली (IMNB). केन्द्रीय वस्त्र मंत्री श्री पीयूष गोयल ने ‘एक जिला, एक उत्पाद’ (ओडीओपी), जीआई टैग किए गए उत्पादों और शिल्प सहित समृद्ध विरासत का प्रतिनिधित्व करने वाले पूरे भारत से प्रदर्शित हथकरघा और हस्तशिल्प उत्पादों के भंडार की सराहना की। केन्द्रीय मंत्री 10 नवम्बर 2022 को सेंट्रल कॉटेज इंडस्ट्रीज एम्पोरियम  का निरीक्षण कर रहे थे। यह एम्पोरियम  वस्त्र मंत्रालय के अंतर्गत एक सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम सेंट्रल कॉटेज इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन (सीसीआईसी) के तहत एक खुदरा आउटलेट है।

श्री गोयल ने सीसीआईसी द्वारा किए गए कार्यों की समीक्षा की और अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे कॉटेज एम्पोरियम के पुनरुद्धार और व्यवसाय के विस्तार हेतु सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) की संभावना तलाशें। उन्होंने दुनिया के सामने भारतीय हस्तशिल्प के उच्च गुणवत्ता वाले संकलन और कुशल कारीगरों एवं बुनकरों द्वारा बनाई गई उत्कृष्ट कृतियों के संग्रह की पेशकश करने वाली भारत की खिड़की के रूप में कॉटेज एम्पोरियम की सराहना की।

उन्होंने एक कुशल, आधुनिक एवं व्यावहारिक विपणन मंच प्रदान करके वैश्विक स्तर पर भारतीय शिल्प एवं बुनाई परंपराओं को बढ़ावा देने और देश के शिल्पकारों को पेश करने के महत्व पर जोर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *