Monday, April 15

विधानसभा उप निर्वाचन-2022 मतदान अधिकारी क्रमांक-02 एवं 03 को दिया गया प्रशिक्षण

उत्तर बस्तर कांकेर 19 नवंबर 2022 :- विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र क्रमांक-80 भानुप्रतापपुर (अजजा) के उप निर्वाचन में मतदान को संपन्न कराने के लिए गठित मतदान दल के मतदान अधिकारी क्रमांक-02 एवं मतदान अधिकारी क्रमांक-03 को आज शासकीय नरहरदेव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में मास्टर ट्रेनर्स के द्वारा प्रषिक्षण प्रदान किया गया। मतदान दलों को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का संचालन, मॉकपोल एवं सीआरसी तथा वास्तविक मतदान हेतु इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों को तैयार करने और सीलिंग की प्रक्रिया को विस्तार से बताया गया। मतदान दिवस को मतदान शुरू होने के 90 मिनट पहले मॉकपोल करने तत्पश्चात ड्रॉप बॉक्स से पर्ची को बाहर निकालकर अभ्यार्थियों के अनुसार पर्ची का मिलान करने और उसे लिफाफा में सीलकर बंद करने के बाद सीआरसी (क्लोज, रिजल्ट एवं क्लियर) करने  के पश्चात निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित समय प्रातः 07 बजे मतदान शुरू करने के संबंध में जानकारी दी गई। मतदान अधिकारी क्रमांक-02 के द्वारा मतदाता रजिस्टर का संधारण किया जायेगा। उक्त पंजी के सभी कॉलम को सावधानीपूर्वक भरने तथा अंतिम मतदाता द्वारा मतदान करने के बाद लाईन खींचकर अपने साथ-साथ पीठासीन अधिकारी एवं उपस्थित मतदान अभिकर्ताओं का हस्ताक्षर करवाने कहा गया। मतदान अधिकारी क्रमांक-03 जो कंट्रोल यूनिट का प्रभारी होता है, उन्हें कंट्रोल यूनिट का परिचालन एवं मतदाता पर्ची के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई।
अपर कलेक्टर श्री एस. अहिरवार एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री धनंजय नेताम ने मतदान दलों को दिये जा रहे प्रशिक्षण का निरीक्षण किया तथा मतदान अधिकारी क्रमांक-02 एवं 03 को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी को मतदान संपन्न कराने का महत्वपूर्ण दायित्व सौंपा गया है। अतः मास्टर ट्रेनर्स द्वारा प्रशिक्षण में जो भी जानकारी दिया जा रहा है, उसे भलिभांति समझें और किसी प्रकार की शंका हो तो उनका समाधान करा लेवें। भानुप्रतापपुर विधानसभा के उप निर्वाचन में प्रातः 07 बजे से दोपहर 03 बजे तक मतदान का समय निर्धारित किया गया है। वास्तविक मतदान शुरू होने के पूर्व इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में मॉकपोल अनिवार्य रूप से करें। मॉकपोल के परिणाम से उपस्थित अभ्यर्थियों के एजेंट को दिखाया जावे, उसके बाद मॉकपोल के पर्ची को व्हीव्ही पैट से निकालकर सील बंद कर रखें, तत्पश्चात सीआरसी करना न भूलें तथा मशीनों का सिलिंग करने के बाद निर्धारित समय पर वास्तविक मतदान प्रारंभ कराया जावे और मतदान समाप्ति के बाद क्लोज बटन अवश्य दबायें। मतदान कार्य को शांतिपूर्ण ढ़ंग से संपन्न कराने की समझाईश भी उनके द्वारा मतदान दल के अधिकारियों को दी गई। प्रशिक्षण के दौरान उपस्थित सभी मतदान दल के अधिकारियों ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का संचालन करके भी देखा। इस अवसर पर मतदान दल के प्रशिक्षण नोडल अधिकारी एवं जिला शिक्षा अधिकारी भुवन जैन, जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स सुरेशचन्द्र श्रीवास्तव, नवरतन साव, सुनील साहू, गोविन्द सार्वा सहित सभी मास्टर ट्रेनर्स उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *