Friday, June 21

बालक अरपित के लिए वरदान बना मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना


सिकलसेल एनीमिया से ग्रसित था बालक अरपित, बीमारी की गंभीरता और मुख्यमंत्री की संवेदनशीलता से 18 लाख की मिली थी स्वीकृति

रायगढ़, 14 दिसम्बर 2022/ पुसौर निवासी श्री जय नारायण नायक एवं उनकी पत्नी संध्या नायक खेती-किसानी करके अपना जीवन-यापन कर रहे थे, तभी उनके जीवन में हस्ता-खिलखिलाता एक नन्हा बालक अरपित ने जन्म लिया और उनके घर-आंगन को खुशियों से भर दिया। बालक धीरे-धीरे बढऩे तो लगा लेकिन उसका शरीर सुखने लगा, उसे सांस लेने में तकलीफ होने लगी और वह अक्सर थकान व कमजोरी महसूस करता था। माता-पिता को उसकी हालत देखकर चिंता सताने लगी और उन्होंने अपने स्तर से अस्पताल में जाकर उसका इलाज करवाया तो पता चला कि उनका बालक अरपित सिकलसेल एनीमिया से ग्रसित था। डॉक्टरों ने बताया कि बोन मैरो ट्रांसप्लांट से उनका बेटा पूरी तरह से स्वस्थ हो जायेगा, लेकिन उसके इलाज के लिए लाखों रुपये की जरूरत पड़ेगी। उनके पास इतनी बड़ी रकम नहीं थी कि उनके बेटे का वे इलाज करा सके। इस बात को सुनकर कृषक जय नारायण एवं उनकी पत्नी संध्या के घर-आंगन की खुशियां जैसे मातम में बदल गयी थी। बेटे अरपित का चेहरा देखकर माता-पिता के आंखों में हर वक्त आंसू टपक रहे थे। तभी उन्हें मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना की जानकारी प्राप्त हुयी और इस योजना से उन्हें 18 लाख रुपये की सहायता राशि मिली, जिससे बालक अरपित का सफल इलाज हुआ। अरपित लगभग 6 वर्ष का हो गया है और वह पूरी तरह से स्वस्थ है। कृषक श्री जय नारायण एवं उनकी पत्नी संध्या ने मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को अपना धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना उनके बेटे अरपित के लिए वरदान साबित हुई।
उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा प्रदेश के नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना प्रारंभ की गई है। पूर्व से चल रही संजीवनी सहायता राशि का विस्तार करते हुये प्रदेश के प्राथमिकता एवं अंत्योदय राशन कार्डधारी परिवारों को दुर्लभ एवं गंभीर बीमारियों के नगद रहित उपचार लाभ दिलाने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। पूर्ववर्ती सरकार द्वारा संचालित योजना में अधिकतम 03 लाख रूपये तक ही की सहायता राशि प्रदान की जाती थी। अब प्रदेश के निवासियों को इस महत्वकांक्षी योजना के माध्यम से अधिकतम 20 लाख रूपये तक की मदद मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के अनुमोदन से प्रदान की जा सकेगी। मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों को मिल सके तथा छत्तीसगढ़ एक सुदृढ़ राज्य के रूप में विकसित हो इसके लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तत्पर है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मधुलिका सिंह ठाकुर एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुश्री रंजना पैंकरा ने जिलेवासियों को ऐसे दुर्लभ एवं गंभीर बीमारियों के लिए इस योजना का लाभ लेने हेतु आग्रह किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *