Sunday, April 21

सीएम भूपेश बोले-बीजेपी ने हमारे पीएम का अपमान किया 0 कहा-भाजपा ने बलात्कारी के साथ प्रधानमंत्री की फोटो लगा दी, अपना समर्थन वापस ले

भानुप्रतापपुर। भानुप्रतापपुर उपचुनाव में कांग्रेस के प्रचार के लिए रवाना हो रहे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, भाजपा ने एक बलात्कारी के साथ प्रधानमंत्री की फोटो लगाकर उनका अपमान किया है। भाजपा के लिए अच्छा होगा कि वे पहले बलात्कारी के साथ लगी प्रधानमंत्री की फोटो हटाएं। ऐसे प्रत्याशी से भाजपा अपना समर्थन भी वापस ले।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, भाजपा हमारे प्रधानमंत्री का अपमान कर रही है। एक नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार करने वाले को कैंडिडेट बना दिया है। अब उसके साथ प्रधानमंत्री की फोटो लगाएं हैं। यह सीधे-सीधे प्रधानमंत्री का अपमान नहीं है? भाजपा ही प्रधानमंत्री का अपमान कर रही है। एक बलात्कारी के साथ प्रधानमंत्री की फोटो लगाएं हैं, यह कितनी अपमानजनक बात है। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर के आरोपों से जुड़े सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा, अजय चंद्राकर जी पहले खुद देख लें। बलात्कार के आरोपी ब्रह्मानंद नेताम के साथ प्रधानमंत्री की फोटो लगाए हैं कि नहीं लगाएं हैं। पहले प्रधानमंत्री की फोटो वहां से हटायें। मुख्यमंत्री ने कहा, अच्छा तो यह होगा कि जब यह पता चल गया कि ब्रह्मानंद नेताम बलात्कारी है तो भाजपा उससे अपना समर्थन वापस ले ले। उनके हाईकमान से भी कहना चाहूंगा कि अपना समर्थन वे वापस लें। एक बलात्कारी के बचाव में भाजपा के राष्ट्रीय स्तर से लेकर प्रदेश स्तर का नेतृत्व क्यों खड़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा, मुंह छिपाने से काम नहीं चलेगा। भाजपा नेताओं को आगे बढ़कर ब्रह्मानंद नेताम से अपना समर्थन वापस ले लेना चाहिए। सिंबल तो वापस नहीं हो सकता लेकिन समर्थन तो वापस ले ही सकते हैं।
उपचुनाव में तीन दिन बहुत है
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, कल गुजरात दौरे से लौटा और आज भानुप्रतापपुर जा रहा हूं। वहां नामांकन रैली और कार्यकर्ताओं की बैठक में गया था। उसके बाद आज जा रहा हूं। भानुप्रतापपुर में कम समय देने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा, आज जा रहा हूं, कल जाउंगा फिर तीन दिसम्बर को जाना है। तीन दिन दे रहा हूं एक उप चुनाव के लिए और कितना? यह बहुत है।
कल-परसों आरक्षण के लिए महत्वपूर्ण
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, कल-परसों का दिन बहुत महत्वपूर्ण है। भाजपा की गलत नीतियों के कारण सभी वर्गों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल पा रहा था। अब इसके लिए विशेष सत्र बुलाया गया है। इसमें आदिवासियों के, अनुसूचित जाति के, के ओबीसी के ईडब्ल्यू सभी का बिल आएगा। मुख्यमंत्री ने कहा, यह विधेयक पारित होगा ही, सदन में उनकी पार्टी का तीन चौथाई बहुमत है। हम चाहेंगे कि इस विधेयक को सर्वसम्मति से पारित किया जाए। अगर भाजपा भी समर्थन करेगी तो अच्छी बात है।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 30 नवंबर को कोडेकुर्सी, भानुप्रतापपुर, पुरी और टंहकापार में चुनावी सभाओं को संबोधित करने वाले हैं। अगले दिन यानी 1 दिसम्बर को मुख्यमंत्री दुर्गुकोंदल और चारामा में जनसभा के बाद रोड शो में भी शामिल होंगे। प्रचार के अंतिम दिन यानी 3 दिसम्बर को मुख्यमंत्री बघेल कोरर और लखनपुरी में सभा को संबोधित करने वाले हैं। यानी इस प्रचार अभियान में रोड शो सहित आठ चुनावी सभाओं को संबोधित करने वाले हैं। उप चुनाव में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ही कांग्रेस के सबसे बड़े प्रचारक हैं। 17 नवम्बर को नामांकन के बाद मुख्यमंत्री पहली बार इस चुनाव में प्रचार के लिए उतरने वाले हैं। इसके लिए चुनाव अभियान समिति ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली हैं। बताया जा रहा है, मुख्यमंत्री की सभा और रोड शो को लेकर सभी स्तर की तैयारी हो रही है। प्रभारी मंत्री अनिला भेडिय़ा के साथ मंत्री कवासी लखमा भी इसकी जिम्मेदारी संभाले हुए हैं।
सीएम पहले भी बोल चुके हैं हमला
2 दिन पहले सीएम ने कहा था कि भाजपा एक बलात्कारी के साथ खड़ी है। नाबालिग से रेप के आरोपी के साथ भाजपा खड़ी है, जो नैतिकता के खिलाफ है। उन्होंने कहा, भाजपा के ही नेता बृजमोहन अग्रवाल और दूसरे लोग गिरफ्तार करने को लेकर चुनौती दे रहे थे। अब झारखंड पुलिस पहुंच गई तो इस मामले को षड्यंत्र बताने लगे हैं। रायपुर में हेलीपैड पर पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा था, भाजपा ही पहले ये कह रही थी कि हिम्मत है तो गिरफ्तार करें। गिरफ्तारी के लिए चैलेंज कर रही थी और अब जब पुलिस आयी है तो हाय तौबा क्यों मचा रही है। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा था कि आओ यहां से गिरफ्तार करके दिखाओ अब जब पुलिस आयी है तो यही लोग कुछ और बोल रहे हैं। भाजपा नेताओं के आरोपों से जुड़े एक सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा, कानून अपना काम कर रहा है। किसी के दोस्त रहने से कोई गिरफ्तारी नहीं हो जाती। 15 साल की नाबालिग के साथ जो रेप किया गया था, उस मामले में ये केस दर्ज हुआ है। वह भी 2019 में जब झारखंड में रघुवर दास यानी भाजपा की सरकार थी। भाजपा नेताओं को उनसे पूछना चाहिए कि इतना पहले षडयंत्र कैसे शुरू हो गया था। मुख्यमंत्री ने कहा, किसी के दोस्त रहने पर क्या किसी की गिरफ्तारी हो जायेगी? कानून अपना काम करता है। दूसरे राज्य की पुलिस आती है, यहां थाने अथवा एसपी ऑफिस से मदद मांगती है तो जो भी प्रक्रिया है उसके तहत मदद की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *