Friday, June 21

कलेक्टर रानू साहू ने घरघोड़ा के भेंड्रा आंगनबाड़ी केंद्र का किया निरीक्षण, बच्चों को प्रदान किए जाति प्रमाण पत्र

कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग करने के दिए निर्देश
बैहामुडा गौठान का भी किया निरीक्षण, मशरूम उत्पादन को बढ़ावा देने पर दिया जोर


रायगढ़, 29 दिसम्बर 2022/ कलेक्टर श्रीमती रानू साहू आज घरघोड़ा विकासखंड के दौरे पर रही। यहां उन्होंने भेंड्रा आंगनबाड़ी का निरीक्षण किया। सीईओ जिला पंचायत श्री अबिनाश मिश्रा भी इस दौरान उपस्थित रहे। उन्होंने बच्चों से मुलाकात कर उनका हाल-चाल जाना। इस दौरान उन्हें जाति प्रमाण पत्र भी प्रदान किया। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्रीमती साहू की पहल पर आंगनबाड़ी में ही बच्चों के जाति प्रमाण पत्र बना कर दिए जा रहे हैं। जिससे आगे चल कर वे अपनी पढ़ाई-लिखाई व शासन की योजनाओं का लाभ लेने में उसका उपयोग कर सकें। एसडीएम घरघोड़ा श्री रोहित सिंह ने बताया कि भेंड्रा आंगनबाड़ी केंद्र के सभी बच्चों के जाति प्रमाण पत्र बना लिए गए हैं।
कलेक्टर श्रीमती साहू ने आंगनबाड़ी में बच्चों को दी जा रही सुविधाओं का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि कुपोषित बच्चों को पोषण आहार प्रदान करने के साथ ही उनके स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग करें। उनके पालकों को भी बच्चों के सेहत और खान-पान के लिए जागरूक करें। जिसके उनके स्वास्थ्य में जल्द सुधार हो। निरीक्षण के दौरान उन्होंने आंगनबाड़ी भवन का भी मुआयना किया। उन्होंने किचन में पर्याप्त साफ -सफाई रखने के लिए निर्देशित किया। साथ ही भवन में मरम्मत योग्य कार्य को जल्द करवाने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर श्रीमती साहू ने इस मौके पर गांव के बच्चों से चर्चा कर उनकी पढ़ाई-लिखाई के बारे में भी पूछा। उन्होंने बच्चो को अच्छे से पढ़ाई करने के लिए शुभकामनाएं दीं।
इस दौरान डीपीओ महिला बाल विकास विभाग श्री टी.के.जाटवर सहित अन्य विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।
रीपा में मशरूम उत्पादन को दें बढ़ावा
कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने आज घरघोड़ा विकासखंड के बैहामुड़ा गौठान का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने महिला समूहों से चर्चा कर उनके द्वारा गौठान में किए जा रहे कार्यों के बारे में जानकारी ली। सदस्यों ने बताया कि गौठान में अभी समूह द्वारा वर्मी कंपोस्ट का उत्पादन किया जा रहा है। जिसमें अब तक 3 लाख का कम्पोस्ट विक्रय किया जा चुका है। इसके साथ ही यहां कोसा धागा उत्पादन, आयस्टर मशरूम उत्पादन व मुर्गी पालन का कार्य किया जा रहा है। मशरूम उत्पादन से समूह को बढिय़ा लाभ मिला है। इसके साथ ही समूह द्वारा सामुदायिक बाड़ी का कार्य भी किया जा रहा है, इसके लिए नर्सरी तैयार की गई है। गौठान में पशुओं के चारे के लिए नेपियर घास की व्यवस्था भी की गई है। कलेक्टर श्रीमती साहू ने महिला समूह के काम की सराहना करते हुए कहा कि महिलाएं यहां अच्छा कार्य कर रही हैं। उन्होंने सभी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में मशरूम उत्पादन की ट्रेनिंग महिला समूहों को देने के निर्देश दिए। इस मौके पर जनपद पंचायत घरघोड़ा के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *