Friday, June 21

राज्य सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं का हो प्रभावी क्रियान्वयन मुख्यमंत्री के सचिव ने ली अधिकारियों की बैठक

बेमेतरा 30 दिसंबर 2022-मुख्यमंत्री के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने कल गुरुवार को शाम विश्राम गृह नांदघाट में जिला स्तर के अधिकारियों की बैठक लेकर शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों के क्रियान्वयन की बैठक ली। उन्होंने शासन की फ्लैगशिप योजनाओं  के बेहतर क्रियान्वयन और इसका लाभ आम जनता को अधिक से अधिक मिले इस बात पर विशेष रूप से जोर दिया। इस अवसर पर प्रभारी संभागायुक्त यशवंत कुमार, कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला, डीएफओ दुर्ग शशिकुमार, जिला पंचायत सी ई ओ श्रीमती लीना कमलेश मंडावी, अपर कलेक्टर डॉ. अनिल बाजपेयी सहित विभागीय अधिकारी मौजूद थे। सचिव श्री परदेशी ने जिले में जल जीवन मिशन के कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए। राज्य सरकार की नरवा योजना की जानकारी लेते हुए सचिव ने नरवा ट्रीटमेंट के जरिए भू-जल स्तर के संबंध में जानकारी ली। राज्य शासन के निर्देश पर सभी सरकारी भवनों की पोताई में गोबर के पेंट का उपयोग करना है। बैठक के दौरान उन्होने मुख्यमंत्री की घोषणाओं पर त्वरित कार्यवाही करते हुए इसकी सूचना राज्य सरकार को भी प्रेषित किया जाए। जिले में सड़कों की मरम्मत नियमित रुप से होती रहे। कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए प्रभावी कार्यवाही करें। महिला एवं बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि बेमेतरा जिले में लगभग 16 हजार बच्चे चिन्हांकित किए गए हैं। उनका बेहतर देखभाल की जा रही है। मुख्यमंत्री के सचिव ने बुधवार को बेमेतरा के उच्च विश्राम गृह में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कामकाज की समीक्षा की थी।
सचिव श्री परदेशी ने गौठान योजना के अन्तर्गत समीक्षा करते हुए कहा कि स्वीकृत सभी गौठानों में पानी की व्यवस्था हो, वर्मी खाद टाका का निर्माण हो। राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों को मिले, इसकी सूची ग्राम पंचायतों मे भी चस्पा करें। गांव में जो पात्र हितग्राही छूट गया हो, उन्हें इस योजना का लाभ दिलाने के लिए आवश्यक कार्यवाही करें। खाद्य विभाग के समीक्षा के दौरान बताया गया कि जिले में 50 प्रतिशत धान की कस्टम मिलिंग बाहर के जिले से होती है। खाद्य एवं उद्योग विभाग मिलकर उद्यमियों को राइस मिल लगाने के लिए प्रोत्साहित करें। नागरिक आपूर्ति निगम (नॉन) द्वारा मिलरों से अमानक चावल तो नहीं हो रहा है इसकी समय-समय पर जांच करते रहें। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में जिनका राशन कार्ड नहीं बना हो उनके लिए शिविर समय-समय पर आयोजित करते रहे। कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के समीक्षा के दौरान सचिव ने कहा कि धान के बदले अन्य फसल लेने के लिए किसानों को प्रेरित करें। उप संचालक कृषि ने बताया कि धान के बदले अन्य फसल लेने के लिए 300 हेक्टेयर का रकबा बढ़ा है किन्तु, जिले में सोयाबीन का रकबा घट गया है। इसी तरह बेमेतरा जिले में 400 हेक्टेयर रकबे में कपास का उत्पादन हो रहा है। सचिव श्री परदेशी ने जिला मुख्यालय बेमेतरा में मुख्यमंत्री के समक्ष मांग आयी जिसमें अनुसूचित जाति पोस्ट मैट्रिक छात्रावास का निर्माण किया जाए। इस संबंध में सहायक आयुक्त को स्थान चिन्हित कर प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। जिले में हाट-आजार क्लिनिक के अन्तर्गत 9 गाड़ियां संचालित है, जो बेमेतरा जिले के 55 बाजारों में भ्रमण कर लोगों का निःशुल्क इलाज किया जा रहा है। जिले में 8 स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम स्कूल एवं एक हिन्दी माध्यम स्कूल संचालित है। सचिव श्री परदेशी ने समाज कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान सामाजिक सुरक्षा पेंशन सहित अन्य पेंशन योजना का लाभ समय पर नियमित रूप से मिले। इस बात का विशेष ध्यान रखें। उन्होने ट्रायसिकल योजना के संबंध में जानकारी ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *