Monday, April 15

रोजगार सृजन को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता के तहत देश भर के 45 स्थानों पर रोजगार मेलों का आयोजन

विधि एवं न्याय राज्य मंत्री प्रो. एस.पी. सिंह बघेल ने वसंत कुंज में आयोजित रोजगार मेले  में अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किये

नई दिल्ली (IMNB). रोजगार सृजन को सर्वोच्च प्राथमिकता देने की प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता के तहत आज देश भर के 45 स्थानों पर रोजगार मेलों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर, प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 71,000 नए शामिल अभ्यर्थियों को नियुक्ति प्रस्ताव (ओओए) वितरित किये।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0012Z25.jpg

 

विधि और न्याय राज्य मंत्री प्रो. एस.पी. सिंह बघेल ने शौर्य ऑफिसर्स इंस्टीट्यूट, सीआरपीएफ, वसंत कुंज, नई दिल्ली में आयोजित रोजगार मेले में भाग लिया। उन्होंने उपस्थित जनसमुदाय को युवाओं के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सरकार की पहलों के बारे में बताया।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003KQNI.jpg https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004QBZF.jpg

 

संस्थान में कुल 224 अर्हता प्राप्त उम्मीदवार उपस्थित थे। प्रो. एस. पी. सिंह बघेल ने अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किए।

विधि एवं न्याय राज्य मंत्री प्रो. एस.पी. सिंह बघेल ने उम्मीदवारों को बधाई दी और उन्हें सलाह देते हुए कहा कि इस गौरवशाली समय में देश की सेवा करने और उच्च पदों के लिए भी अपनी तैयारी जारी रखने का यह उनके लिए एक बड़ा अवसर है। नियोक्ता मुख्य रूप से  रक्षा, वित्त, शिक्षा, स्वास्थ्य, रेलवे, गृह, बिजली, जल संसाधन आदि क्षेत्रों से थे।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image005AFER.jpg https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image006UA85.jpg

 

प्रधानमंत्री के संबोधन के बाद विधि एवं न्याय राज्य मंत्री प्रो. एस.पी. सिंह बघेल ने कुछ उम्मीदवारों को ओओए की भौतिक प्रतियां वितरित कीं। उन्होंने उम्मीदवारों से बातचीत भी की।

नए नियुक्त हुए युवा सरकार में शामिल होंगे और देश की सेवा करेंगे। वे राष्ट्र निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे और India@47 के गवाह बनेंगे। यह श्रृंखला का दूसरा कार्यक्रम है (पहला आयोजन 22 अक्टूबर 2022 को 50 स्थानों पर किया गया था), ताकि प्रधानमंत्री की परिकल्पना के अनुरूप अगले एक साल के दौरान 10 लाख नियुक्तियां प्रदान की जा सकें।

 

**

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *