Saturday, May 18

कोरबा : बुजुर्ग मतदाताओं ने मताधिकार की सुविधा पाकर खुशी खुशी अपने पसंदीदा अभ्यर्थी को किया मतदान

102 वर्षीय मोनो बाई, घर से मतदान कर  लोकतंत्र के महापर्व में हुई शामिल
वनांचल ग्राम साखो की रहने वाली 101 वर्षीय दलेश व परवतिया बाई ने होम वोटिंग कर अपने मताधिकार का किया उपयोग
होम वोटिंग की सुविधा उम्रदराज मतदाताओं के लिए बहुत ही लाभदायक- दलेश बाई
मतदान दिवस को वोट देकर राष्ट्र को मजबूत बनाने में अपनी भागीदारी निभाने का आमजनों से किया आग्रह
विधानसभा कटघोरा व पाली तानाखार में कराया गया होम वोटिंग

कोरबा, 28 अप्रैल 2024/ भारत निर्वाचन आयोग द्वारा होम वोटिंग की सुविधा प्रारम्भ करने के फलस्वरूप शारीरिक रूप से असमर्थ एवं वयोवृद्ध मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर लोकतंत्र के निर्माण में अपनी सहभागिता निभा रहे हैं। निर्वाचन आयोग के इस अभिनव पहल से आज जिले के कटघोरा एवं पाली तानाखार विधानसभा के 85 वर्ष से अधिक की आयु के बुजुर्ग मतदाता तथा दिव्यांग मतदाताओ ने आज बड़ी ही सरलता से घर से ही मतदान कर मजबूत लोकतंत्र के निर्माण में अपना योगदान दिया।
जिला मुख्यालय के दूरस्थ क्षेत्र पोड़ी उपरोड़ा के वनांचल ग्राम साखो की रहने वाली 101 वर्षीय बुजुर्ग मतदाता दलेश बाई, परवतिया बाई, एवं 102 वर्षीय मोनो बाई पैंकरा ने लोकतंत्र के महापर्व में हिस्सा लेकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इन वयोवृद्ध मतदाताओं ने लोकसभा आम निर्वाचन 2024 में होम वोटिंग के द्वारा मताधिकार का प्रयोग की सुविधा पाकर अपने पसंदीदा अभ्यर्थी को खुशी खुशी वोट किया। अपनी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए दलेश बाई ने बताया कि होम वोटिंग की सुविधा उम्रदराज मतदाताओं के लिए बहुत ही लाभदायक है।
शारीरिक रूप से कमजोर एवं वृद्धावस्था के चलते चलने-फिरने में सक्षम नहीं होने के कारण वह मतदान दिवस को पोलिंग बूथ पहुँचकर वोट डालने में असमर्थ थी, निर्वाचन आयोग के इस सराहनीय प्रयास से वह अपने मत का उपयोग करने में सक्षम हुई।  इसी प्रकार परवतिया बाई ने उम्र की इस पड़ाव में आयोग द्वारा उनके मौलिक अधिकार को उन तक पहुचाने के सार्थक कदम को सराहा। उन्होंने कहा कि होम वोटिंग की सुविधा के कारण उन्हें आज वोट डालने का अवसर मिला है। 102 वर्षीय मोनो बाई ने भी कहा कि विपरित परिस्थितियों के बावजूद भी आज उन्हें वोट देने का मौका मिला। वे शारीरिक कमजोरी के कारण अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकने में असमर्थ थी।  भारत निर्वाचन आयोग के इस कारगार व्यवस्था के कारण कठिन स्थिति  में भी आज उन्हें अपने मत देने का मौका मिला है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग की यह सुविधा उनके जैसे अनेक चलने-फिरने में असमर्थ बुजुर्ग एवं दिव्यांग मतदाताओं का मताधिकार का प्रयोग कराने के लिए अत्यंत फायदेमंद साबित होगा। इस हेतु सभी बुजुर्ग मतदाताओं ने भारत निर्वाचन आयोग के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया साथ ही आमजनों से मतदान दिवस को मत देकर राष्ट्र को मजबूत बनाने में अपनी भागीदारी निभाने का आग्रह किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *