Tuesday, April 16

विधान सभा मंत्री शिव डहरिया और भाजपा विधायक अजय चंद्राकर भिड़े जमकर हुआ हंगामा

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा में दूसरे दिन की कार्रवाई जारी है। सत्र के दूसरे दिन विधानसभा में अजय चंद्राकर ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम पर वीविशेषाधिकार भंग करने का आरोप लगाकर्यवार काही की मांग की और कहा है कि, विधानसभा की अधिसूचना से पहले मोहन मरकाम को कैसे पता चला कि 2 दिसम्बर को बिल पेश होगा। हालाकि इस पर विधानसभा अध्यक्ष महंत ने कहा कि वे इस पर अपना फैसला बाद में देंगे। इधर अजय चंद्राकर और शिव डहरिया में तीखी नोकझोक हुई। धक्का-मुक्की की नौबत भी आ गई थी। विपक्ष ने सदन से वाकआउट भी किया है। दरअसल सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगित कर दी गई थी। इस बीच शिव डहरिया ने विपक्ष को चुनौती दे दी। उसके बाद अजय चंद्राकर और बृजमोहन अग्रवाल सवाल-जवाब करने लगे। इधर डहरिया भी उनकी तरफ तेजी से बढ़े। बीच में दोनों एक दूसरे से टकराए। हालाकि इस बीच दूसरे विधायक बीच-बचाव करने पहुंच गए।

अनुपूरक बजट पेश, पारित भी

विधानसभा में 4337 करोड़ 75 लाख 93 हजार 832 रुपए से अधिक का अनुपूरक बजट पेश हुआ है। अनुपूरक बजट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि, बेहतर वित्तीय प्रबंधन से अक्टूबर तक 898 करोड़ का राजस्व हुआ है। छत्तीसगढ़ की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है। प्रदेश में सभी वर्गों के लोगों की आय एवं क्रय क्षमता में वृद्धि हुई है। इस अनुपूरक बजट में सौर सुजला योजना के तहत 105 करोड़ का प्रावधान है। बिजली बिल हाफ करने के लिए में 31 करोड़ का प्रावधान है। स्टील उद्योग के उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए 57 करोड़ का प्रावधान है। वहीं राजीव गांधी किसान न्याय के तहत 950 करोड़ का प्रावधान है। राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के अंतर्गत आई 129 करोड़ का प्रावधान रखा है। इस बीच, विपक्ष की आपत्ति के बीच अनुपूरक बज़ट पारित कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *