Tuesday, April 16

कामधेनु विश्वविद्यालय के विश्वविद्यालय पुस्तकालय में ‘अवेयरनेस प्रोग्राम आन जे-गेट सेरा’ विषय पर राष्ट्रीय कार्यशाला

दुर्ग 02 दिसंबर 2022/दाऊ श्री  वासुदेव चंद्राकर कामधेनु विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ.(कर्नल) एन.पी. दक्षिणकर के कुशल मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में विश्वविद्यालय पुस्तकालय ने 1 दिसंबर को राष्ट्रीय कार्यशाला अवेयरनेस प्रोग्राम ऑन जे-गेट सेरा का आयोजन किया । विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ.(कर्नल) एन.पी. दक्षिणकर ने दीप प्रज्वलन कर इस कार्यशाला का शुभारंभ किया। कुलपति जी ने इस कार्यशाला में ऑनलाइन/ऑफलाइन (हाइब्रिड) मोड में जुड़े हुए सभी सहभागियों तथा महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज का युग टेक्नोलॉजी का युग है। सेरा एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसके माध्यम से आप शोध  आलेखों को आसानी से पढ़ व डाउनलोड कर सकते हैं। इसके माध्यम से कृषि, जैविक विज्ञान, जैव चिकित्सा विज्ञान, इंजीनियरिंग, प्रौद्योगिकी, सामाजिक और प्रबंधन विज्ञान से संबंधित आलेखों, पुस्तकों और शोध पत्रिकाओं को ऑनलाइन पढ़ सकते हैं। विश्वविद्यालय पुस्तकालय में उपलब्ध संसाधनों एवं पाठकों को दी जाने वाली सेवाओं की भूरी भूरी प्रशंसा की तथा इस कार्यशाला के सफल आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी। अधिष्ठाता डॉ.एस.के.तिवारी ने इस कार्यशाला की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए बताया कि महाविद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के लिए यह कार्यशाला बहुत ही महत्वपूर्ण है सेरा ऑनलाइन पोर्टल में आप उन सभी आलेखों, शोध पत्रिकाओं का अध्ययन कर सकते हैं जो आपकी स्थानीय पुस्तकालय में उपलब्ध नहीं होते हैं। जे-गेट सेरा यूजर्स को लेखक के नाम, संस्था, की वर्ड्स आदि के द्वारा किसी भी शोध आलेखों को खोजने की सुविधा प्रदान करता है। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ.आर.के. सोनवाने ने अपने स्वागत भाषण में सेरा पोर्टल के माध्यम से पाठकों को दी जाने वाली सुविधाओं की महत्व को प्रतिपादित करते हुए ऑनलाइन/ऑफलाइन (हाइब्रिड) मोड के माध्यम से जुड़े हुए सभी प्रतिभागियों को संबोधित कर कहा कि यह कार्यशाला आपके व्यवहारिक एवं प्रायोगिक ज्ञान में सहायक है। विश्वविद्यालय पुस्तकालय आधुनिकतम तकनीक से परिपूर्ण है। कार्यशाला में इंफॉर्मेटिक्स बेंगलुरु के सीईओ श्री संजय ग्रोवर एवं विषय विशेषज्ञ तथा प्रशिक्षक श्री महेंद्र नाथ सरकार ने पावर प्वाइंट प्रजेंटेशन के माध्यम से ऑनलाइन/ऑफलाइन मोड में जुड़े हुए सहभागियों को सेरा की उपयोगिता सेरा के माध्यम से कैसे शोध आलेखों, थीसिस, प्रोसिडिंग, ई-जनरल, ई-बुक्स को एक्सेस किया जा सकता है आदि से अवगत कराया। सेरा  भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की भारत के समस्त कृषि, पशुपालन, मात्स्यिकी, उद्यानिकी विश्वविद्यालयों को दी जाने वाली एक प्रकार की ई लर्निंग पोर्टल सुविधा है जिसमें आप विश्वविद्यालय के बाहर से भी ऑनलाइन शोध आलेखों, ई-बुक्स को पढ़ व डाउनलोड कर सकते हैं। इस कार्यशाला में विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ.आर.के.सोनवाने, निदेशक शिक्षण डॉ.एस.पी.इंगोले, निदेशक विस्तार शिक्षा डॉ.संजय शाक्य, अधिष्ठाता डॉ.एस.के.तिवारी, निदेशक पंचगव्य संस्थान डॉ.के.एम.कोले, विषय विशेषज्ञ श्री महेन्द्र नाथ सरकार, सह-आयोजक डॉ.शिवेश देशमुख, इंजी.संकल्प बहादुर सिंह, प्राध्यापकगण, अध्ययनरत छात्र-छात्राऐं तथा आनलाइन मोड में देशभर से 185 से अधिक प्रतिभागियों की गरिमामयी उपस्थिति रही। कार्यक्रम का संचालन डॉ. सविता  बिसेन तथा आयोजन सचिव एवं विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी डॉ.दिलीप चौधरी द्वारा धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *