Thursday, January 26

सामाजिक समरसता के साथ पेसा एक्ट लागू हुआ मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष ने धार के कुक्षी में ‘पेसा जागरूकता सम्मेलन’ को किया संबोधित

सामाजिक समरसता के साथ पेसा एक्ट लागू हुआ
मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष ने धार के कुक्षी में ‘पेसा जागरूकता सम्मेलन’ को किया संबोधित
मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष ने किया गौरव यात्रा को रवाना
4 दिसंबर को पेसा पर एक बड़ी सभा इंदौर में होगी


धार। भारतीय जनता पार्टी जनजातीय हितों के लिए प्रतिबद्ध है। जनजातीय भाई-बहनों के हित में प्रदेश में पेसा एक्ट लागू कर दिया गया है। यह ऐक्ट किसी गैर जनजातीय के खिलाफ नहीं है, यह जनजातीय भाई-बहनों को और मजबूत करने के लिए है। यह एक्ट सामाजिक समरसता के साथ लागू हुआ है। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा ने रविवार को धार जिले के कुक्षी में आयोजित ’पेसा जागरुकता सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए कही। सम्मेलन के पश्चात् मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा व पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री श्री हितांनद जी ने जनजातीय नेताओं के साथ क्रांतिसूर्य जननायक टंट्या भील ‘गौरव यात्रा’ के रथ का पूजन कर उसे रवाना किया।

पेसा एक्ट जनजातीय भाई-बहनों को मजबूत करने के लिए : शिवराज सिंह चौहान
सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पेसा एक्ट किसी के खिलाफ नहीं है, यह 89 ब्लॉक में लागू होगा। शहरों में नहीं गावों में लागू होगा। उन्होंने कहा कि ग्राम सभा में जनजातीय भाईयो-बहनों के अलावा अन्य जातियों के भाई-बहन भी होंगे। उन्होंने कहा कि यह जल, जंगल, खदाने भगवान ने सभी के लिए बनाई हैं। पेसा कानून के जो नये नियम बने हैं, वह जमीन, जल और जंगल का अधिकारी ग्राम सभा को देने वाले हैं। उन्होंने कहा कि हर साल गांव की जमीन, उसका नक्शा, खसरे की नकल, बी-1 की नकल, पटवारी या बीट गार्ड गांव में लाकर दिखाएगा। ग्राम सभा में यह दिखाई जाएगी, ताकि जमीन में कोई हेर-फेर न हो सके। आपके पास नक्शा भी रहे और किस-किस का नाम है यह भी जानकारी रहे। उन्होंने कहा कि राजस्व के नक्शे में कोई गड़बड़ी हो तो ग्रामसभा को यह अधिकार होगा कि वह यह नाम ठीक करा सके।

भाजपा सरकार ने गांव-गांव में तालाब बनवाये
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भाजपा की सरकार ने गांव-गांव में तालाब बनवाये हैं। इन तालाबों का प्रबंधन ग्राम सभाएं करेंगी। तालाब में मछली पालन होगा या नहीं, यह ग्राम सभा तय करेगी और उससे प्राप्त होने वाली राशि ग्राम सभा को मिलेगी। उन्होंने कहा कि मामा की सरकार में शोषण नहीं होगा। अगर किसी ने निर्धारित ब्याज से ज्यादा या बिना लाइसेंस के कर्जा दिया तो वह कर्ज वसूली नहीं करवा पाएगा। वह कर्ज माफ कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि खदानों व खनिजों पर पहला अधिकार जनजातीय सोसाइटी का, दूसरा अधिकार जनजातीय बहनों का, तीसरा अधिकार जनजातीय पुरुष का होगा और यदि वह मना करें तो फिर किसी ओर का अधिकार होगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि क्रांतिसूर्य टंट्या मामा का बलिदान दिसंबर 4 दिसंबर को है। आज से शुरू हुई गौरव यात्रा जनजातीय अंचल में अलग-अलग भ्रमण करते हुए 3 दिसंबर को टंट्या मामा की कर्मस्थली में पहुंचेंगी और 4 दिसंबर को पेसा पर एक बड़ी सभा इंदौर में होगी।

देश की आजादी के लिए जनजतीय नायकों ने सर्वस्व समर्पित किया : विष्णुदत्त शर्मा
पेसा जागरूकता सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि भारतीय संस्कृति की रक्षा और देश की स्वतंत्रता के लिए जनजातीय महानायकों ने अपना सर्वस्व समर्पित कर दिया। राष्ट्र सेवा के लिए समर्पित उनका जीवन हम सभी के लिए प्रेरणादायी है। उनके सर्वोच्च बलिदान के लिए राष्ट्र सदैव उनका ऋणी रहेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केन्द्र एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश की भाजपा सरकार जनजातीय भाई-बहनों को उनका अधिकार दिलाने और उनके सम्मान के लिए दृढ़ संकल्पित है। केंद्र एवं प्रदेश सरकार की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से जनजातीय समाज को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 15 नवंबर को ’जनजातीय गौरव दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय कर जनजातीय समाज को सम्मानित करने का कार्य किया है।

दशकों तक राज करने वाली कांग्रेस ने जनजातीय समाज की सुध नहीं ली
श्री विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि कांग्रेस ने दशकों तक देश पर राज किया, लेकिन कभी जनजातीय समाज की सुध नहीं ली। श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने जनजातीय वर्ग के कल्याण के लिए विशेष मंत्रालय व जनजातीय आयोग का गठन कर, यह प्रमाण दिया कि भाजपा जनजातीय हितों के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि पेसा एक्ट अनुसूचित क्षेत्र में लागू होगा, जिससे गांव के निर्णय, गांव के लोग और ग्राम सभाएं करेंगी। उन्होंने कहा कि पेसा एक्ट को लेकर कांग्रेस भ्रम फैलाने की कोशिश कर रही है, लेकिन जनजातीय बंधु उनके बहकावे नहीं आने वाले।
सम्मेलन में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री नागरसिंह चौहान, प्रदेश महामंत्री श्री भगवानदास सबनानी, अजजा मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री व सांसद श्री गजेन्द्र पटेल, सांसद श्री सुमेर सिंह सोलंकी, धार सांसद श्री छतरसिंह दरबार, प्रदेश मंत्री श्री जयदीप पटेल, पूर्व मंत्री श्रीमती रंजना बघेल, अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री कलसिंह भाबर, श्री मुकामसिंह किराड़े सहित जनजातीय नेताओं ने कन्यापूजन, दीप प्रज्जवलन एवं जनजातीय नायकों के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *