Sunday, May 19

रायबरेली से राहुल गांधी, अमेठी से केएल शर्मा उम्मीदवार, कांग्रेस का ऐलान

Amethi-Raebareli Congress Candidate: उत्तर प्रदेश की रायबरेली और अमेठी सीट से कांग्रेस उम्मीदवारों को लेकर संशय शुक्रवार (3 मई, 2024) को खत्म हो गया. पार्टी ने रायबरेली सीट से राहुल गांधी को चुनावी मैदान में उतारा है. वहीं बीजेपी की उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ अमेठी से किशोरी लाल शर्मा को टिकट दिया गया है

कांग्रेस ने सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट कर लिखा, ”केंद्रीय चुनाव समिति’ की बैठक में लोकसभा चुनाव, 2024 के लिए राहुल गांधी को उत्तर प्रदेश के रायबरेली से और किशोरी लाल शर्मा को अमेठी से कांग्रेस उम्मीदवार घोषित किया गया है.”

‘केंद्रीय चुनाव समिति’ की बैठक में लोकसभा चुनाव, 2024 के लिए श्री @RahulGandhi को उत्तर प्रदेश के रायबरेली से और श्री किशोरी लाल शर्मा को अमेठी से कांग्रेस उम्मीदवार घोषित किया गया है।

नामांकन दाखिल करने के दौरान सोनिया गांधी रहेंगी मौजूद
नामांकन पत्र दाखिल करने के आखिरी दिन कांग्रेस ने अमेठी और रायबरेली सीट से उम्मीदवारों का ऐलान किया है. ऐसे में एबीपी न्यूज़ को सूत्रों ने बताया कि सोनिया गांधी अपने बेटे और कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ नामांकन के समय मौजूद रहेंगी. वहीं केएल शर्मा के नामांकन के दौरान उनके साथ सोनिया गांधी के प्रतिनिधि मौजूद रह सकते हैं.

अमेठी और रायबरेली गांधी परिवार के पारंपरिक क्षेत्र माने जाते हैं. ऐसे में राजनीतिक गलियारों में चर्चा शुरू हो गई कि आखिर किशोरी लाल शर्मा कौन हैं, जिन्हें कांग्रेस ने अमेठी से चुनावी मैदान में उतारा है.

किशोरी लाल शर्मा कौन हैं?
अमेठी सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी किशोरी लाल शर्मा की पहचान सोनिया गांधी के करीबी नेता के रूप में रही है. मूल रूप से पंजाब के लुधियाना के रहने वाले केएल शर्मा लंबे समय से रायबरेली में सोनिया गांधी के सांसद प्रतिनिधि के रूप में काम करते आए हैं.

करीब चार दशक से अमेठी-रायबरेली में संगठन का काम कर रहे केएल शर्मा को इन दो जिलों की एक–एक गली मालूम है और हर कांग्रेसी इन्हें जानता है. राजीव गांधी के जमाने में इन्हें सरकार के काम का प्रचार प्रसार करने यूपी भेजा गया और तब से यहां के ही होकर रह गए.

बीते पच्चीस सालों से अमेठी और रायबरेली में गांधी परिवार खास तौर पर सोनिया गांधी के नामांकन से लेकर प्रचार के कमान संभालते आए हैं. 2004 में जब राहुल गांधी ने पहली बार अमेठी से पर्चा भरा था तो केएल वहां मौजूद थे. अब बीस साल बाद उसी अमेठी से वो राहुल गांधी की जगह चुनाव लड़ने जा रहे हैं.

राहुल गांधी अमेठी तीन बार रहे हैं सांसद
राहुल गांधी 2004 से लगातार तीन बार अमेठी से सांसद रहे हैं, लेकिन वह 2019 में बीजेपी की नेता स्मृति ईरानी से चुनाव हार गए थे. राहुल गांधी वर्तमान में केरल के वायनाड से सांसद हैं और उन्होंने इस सीट पर 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी. इस बार भी राहुल गांधी वायनाड से चुनाव मैदान में हैं.

वहीं 2004 से 2024 तक रायबरेली निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व सोनिया गांधी ने किया, लेकिन इससे पहले सोनिया गांधी ने अमेठी सीट का प्रतिनिधित्व किया था और उन्होंने 1999 में पहली बार चुनाव लड़ा था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *