Friday, June 14

नागरिकों तक सफलतापूर्वक सेवाएं पहुंचाना ही सुशासन: कलेक्टर चंदन कुमार

सुशासन सप्ताह पर किया गया कार्यशाला का आयोजन

जगदलपुर, 23 दिसंबर 2022/
 सुशासन सप्ताह पर कुम्हरावंड स्थित शहीद गुण्डाधुर कृषि महाविद्यालय के सभागार में कार्यशाला का आयोजन किया गया। कलेक्टर श्री चंदन कुमार ने कहा कि नागरिकों तक सफलतापूर्वक सेवाएं पहुंचाना ही सुशासन है। इसलिए सुशासन सप्ताह का थीम प्रशासन गांव की ओर रखा गया है।

कलेक्टर ने कहा कि नागरिकों तक सेवाओं को पहुंचाने के लिए तंत्र का विकास किया गया है, जो प्रशासन है। नागरिकों की यह सेवाएं पहुंचाने के लिए हमें पारदर्शिता, संवेदनशीलता, तत्परता के साथ कार्य करने की आवश्यकता है। सेवाओं को नागरिकों तक पहुंचाने के लिए जिम्मेदारी और जवाबदेही के साथ कार्य करना आवश्यक है, वहीं त्वरित प्रतिक्रिया भी अत्यंत आवश्यक है।
कलेक्टर ने कहा कि हम सौभाग्यशाली हैं कि हम डिजीटल युग में कार्य कर रहे हैं। डिजीटलीकरण ने कार्य की गति को बढ़ाने के साथ ही इसकी निगरानी को भी बेहतर बनाया है। इसके माध्यम से शासन की योजनाओं को जमीनी स्तर तक पहुंचाने का कार्य आसानी से किया जा सकता है। प्रदान की गई सेवाओं की गुणवत्ता के संबंध में भी हितग्राही से प्रतिक्रिया ली जा रही है।
उन्होंने कहा कि ग्रामीण सचिवालय की व्यवस्था पूर्व में ही की गई थी, जो पूरी तरह भौतिक था। किन्तु अब इसमें डिजीटल माध्यम को भी जोड़ा गया है। इससे ग्रामीणों द्वारा किए गए आवेदनों पर की गई कार्यवाही पर आसानी से निगरानी रखी जा रही है। वहीं यह माध्यम प्रशासन और हितग्राही के मध्य संवाद भी स्थापित कर रहा है, जो सुशासन की एक आवश्यक कड़ी है। इसी तरह विद्याजतन के माध्यम से स्कूलों की निगरानी का कार्य डिजीटल माध्यम से किया जा रहा है। इसके माध्यम से स्कूल में शिक्षक और बच्चों की उपस्थिति, शाला में मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता, भवन, शौचालय, पेयजल और स्वच्छता की स्थिति का पता अब एक एप्प के माध्यम से आसानी से चल रहा है।
इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रकाश सर्वे ने कहा कि सुशासन की अवधारणा को धरातल में उतारने के कारण अब हितग्राहियों के कार्य ग्राम स्तर पर ही हो रहे हैं, जिससे उन्हें उच्च कार्यालयों तक आने की आवश्यकता नहीं रहती है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा इसके साथ ही अब मितान योजना भी प्रारंभ की गई है, जिसके माध्यम से लोगों को घरपहुंच सेवा उपलब्ध कराई जा रही है। अपर कलेक्टर श्री हरेश मंडावी ने भी इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर संयुक्त कलेक्टर सुश्री आस्था राजपूत, जगदलपुर अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्री नंदकुमार चौबे, बस्तर अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्री ओमप्रकाश वर्मा, तोकापाल अनुविभागीय दण्डाधिकारी श्री संजय विश्वकर्मा सहित ग्रामीण सचिवालय के नोडल अधिकारी  व शिक्षा विभाग के जिलास्तरीय, खण्ड स्तरीय और संकुल स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *