Thursday, June 20

सरकार अनुकंपा नियुक्ति की मांग को तत्काल स्वीकार करें-डॉ. ममता साहू

 

 

रायपुर- अखिल भारतीय साहू तैलिक महासभा राष्ट्रीय महिला अध्यक्ष एंव प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा उपाध्यक्ष डॉ. ममता साहू ने अनुकंपा नियुक्ति की मांग कर रहें विधवा महिलाओं कीं मांग को सरकार कों स्वीकार करने कहा क्योंकि 2017 से अनुकंपा की लड़ाई लड़ रहे हैं, इतनी ठंड में खुले में सो रहे हैं, उनके घर में जीवन यापन की बहुत बड़ी समस्या है , इन महिलाओं की हालत बहुत ही दयनीय और नाजुक है,योग्यतानुसार अनुकंपा नियुक्ति की मांग कर रहे हैं,लेकिन अब तक अनुकंपा नियुक्ति नहीं दी गई?
धरना स्थल पर धरना दे रहीं महिलाएं अनुकम्पा नियुक्ति की मांग कर रही हैं,ये वो महिलाएं हैं जिनके पति पंचायत स्तर के स्कूलों में पढ़ा रहे थे। किसी की हादसे में मौत हो गई तो किसी को बीमारी ने छीन लिया,अब इन महिलाओं का कहना है कि पति की जगह सरकारी नौकरी दी जाए। डॉ. ममता साहू ने कहा की पंचायत शिक्षकों की मौत के बाद परिवार के किसी भी सदस्य काे अब तक अनुकंपा नियुक्ति नहीं मिली है,कोई तीन साल से भटक रहा है तो कोई चार साल से।बल्कि सरकार द्वारा और इन विधवा महिलाओं कों प्रताड़ित किया जा रहा जो विचारणीय है अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी रायपुर के सील लगे नोटिस में प्रदर्शनकारियों को चेतावनी दी गई है कि उन्हें धरनास्थल खाली करना होगा,नहीं तो प्रशासन एकतरफा कार्रवाई करेगा इस तरह से विधवा महिलाओं कॊ प्रताड़ित करके सरकार उनको अपने अधिकारों से वंचित कर रहीं सरकार ने खुद चुनाव से पहले आंसू बहा कर वादा किया था तों उसे निभाना चाहियें। सरकार अगर इन महिलाओं को सरकारी नौकरी नहीं दे सकती है,तो जिला प्रशासन के अंतर्गत कई अन्य संस्थान हैं,वहां उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जाए,ये असहाय लोग हैं,इस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। इस तरह से एकतरफा जबरन धरना खत्म कराने का नोटिस देना गलत है।
क्योंकि प्रदेश के अलग-अलग जिलों से आई महिलाएं यहां प्रदर्शन कर रही हैं और रायपुर में 20 अक्टूबर 2022 से आंदोलन पर बैठी हैं तों इनका अधिकार छीनने का कार्य सरकार नहीं करें , विधवा महिलाओं का भी कहना है कीं उन्हें उनके योग्यतानुसार नियुक्ति करें लेकिन सरकार ने डीएड,बीएड का प्रावधान रखा है,लेकिन ऐसे अभ्यर्थियों को भी नियुक्ति नहीं दी जा रही है,जो कि डीएड,बीएड कर चुके हैं,इस तरह से सरकार असहाय विधवा महिलाओं कें साथ वादाखिलाफी कर रही है। केंद्र सरकार से हैं विनम्रता पूर्वक निवेदन है इन महिलाओं उनके परिवार के सदस्य को अनुकंपा नियुक्ति दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *